WBBSE Class 6 Science Solutions Chapter 2 हमारे चारों ओर परिव्याप्त घटनाओं का चक्र

Detailed explanations in West Bengal Board Class 6 Science Book Solutions Chapter 2 हमारे चारों ओर परिव्याप्त घटनाओं का चक्र offer valuable context and analysis.

WBBSE Class 6 Science Chapter 2 Question Answer – हमारे चारों ओर परिव्याप्त घटनाओं का चक्र

अति लघु उत्तरीय प्रश्नोत्तर (Very Short Answer Type) : 1 MARK

प्रश्न 1.
एक एकमुखी घटना का उदाहरण दें।
उत्तर :
चावल उबाल कर भात बनाना।

प्रश्न 2.
एक द्विमुखी घटना का उदाहरण दें।
उत्तर :
गर्मी के दिनों में सड़क पर बिछी पिच का गल जाना।

WBBSE Class 6 Science Solutions Chapter 2 हमारे चारों ओर परिव्याप्त घटनाओं का चक्र

प्रश्न 3.
तूफान आना, बाढ़ आना कैसी घटना है ?
उत्तर :
अपर्यावृत

प्रश्न 4.
जंगल में पशुओं की मृत्यु कैसी घटना है ?
उत्तर :
प्राकृतिक

प्रश्न 5.
खाना बनाने के लिए आग जलाना कैसी घटना है ?
उत्तर :
मानव निर्मित

प्रश्न 6.
असामाजिक लोगों द्वरा मृत्यु।
उत्तर :
अराजकता द्वारा

प्रश्न 7.
मेढक और पक्षी फसलों के नुकसानदायक कीड़े-मकौड़े को खा जाते हैं।
उत्तर :
कीड़े-मकोड़े मेढक और पक्षी के भोजन हैं।

प्रश्न 8.
गाड़ी से निकलने वाला घुआँ किस घटना श्रेणी में है?
उत्तर :
अनैच्छिक या अनभिप्रेत।

WBBSE Class 6 Science Solutions Chapter 2 हमारे चारों ओर परिव्याप्त घटनाओं का चक्र

प्रश्न 9.
प्यूपा से तितली होना द्रुत या मन्थर घटना है।
उत्तर :
मन्थर

प्रश्न 10.
एक भौतिक तथा रासायनिक परिवर्तन साथ-साथ होने की क्रिया बताओ।
उत्तर :
मोमबत्ती का जलना

संक्षिप्त प्रश्नोत्तर (Brief Answer Type) : 3 MARKS

प्रश्न 1.
एकमुखी क्या है ?
उत्तर :
वे घटनाएँ जो एक बार घटित होने के बाद उसे पुन: उसी स्वरूप में नहीं लाया जा सकता है उसे एकमुखी घटना कहते हैं। जैसे चावल से भात का बनना।

प्रश्न 2.
द्विमुखी क्या है ?
उत्तर :
वे घटनाएं जो एक बार घटित होने के बाद उसे पुन: उसी स्वरूप में लाया जा सकता है उसे द्विमुखी घटना कहते हैं। जैसे – बर्फ से जल तथा पुन: जल से बर्फ का बनना।

प्रश्न 3.
नीचे दी गई तालिका को पूरा करो ।
उत्तर :

कौन सी घटना देख रहे हो एकमुखी / द्विमुखी
(क) बर्फ का पिघलना i) द्विमुखी
(ख) पानी का वाष्प बनना ii) द्विमुखी
(ग) उद्भिज का बढ़ना iii) एकमुखी
(घ) वाष्पोत्सर्जन iv) द्विमुखी

प्रश्न 4.
पर्यावृत तथा अपर्यावृत किसे कहते हैं?
उत्तर :
किसी निर्दिष्ट समय पर घटना का पुन: होना पर्यावृत कहलाता है। जो घटना समय के नियम के अनुसार नहीं घटती है उसे अपर्यावृत कहते हैं।

उदाहरण :-

  • दिन-रात का होना पर्यावृत है।
  • बाढ़ आना, तूफान आना अपर्यावृत है।

WBBSE Class 6 Science Solutions Chapter 2 हमारे चारों ओर परिव्याप्त घटनाओं का चक्र

प्रश्न 5.
नीचे की तालिका को पूरा करें।
उत्तर :

कौन सी घटना हुई पहले की अवस्था में लाया जा सकता हैया नहीं?
(क) गर्मी के दिनों में सड़क पर बिछी पीच गल जाने पर पहली अवस्था में लाया जा सकता है।
(ख) चावल उबालकर भात बनाया गया पहली अवस्था में नहीं लाया जा सकता है।
(ग) खाना खाने के बाद हजम हो गया पहली अवस्था में नहीं लाया जा सकता है।
(घ) बर्फ को पिघलाकर पानी बनाया गया पहली अवस्था में लाया जा सकता है।
(ङ) कपूर को जलाया गया पहली अवस्था में नहीं लाया जा सकता है।

प्रश्न 6.
नीचे दी गई तालिका को पूरा करो।
उत्तर :

कौन सी घटना पर्यावृत या अपर्यावृत और क्यों?
i) सिलिंग फैन या टेबल फैन के ब्लेड का घूमना पर्यावृत, क्योंकि घूमना समय पर, निर्दिष्ट समय पर होता है।
ii) रास्ते में गाड़ी का आना-जाना अपर्यावृत, क्योंकि गाड़ी का आना-जाना समय पर निर्भर नहीं है।
iii) ज्वार भाटा पर्यावृत, क्योंकि यह निर्दिष्ट समय पर घटित होता है।
iv) साँप का केंचुली छोड़ना अपर्यावृत, क्योकि यह निर्दिष्ट समय पर नहीं होता है।
(v) सुनामी अपर्यावृत, क्योंकि इसके होने का समय निर्दिष्टि नहीं रहता है।
(vi) लीपईयर पर्यावृत, क्योंकि यह निर्दिष्ट समय पर घटित होता है।
(vii) समुद्र के जल की लहरें अपर्यावृत, क्योंकि इसके होने का समय निर्दिष्ट नहीं है
(viii) पेड़ के पत्ते टूटकर गिरना अपर्यावृत, क्योकि इस घटना का कोई निर्दिष्ट समय नहीं है।
(ix) स्कूल में विभिन्न विषयों से संबंधित पीरियड पर्यावृत, क्योंकि हरेक विषय का पीरियड होने का समय निर्दिष्ट है।
(x) आकाश में धूमकेतु का देखा जाना अपर्यावृत, क्योंकि धूमकेतु देखे जाने का समय तय नहीं होता।

प्रश्न 7.
नीचे की तालिका को पूरा करें।
उत्तर :

जिसको घटते हुए देखा ऐच्छिक / अनैच्छिक
(क) फूल का खिलना ऐच्छिक
(ख) पेड़ का बढ़ना ऐच्छिक
(ग) पेड़ का कटना अनैच्छिक
(घ) कूड़ा को फेंकना अनैच्छिक
(ङ) गाड़ी से धुआँ निकलना अनैच्छिक
(च) माइक का शोर करना अनैच्छिक

WBBSE Class 6 Science Solutions Chapter 2 हमारे चारों ओर परिव्याप्त घटनाओं का चक्र

प्रश्न 8.
प्राकृतिक घटना क्या है? इसका उदाहरण दें ।
उत्तर :
जो घटनाएं स्वाभाविक रूप या प्राकृतिक कारणों से घटित होती हैं उसे प्राकृतिक घटना कहते हैं। उदाहरण –

  • जंगल में आग लगना
  • मनुष्य की मृत्यु होना
  • बाढ़ का आना
  • भूकम्प होना
  • सुनामी

प्रश्न 9.
मानव निर्मित घटना क्या है? इसका उदाहरण दो।
उत्तर :
जो घटनाएं मानव के द्वारा किये गये क्रिया-कलाप द्वारा घटित होती है उसे मानव निर्मित घटना कहते हैं। ये घटनाएं प्रकृति को काफी नुकसान पहुँचाती हैं। उदाहरण :-

  • खाना पकाना ।
  • रोशनी करने के लिए या खाना बनाने के लिए आग जलाना ।
  • बाँध बनाना।
  • असामाजिक लोगों द्वारा मृत्यु ।
  • कीटनाशक दवा छिड़क कर कीड़े-मकोड़े को मारना ।

प्रश्न 10.
रासायनिक कीटनाशक कैसे हमारे शरीर तक पहुँच जाता है ?
उत्तर :
रासायनिक खाद तथा कीटनाशक मछली के शरीर में प्रवेश कर इसे विषैला बना देता है। जब हम मछली खाते है तब मछली के शरीर द्वारा विष हमारे शरीर के किडनी, मस्तिष्क, हृदय, फेफड़ा आदि में जमा हो जाता है।

प्रश्न 11.
बड़े टुकड़ों की तुलना में छोटे टुकड़ों का द्रवण आसानी से होता है, क्यों ?
उत्तर :
बड़े टुकड़े को यदि छोटे टुकड़ों में तोड़ दें तो उसका क्षेत्रफल बढ़ जाता है। इसी प्रकार साग-सब्जी को छोटेछोटे टुकड़ों में काटने पर टुकड़े का क्षेत्रफल बड़े टुकड़े से ज्यादा हो जाता है जिससे वह शीघ्र पक जाता है। इसके साथ भोजन को अच्छी तरह से चबाकर खाने पर भोजन नली में आसानी से पच जाता है। इसी प्रकार रासायनिक पदार्थ को पीसकर अथवा द्रवण तैयार करने पर रासायनिक क्रिया तेजी से होती है।

WBBSE Class 6 Science Solutions Chapter 2 हमारे चारों ओर परिव्याप्त घटनाओं का चक्र

प्रश्न 12.
नीचे दी गई तालिका को पूरा करो। क्या देखा?
उत्तर :

क्या देखा कौन द्रुत या मन्थर ?
a) प्यूपा से तितली होना मन्थर
b) टेडपॉल से टोड होना मन्थर
c) आम की मंजरी से आम होना मन्थर
d) उबलते हुए दूध में नींबू का रस मिलाने पर छेना का बनना दुत

प्रश्न 13.
बाथरूम साफ करने के लिए जिस एसिड को हम व्यवहार करते हैं उससे एक जल से युक्त द्रव्य तैयार करो। ध्यान रखो कि यह तुम्हारे शरीर, आँख पर न गिरे। इस द्रव का दो भाग करो और अलग-अलग काँच के ग्लास में रखो। एक ग्लास में मार्बल पत्थर डालो तथा दूसरे में कुछ पाउड़ डालो।
उत्तर :

किस ग्लास में क्या
देख पा रहे हो
ऐसा क्यों हो रहा है ?
ग्लास ‘A’ ग्लास ‘A’ में मार्बल पत्थर का टुकड़ा डाला गया, कुछ समय बाद धीरे- धीरे प्रतिक्रिया होती है और CO2 गैस निकलती है।
ग्लास ‘B’ ग्लास ‘B’ में पाउडर डाला गया, पाउडर का कुल क्षेत्रफल मार्बल पत्थर के टुकड़े से ज्यादा है जिससे प्रतिक्रिया द्रुत गति से होती है। CO2 गैस जल्दी निकलने लगता है।

प्रश्न 14.
भौतिक परिवर्तन क्या है ? इसके कुछ उदाहरण दो।
उत्तर :
वे परिवर्तन जो कुछ समय के लिए किसी बाह्य कारक द्वारा पूरा होता है तथा कारक को हटाकर पदार्थ को पुन: उसी रूप में लाया जा सकता है उसे भौतिक परिवर्तन कहते हैं। उदाहरण :-

  • मोमबत्ती का जलना।
  • प्लेटिनम के धातु को गर्म करना।
  • जल से वाष्प तथा वाष्प से जल का बनना।
  • बल्ब का जलना।
  • लोहे से चुम्बक बनना।

WBBSE Class 6 Science Solutions Chapter 2 हमारे चारों ओर परिव्याप्त घटनाओं का चक्र

प्रश्न 15.
रासायनिक परिवर्तन क्या है ? इसके कुछ उदाहरण दो।
उत्तर :
वे परिवर्तन जो पदार्थ की मूल अवस्था में परिवर्तन ला देता है और उसे पुन: पहले की स्थिति में नहीं लाया जा सकता है। इसे रासायनिक परिवर्तन कहते हैं। उदाहरण :-

  • लकड़ी जलाना
  • दूध से दही तैयार करना
  • काले बालों का पककर सादा होना
  • लोहे में जंग लगना
  • पेड़ के पत्तों का रंग बदलना
  • कपूर का उड़ जाना

प्रश्न 16.
भौतिक तथा रासायनिक परिवर्तन में अन्तर लिखें।
उत्तर :

भौतिक परिवर्तन रासायनिक परिवर्तन
i) इसमें पदार्थ स्वरूप नहीं बदलता i) इसमें पदार्थ का स्वरूप बदल जाता है।
ii) इसमें किसी नये पदार्थ का निर्माण नहीं होता। ii) इसमें नये पदार्थ का निर्माण होता है।
iii) इसमें पदार्थ का केवल भौतिक गुण कुछ समय के लिए बदल जाता है। iii) इसमें पदार्थ का रासायनिक गुण हमेशा के लिए बदल जाता है।
iv) इसमें पदार्थ को पुन: प्राप्त किया जा सकता है। iv) इसमें पदार्थ को पुन: प्राप्त नहीं किया जा सकता है।
v) भौतिक परिवर्तन उभयमुखी घटना है। v) रासायनिक परिवर्तन एकमुखी घटना है।

प्रश्न 17.
बैलगाड़ी के चक्के पर लोहे का छल्ला लगाने के लिए उसे गर्म किया जाता है, क्यों?
उत्तर :
लोहे के छल्ले का आकार बैलगाड़ी के चक्के की तुलना में छोटा होता है। लोहे के छल्ले को गर्म करने पर वह फैल कर बड़ा हो जाता है। बैलगाड़ी का चक्का उसमें फिट हो जाता है। ठंडा होने पर वह पहली वाली स्थिति में आ जाता है। यह एक भौतिक परिवर्तन का उदाहरण है।

प्रश्न 18.
रेलगाड़ी की पटरियों के बीच में कुछ जगह छोड़ी जाती है, क्यों?
उत्तर :
रेलगाड़ी की पटरियाँ लोहे की बनी होती हैं। गर्मी के दिनों में लोहे की पटरी गर्मी पाकर फैल जाती है। यदि उसे बढ़ने के लिए जगह न मिले तो वह टेढ़ा हो सकता है। इसलिए पहले से वहाँ पटरी के बीच फाँक छोड़ दी जाती है।

WBBSE Class 6 Science Solutions Chapter 2 हमारे चारों ओर परिव्याप्त घटनाओं का चक्र

प्रश्न 19
एक छोटा आलू लो और बीच में से काटकर उसके दो टुकड़े कर लो। उसके भीतर के हिस्से का रंग तुमने कैसा देखा। कुछ समय के लिए आलू को ऐसे रख दो आलू के भीतर वाले हिस्से का रंग बदल जाता है या एक जैसा ही है।
उत्तर :
WBBSE Class 6 Science Solutions Chapter 2 हमारे चारों ओर परिव्याप्त घटनाओं का चक्र 1

प्रश्न 20.
फलों को काटकर अधिक समय तक क्यों नहीं रखना चाहिए?
उत्तर :
कटे हुए फलों में जीवाणु रासायनिक परिवर्तन कर वंश की वृद्धि करते हैं। कटे फलों के हिस्से पर मक्खियाँ आकर बैठती हैं उससे कई बीमारियाँ हो सकती हैं। इसलिए कटे फलों को अधिक समय तक नहीं रखना चाहिए।

प्रश्न 21.
नीचे दी गई बीमारियाँ किस मौसम में होती हैं, सही स्थान पर भरो
उत्तर :
WBBSE Class 6 Science Solutions Chapter 2 हमारे चारों ओर परिव्याप्त घटनाओं का चक्र 2

प्रश्न 22.
नीचे दी गई तालिका को पूरा करो।
उत्तर :
WBBSE Class 6 Science Solutions Chapter 2 हमारे चारों ओर परिव्याप्त घटनाओं का चक्र 3

WBBSE Class 6 Science Solutions Chapter 2 हमारे चारों ओर परिव्याप्त घटनाओं का चक्र

प्रश्न 23.
नीचे दी गई तालिका को पूरा करो :
उत्तर :
WBBSE Class 6 Science Solutions Chapter 2 हमारे चारों ओर परिव्याप्त घटनाओं का चक्र 5

प्रश्न 24.
नीचे दिये गये चित्र में मानव अंगों के नाम लिखें।
उत्तर :
WBBSE Class 6 Science Solutions Chapter 2 हमारे चारों ओर परिव्याप्त घटनाओं का चक्र 6

बहुविकल्पीय प्रश्नोत्तर (Multiple Choice Question & Answer) : (1 Mark)

प्रश्न 1.
बर्फ का जल में बदलना क्या है ?
(a) एकमुखी
(b) द्विमुखी
(c) कोई नहीं
(d) दोनों
उत्तर :
(b) द्विमुखी

WBBSE Class 6 Science Solutions Chapter 2 हमारे चारों ओर परिव्याप्त घटनाओं का चक्र

प्रश्न 2.
मोमबत्ती का गलना तथा जमना क्या है ?
(a) एकमुखी
(b) दिमुखी
(c) कोई नहीं
(d) दोनों
उत्तर :
(b) दिमुखी ।

प्रश्न 3.
चावल उबालकर भात बनाना कौन सी घटना है ?
(a) द्विमुखी
(b) एकमुखी
(c) दोनों
(d) कोई नही
उत्तर :
(b) एकमुखी।

प्रश्न 4.
रास्ते में गाड़ी का आना-जाना कैसी क्रिया है?
(a) एकमुखी
(b) द्विमुखी
(c) पर्यावृत
(d) अर्यावृत
उत्तर :
(d) अपर्यावृत ।

प्रश्न 5.
लीप ईयर किस प्रकार की घटना है ?
(a) एकमुखी
(b) अप्यावृत
(c) पर्यावृत
(d) द्विमुखी
उत्तर :
(c) पर्यावृत।

प्रश्न 6.
भूकम्प किस प्रकार की घटना है?
(a) अप्यावृत
(b) प्रकृतिक
(c) मानव निर्मित
(d) द्विमुखी
उत्तर :
(b) प्राकृतिक ।

प्रश्न 7.
स्वाभाविक मृत्यु किस प्रकार की घटना है ?
(a) अपर्यावृत
(b) मानव निर्मित
(c) प्राकृतिक
(d) पर्यावृत
उत्तर :
(c) प्राकृतिक

प्रश्न 8.
कोयले के चूल्हे पर खाना बनाना कौन सी घटना है?
(a) प्रकृतिक
(b) ऐच्छिक
(c) मानव निर्मित
(d) अनैक्छिक
उत्तर :
(b) ऐं्छिक।

WBBSE Class 6 Science Solutions Chapter 2 हमारे चारों ओर परिव्याप्त घटनाओं का चक्र

प्रश्न 9.
मिथेलिन क्या है?
(a) खाब्ध
(b) कम्पोस्ट
(c) रासायनिक कौटनाशक
(d) कोई नहीं
उत्तर :
(c) रासायनिक कीटनाशक ।

प्रश्न 10.
लोहे से चुम्बक बनना कैसा परिवर्तन है?
(a) भौतिक परिवर्तन
(b) रासायनिक परिवर्तन
(c) दोनों
(d) कोई नहीं
उत्तर :
(a) भौतिक परिवर्तन ।

WBBSE Class 6 Science Solutions Chapter 2 हमारे चारों ओर परिव्याप्त घटनाओं का चक्र

प्रश्न 11.
कौन सा परिवर्तन स्थायी है?
(a) रासायनिक परिवर्तन
(b) भौतिक परिवर्तन
(c) कोई नहीं
(d) सभी
उत्तर :
(a) रासायनिक परिवर्तन

प्रश्न 12.
मोमबत्ती का जलना कौन सा परिवर्तन है ?
(a) रासायनिक परिवर्तन
(b) भौतिक परिवर्तन
(c) दोनों
(d) कोई नहीं
उत्तर :
(c) दोनों

प्रश्न 13.
आँख में जलन होना किस परिवर्तन के कारण होता है?
(a) रासायनिक परिवर्तन
(b) भौतिक परिवर्तन
(c) दोनों
(d) कोई नहीं
उत्तर :
(a) रासायनिक परिवर्तन

रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए (Fill in the blanks) : (1 Mark)

1. जो घटना एक बार होती है वह …………………. घटना है।
उत्तर : एकमुखी

2. अनाज से खाना बनाना एक …………………. घटना है।
उत्तर : एकमुखी

3. बर्फ से जल तथा जल से बर्फ बनना …………………. घटना है।
उत्तर : द्विमुखी

WBBSE Class 6 Science Solutions Chapter 2 हमारे चारों ओर परिव्याप्त घटनाओं का चक्र

4. …………………. घटना एक निर्दिष्ट समय पर घटती है।
उत्तर : पर्यावृत

5. लीपईयर एक …………………. घटना है।
उत्तर : पर्यायवृत

6. ज्वारभाटा …………………. घटना है जबकि बाढ़ आना …………………. घटना है।
उत्तर : पर्यावृत, अपर्यावृत

7. …………………. एक ऐच्छिक घटना है।
उत्तर : पेड़ काटना

8. फूल का खिलना …………………. घटना है।
उत्तर : अनैच्छिक

9. स्वाभाविक रूप से घटित घटना …………………. घटना है।
उत्तर : प्राकृतिक

10. पेड़ का बढ़ना …………………. क्रिया है।
उत्तर : द्रुत

11. लोहे में जंग लगना …………………. परिवर्तन है।
उत्तर : रासायनिक

WBBSE Class 6 Science Solutions Chapter 2 हमारे चारों ओर परिव्याप्त घटनाओं का चक्र

12. दूध से छेना का बनना …………………. परिवर्तन है।
उत्तर : द्रुत

13. पदार्थों को चूर्ण कर द्रव तैयार करने पर …………………. विक्रिया शीघ्र होती है।
उत्तर : रासायनिक

14. गेहूँ से आटा बनना …………………. परिवर्तन है।
उत्तर : एकमुखी भौतिक

15. जल से वाष्प बनना …………………. परिवर्तन है।
उत्तर : उभयमुखी भौतिक

16. रासायनिक परिवर्तन से …………………. उत्पत्र होता है।
उत्तर : ताप

17. पौधे भोजन तैयार करने के लिए …………………. शक्ति का प्रयोग करते हैं।
उत्तर : सूर्य ताप

18. पौधों द्वारा तैयार भोजन ………….. शक्ति …………… शक्ति में बदलकर आबद्ध रहता है।
उत्तर : ताप, रासायनिक

19. पौधों का भोजन तैयार करना ………….. परिवर्तन है।
उत्तर : रासायनिक

20. सामान्य खाने वाला नमक मिले जल से ऑक्सीजन हम पाते हैं। यह घटना इसलिए ………….. शक्ति के प्रमाण से ………….. परिवर्तन की घटना है।
उत्तर : ताप, रासायनिक

WBBSE Class 6 Science Solutions Chapter 2 हमारे चारों ओर परिव्याप्त घटनाओं का चक्र

21. तालाब या नदी से जल के वाष्प में ताप ………….. से मिलता है।
उत्तर : सूर्य

सही मिलान करो :

प्रश्न 1.

A B
(i) यूरिया a) रासायनिक कीटनाशक
(ii) कार्वारिल b) रासायनिक कीटनाशक
(iii) मेलाथियन c) रासायनिक खाद
(iv) डाइ अमोनियम फासफेट d) रासायनिक खाद

उत्तर :

A B
(i) यूरिया c) रासायनिक खाद
(ii) कार्वारिल a) रासायनिक कीटनाशक
(iii) मेलाथियन b) रासायनिक कीटनाशक
(iv) डाइ अमोनियम फासफेट d) रासायनिक खाद

WBBSE Class 6 Science Solutions Chapter 2 हमारे चारों ओर परिव्याप्त घटनाओं का चक्र

प्रश्न 2.

A B
(i) भूकम्प (a) एकमुखी
(ii) मुर्गी का अंडा देना (b) एकमुखी
(iii) ज्वार भाटा (c) ऐच्छिक
(iv) लीपईयर (d) अनैच्छिक
(v) खाना खाने के बाद (e) पर्यावृत
(vi) हजम होना (f) अपर्यावृत
(vii) सुनामी (g) अपर्यावृत

उत्तर :

A B
(i) भूकम्प (d) अनैच्छिक
(ii) मुर्गी का अंडा देना (e) पर्यावृत
(iii) ज्वार भाटा (f) अपर्यावृत
(iv) लीपईयर (c) ऐच्छिक
(v) खाना खाने के बाद (a) एकमुखी
(vi) हजम होना (g) अपर्यावृत
(vii) सुनामी (b) एकमुखी

 

 

 

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 4 भारतीय उपमहादेश के प्राचीन इतिहास की धारा (द्वितीय पर्याय (चरण) लगभग ईसा पूर्व 1500-6000 तक)

Detailed explanations in West Bengal Board Class 6 History Book Solutions Chapter 4 भारतीय उपमहादेश के प्राचीन इतिहास की धारा (द्वितीय पर्याय (चरण) लगभग ईसा पूर्व 1500-6000 तक) offer valuable context and analysis.

WBBSE Class 6 Geography Chapter 4 Question Answer – भारतीय उपमहादेश के प्राचीन इतिहास की धारा (द्वितीय पर्याय (चरण) लगभग ईसा पूर्व 1500-6000 तक)

अति लघु उत्तरीय प्रश्नोत्तर (Very Short Answer Type) : 1 MARK

प्रश्न 1.
विश्व की सबसे प्राचीन पुस्तक का नाम बताओ।
उत्तर :
ॠग्वेद।

प्रश्न 2.
आर्यों का मूल निवास स्थान कहाँ था?
उत्तर :
आर्यों का मूल निवास स्थान मध्य एशिया था।

प्रश्न 3.
वेद शब्द का अर्थ क्या है?
उत्तर :
वेद शब्द का अर्थ है ज्ञान ।

प्रश्न 4.
आर्य परिवार का प्रधान कौन होता था?
उत्तर :
पिता।

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 4 भारतीय उपमहादेश के प्राचीन इतिहास की धारा (द्वितीय पर्याय (चरण) लगभग ईसा पूर्व 1500-6000 तक)

प्रश्न 5.
आर्यों के साहित्य को क्या कहा जाता है?
उत्तर :
वैदिक साहित्य।

प्रश्न 6.
वैदिककालीन सिक्कों के क्या नाम थे?
उत्तर :
निष्क, शतमान।

प्रश्न 7.
ऋग्वेद में कितने सूक्त हैं ?
उत्तर :
1028 सूक्त हैं।

प्रश्न 8.
वेद का दूसरा नाम क्या है?
उत्तर :
वेद का दूसरा नाम श्रुति है।

प्रश्न 9.
वैदिक साहित्य को कितने भागों में बाँटा गया है?
उत्तर :
वैदिक साहित्य को दो भागों में बाँटा गया है – वेद तथा वेदांग।

प्रश्न 10.
वैदिक समाज की राजनैतिक सभाओं का नाम बताइए।
उत्तर :
सभा और समिति।

संक्षिप्त प्रश्नोत्तर (Brief Answer Type) : 3 MARKS

प्रश्न 1.
वेद को सुन-सुनकर याद रखना पड़ता था। इसके क्या कारण थे ?
उत्तर :
वैदिक साहित्य से ही उस युग की शिक्षा व्यवस्था के बारे में पता चलता है। शिक्षा व्यवस्था के प्रधान गुरु थे। मौखिक रूप से शिक्षा की बाते होती थी। गुरु एक भाग को पढ़कर उसके अर्थ को बता देते थे। छात्र उसे सुनकर उसकी आवृत्ति तथा याद करते थे। याद करने के लिए उच्चारण पर ज्यादा जोर दिया जाता था। वैदिक युग में किसी भी प्रकार की लिषि की खोज पुरातत्त्ववेताओं को नहीं मिला।

प्रश्न 2.
आर्य कौन थे ?
उत्तर :
विद्वानों का मानना है कि आर्य वैदिक सभ्यता के संस्थापक थे। आर्य शब्द का अर्थ होता है – श्रेष्ठ। ये स्वभाव से अध्ययनशील और पर्यटनशील होते थे। ये बहुत पराक्रमी, साहसी तथा युद्धप्रिय होते थे। इनका प्रमुख पेशा कृषि और पशुपालन था। आर्य प्रधानत: संस्कृत भाषा बोलते थे।

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 4 भारतीय उपमहादेश के प्राचीन इतिहास की धारा (द्वितीय पर्याय (चरण) लगभग ईसा पूर्व 1500-6000 तक)

प्रश्न 3.
आर्य कहाँ के मूल निवासी थे ?
उत्तर :
इस सम्बन्ध में अधिकांश इतिहासकारो एवं विचारकों का यह मानना है कि आर्य या इण्डो आर्य जो कि इण्डोयूरोपियनों के वंशज थे, भारत के मूल निवासी नहीं थे वरन्बंजारे थे और शुरू में ऑस्ट्रिया में और उत्तरी ईरानी पठार पर रहे जहाँ से वे हिन्दुकुश के दर्रों से होकर भारत में प्रवेश किये। उनके मूल निवास के सम्बन्ध में भी विचारों में मतभेद है। मध्य एशिया, दक्षिणी रूस, पामीर का पठार, ज़र्मनी, ऑस्ट्रिया-हंगरी और भारत ही विभिन्न विद्वानों द्वारा आर्यों के सम्भावित मूल स्थान के रूप में माना जाता रहा है। मैक्समूलर ने मध्य एशिया को आयों का मूल स्थान माना है। सर्वाधिक मान्य विचार यही है कि वे मध्य एशिया के विभिन्न भागों से आये थे।

प्रश्न 4.
वैदिक साहित्य का संक्षिप्त परिचय दीजिए।
उत्तर :
संस्कृत में विद् शब्द का अर्थ जानना या ज्ञान होता है। इस विद् शब्द से ही वेद शब्द की उत्पत्ति हुई है ।
वेद : मूल विभाग : वेदों को प्रमुख रूप से चार भागों में बाँटा गया है – ऋग्वेद, सामवेद, यजुर्वेद एव अथर्वेद। प्रत्येक के चार भाग हैं – संहिता, बाह्मण, अरण्यक, उपनिषद या वेदांत।
सूत्र साहित्य : वैदिक साहित्य के मूल तत्व को संक्षेप में तथा सही तरीके से समझने के लिए सूत्र साहित्य की रचना की गई है।
इसके दो भाग हैं – (i) वेदांग (ii) षड्दर्शन।
(i) वेदांग : वेद पाठ के लिए जिस छ: विद्या की जरूरत होती है, उसे वेदांग कहा गया है।
(ii) घड्दर्शन : ऋषि, मुनियों ने छ: दर्शन ग्रन्थों की रचना की जिन्हे षड्दर्शन कहते हैं।

प्रश्न 5.
वेदों पर संक्षिप्त टिप्पणी लिखिए ।
उत्तर :
वेद शब्द का अर्थ है ज्ञान । वेद आर्यों का प्रधान ग्रन्थ था। वेद का दूसरा नाम श्रुति भी है। वेदों की रचना2500ई० पू० के आसपास मानी जाती है। वेद चार हैं – ॠग्वेद, सामवेद, यजुर्वेद तथा अथर्वेद। ॠग्वेद संसार का सबसे प्राचीन धर्म ग्रन्थ माना जाता है। वेदों में मंत्रों का संग्रह है। इसलिए वेदों को संहिता भी कहा जाता है।

  1. ऋग्वेद में अग्नि, इन्द्र, वरुण इत्यादि देवताओं की स्तुति से सम्बन्धित मंत्रों का संग्रह है।
  2. सामवेद में ऋचाओं का संग्रह है।
  3. यजुर्वेद में यज्ञ सम्बन्धी सूत्रों का संग्रह है।
  4. अथर्वेद में तंत्र-मंत्र तथा चिकित्सा आदि की चर्चा है।

प्रश्न 6.
ऋग्वेद पर संक्षिप्त टिप्पणी लिखिए।
उत्तर :
ॠग्वेद संसार का सबसे प्राचीन ग्रन्य है। ऋग्वेद में अग्नि, इन्द्र, वरुण इत्यादि देवताओं की स्तुति से सम्बन्धित मंत्रों का संग्रह है। ॠग्वेद में कुल 1028 सूक्त हैं, प्रत्येक सूक्त स्तुति मंत्रों में विभक्त है, जिनकी कुल संख्या 10580 हैं। क्रेक दस खण्डों में विभक्त है। इसकी रचना 2500 ई० पू० से 1500 ई० पू० तक के मध्य में सप्त सिन्धु प्रदेश में हुई थी।

प्रश्न 7.
ऋग्वैदिक युग के चतुराश्रम का परिचय दीजिए :-
उत्तर :
वैदिक काल में आर्यों ने अपने जीवन को एक सौ वर्ष का मानकर उसे ब्रहाचर्य, गृहस्थ, वानप्रस्थ और संन्यास नामक चार आश्रमों में बाँट लिया था। इसे चतुराश्रम कहते हैं। प्रत्येक आश्रम के लिष्ट2 5 वर्ष का समय निश्चित किया गया था।

  1. ब्रह्मचर्य : बह्मचर्य आश्रम मे ब्रह्मचर्य व्रत का पालन करते हुए व्यक्ति गुरुकुल में जाकर विद्या अध्ययन करता था।
  2. गृहस्था आश्रम : गृहस्था आश्रम में व्यक्ति विवाह कर घर पर रहते हुए सांसारिक जिम्मेदारियाँ संभालता था।
  3. वानप्रस्थ : वान्रस्थ में घर पर ही रहकर गृहकार्यों से अलग होकर ईश्शर चिन्तन करता था।
  4. संन्यास आश्रम : संन्यास आश्रम में व्यक्ति घर छोड़कर जंगल में चला जाता था एवं वहीं पर ईश्वर चिन्तन करते हुए शरीर का त्याग करता था।

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 4 भारतीय उपमहादेश के प्राचीन इतिहास की धारा (द्वितीय पर्याय (चरण) लगभग ईसा पूर्व 1500-6000 तक)

प्रश्न 8.
वैदिक समाज को कितने भागों में बाँटा गया था तथा उनके प्रत्येक भाग के कार्यों का वर्णन कीजिए।
उत्तर :
समाज में एक ही व्यक्ति के लिए सभी प्रकार का कार्य करना संभव नहीं था। इस विषय को ध्यान में रखते हुए समाज को चार भागों में विभक्त किया गया था। ये भाग थे – (i) ब्राह्मण (ii) क्षत्रिय (iii) वैश्य (iv) शूद्र।
ब्राह्मण का काम शिक्षा देना तथा यज्ञ करना, क्षत्रीय का काम शासन करना एवं रक्षा करना था, वैश्य का काम कृषि एवं व्यापार करना और शूद्र का काम सेवा तथा सफाई करना था।

प्रश्न 9.
वैदिक काल में राजा बनने के लिए कौन-कौन तरीके थे ?
उत्तर :
वैदिक काल में एक राजा दूसरे राजाओं से युद्ध करके जीत कर राजा बनते थे तो कोई राजा के पुत्र केनाते उत्तराधिकार के रूप में राजा बनते थे। कभी-कभी तो समूह के सभी लोग मिलकर अपनों के बीच से एक राजा का चुनाव करते थे।

प्रश्न 10.
ऋग्वैदिक काल में ‘सभा’ और ‘समिति’ के क्या कार्य थे?
उत्तर :
राजा स्वेच्छाचारी न हो इसके लिए ‘सभा’ और ‘समिति’ नामक दो संस्थानों का गठन किया जाता था। समिति मे राज्य के प्रमुख सम्मानित पुरुष शामिल होते थे। समिति का प्रमुख कार्य राजा का चुनाव करना तथा कर्त्तव्य का पालन न करने पर उन्हें पद से अलग कर देने का था। विद्वानों एवं वयोवृद्ध लोगों को लेकर सभा का गठन होता था। सभा समिति से छोटी होती थी। सभा का मुख्य कार्य राजा को सलाह देना तथा न्याय करने में मदद करना होता था।

प्रश्न 11.
ॠग्वैदिक समाज में नारियों की क्या स्थिति थी?
उत्तर :
कग्वैदिक युग में ख्रियों को समाज में उच्च स्थान प्राप्त था। ये गृहस्वामिनी होती थें और धार्मिक कारों में अपने पति के साथ भाग लेती थीं। समाज में इनको आदर की दृष्टि से देखा जाता था। ॠग्वेद में कुछ विदुषी खियों का उल्लेख भी मिलता है। गार्गी, अपाला, घोषा तथा लोषामुप्रा इस काल की परम विदुषी खियाँ थीं। बाल विवाह तथा पर्दा प्रथा कमचलन न था। स्रियों को भी उचित शिक्षा द्वारा योग्य बनाया जाता था। स्रियों को सदैव किसी के संरक्षण में रहना पड़ता था।

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 4 भारतीय उपमहादेश के प्राचीन इतिहास की धारा (द्वितीय पर्याय (चरण) लगभग ईसा पूर्व 1500-6000 तक)

प्रश्न 12.
रामायण और महाभारत के बारे में क्या जानते हो?
उत्तर :
वेदों के बाद रामायण और महाभारत नामक दो महाकाव्यों की रचना हुई। रामायण की रचना महाकवि महार्षि वाल्मीकि ने की और महाभारत की रचना महर्षि वेद व्यास ने की। इन महाकाव्यों से वैदिक युग के बाद की राजनीतिक, सामाजिक और सांसारिक दशा का ज्ञान प्राप्त होता है।

प्रश्न 13.
ॠग्वैदिक युग में आर्यों के आर्थिक जीवन के बारे में क्या जानते हो ?
उत्तर :
आर्यों की आजीविका का प्रधान साधन कृषि था। बैलों के जोड़े की सहायता से खेतों की जुताई होती थी। गेहूँ एवं जौ उत्पादन की प्रमुख वस्तुएँ थीं। आर्य गाय, बैल, घोड़े, बकरी, कुत्ते, गदहे आदि पालते थे। आर्य व्यापार एवं उद्योग धंधों के प्रति उदासीन नहीं थे। व्यापार अधिकांशत: ‘वणिक’ के हाथों में था। गाय विनिमय की प्रमुख साधन थी। यद्यपि सोने का निष्क भी लेन-देन में प्रयोग होता था।
खेती, पशुपालन एवं व्यापार के अलावा कुछ उद्योग एवं कला-कौशल भी प्रचलित थे। बढ़ई, लोहार, सोनार और कुम्हार तरह-तरह के सामानों का निर्माण करते थे। इन वस्तुओं का निर्यात विदेशों में भी होता था।

प्रश्न 14.
परवर्ती वैदिक समाज में नारी की स्थिति कैसी हो गई?
उत्तर :
परवर्ती वैदिक समाज में नारी की मर्यादा एवं स्वाधीनता दोनों ही कम होने लगी थी। नारी को सम्पत्ति के अधिकार से वंचित किया जाने लगा। सामाजिक पाबंदियाँ बढ़ने लगीं। फिर भी युग की कुछ विदुषी महिलाएँ गार्गी, अपाला, घोषा आदि उच्च शिक्षा के क्षेत्र में अपनी उत्कृष्टता दिखाई थी।

प्रश्न 15.
वैदिक युग में गुरु और शिष्य के बीच कैसा सम्पर्क था?
उत्तर :
वैदिक युग में शिक्षा के क्षेत्र में गुरु और शिष्य के बीच का सम्पर्क बहुत ही मधुर था। गुरु वेद का एक अंश बोलकर उसका अर्थ शिष्य को समझा देते थे। शिष्य गुरु द्वारा समझाये गये अंश को पुनः पाठ करते एव याद रखते थे। शिक्षा के साथ-साथ शिष्य अनेक कार्य भी किया करते थे। शिष्यों के रहने एवं भोजन की जिम्मेदारी गुरु के ऊपर ही होती थी।

प्रश्न 16.
परवर्ती वैदिक समाज में वैश्य और शूद्रों की स्थिति कैसी थी?
उत्तर :
परवर्ती वैदिक समाज में वैश्य और शूद्रों की स्थिति धीरे-धीरे खराब होती गयी।परवर्ती वैदिक साहित्य में वैश्य को हेय (नीच) करके दिखाया गया। वर्ण व्यवस्था का सबसे खराब प्रभाव शूद्रों पर पड़ा था। उनके लिए किसी भी प्रकार की सामाजिक सुख-सुविधाएँ उपलब्ध नहीं थीं।

प्रश्न 17.
गोत्र से तुम क्या समझते हो?
उत्तर :
समूह में पालतू पशु को रखने की जगह को गोत्र कहा जाता था। बाद में इस गोत्र का मतलब पूर्वजों के उत्तराधिकारी के रूप में व्यक्त किया जाने लगा जाति-पाति, भेद-भाव प्रथा को कठोर बनाने के क्षेत्र में गोत्र की महत्वपूर्ण भूमिका होती थी।

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 4 भारतीय उपमहादेश के प्राचीन इतिहास की धारा (द्वितीय पर्याय (चरण) लगभग ईसा पूर्व 1500-6000 तक)

प्रश्न 18.
परवर्ती वैदिक युग में शिक्षा में क्या परिवर्तन हुए?
उत्तर :
परवर्ती वैदिक युग में शिक्षा के साथ उपनयन संस्कार देखा जाता था। उपनयन कार्यक्रम के जरिए गुरु उस छात्र को शिष्य के रूप में स्वीकार करता था। लड़कियों का भी उपनयन होता था। गुरु के पास रहकर ही छात्र शिक्षा ग्रहण करते थे। वहाँ पर शिक्षण के साथ-साथ दूसरे प्रकार के जीवन-यापन संबंधी कार्य भी शिष्यों से करवाए जाते थे। शिष्यों को रखने और खिलाने का दायित्व गुरु के ऊपर होता था।

प्रश्न 19.
आरुणी कौन था? वह किसका शिष्य था?
उत्तर :
प्राचीन समय में आयोद धौम नामक एक ऋषि थे। उनके तीन विख्यात शिष्य थे। उसमें आरुणी नाम का एक शिष्य था। वह बहुत ही आज्ञाकारी शिष्य था।
एक दिन जोरों की वर्षा हुई। आश्रम के पास धान का खेत था। गुरुजी ने खेत में पानी देखने के लिए आरुणी को भेजा और कहा कि यदि कहीं खेत में मेड़ से पानी निकल रहा हो तो उसे बाँध देना। आरुणी खेत पर पहुँचा। उसने देखा कि खेत में पानी लगा है। अब वह घूम-घूम कर देखने लगा कि कहीं मेड़ तो नहीं टूटी है। अचानक दिखाई पड़ा कि एक स्थान पर मेड़ टूटी हुई है और पानी तेजी से निकल रहा है। उसने बाँध को बाँधने का काफी प्रयास किया लेकिन इसके बावजूद खेत का सभी पानी उसी जगह से बाहर निकल रहा था। इसलिए उस पर बाँध बाँधने में काफी मुश्किल हो सकती थी।

वहीं दूसरी ओर गुरु के आदेश का पालन करने के लिए पानी को रोकना ही था। तब अन्त में आरुणी असहाय होकर बाँध के ऊपर ही सो गया। इस प्रकार अपने शरीर के द्वारा जल सोत को रोकने का प्रयास किया। आरुणी को जब खेत से लौटने में देर हुई तो गुरुजी उसकी तलाश करते हुए खेत के पास पहुँचे। गुरु की आवाज को सुनकर आरुणी बाँध से ऊपर उठ गया। गुरुजी आरुणी के मुख से सारी बातें सुनकर उसकी गुरु भक्ति से काफी प्रसन्न हुए। खेत के बाँध और केदार खण्ड को भेदकर आरुणी उठकर आया था। इसलिए महर्षि ने उनका नाम उद्दालक रखा। उद्दालक बाद में एक प्रसिद्ध गुरु हुए।

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 4 1

प्रश्न 20.
समावर्तन कार्यक्रम कब सम्पन्न होता था?
उत्तर :
साधारण तौर पर बारह वर्ष तक शिक्षा प्राप्त करने का कार्य चलता था। कुछ लोग तो जीवन भर छात्र बने रहते थे। ऐसे ही बारह वर्ष की पढ़ाई समाप्त अथवा पूरी होने पर समावर्तन कार्यक्रम होता था। इस कार्यक्रम के जरिए ही छात्र को स्नातक की उपाधि मिलती थी। पढ़ाई-लिखाई के अंत में छात्रों के विशेष स्नान करने की प्रथा थी। उससे ही स्नातक शब्द आया है। गुरु आश्रम छोड़कर जाने से पहले छात्र अपनी सामर्थ्य के अनुसार गुरु को गुरु दक्षिणा देते थे।

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 4 भारतीय उपमहादेश के प्राचीन इतिहास की धारा (द्वितीय पर्याय (चरण) लगभग ईसा पूर्व 1500-6000 तक)

प्रश्न 21.
वैदिक युग में शिक्षा पद्धति में किस विषय पर बहुत जोर दिया जाता था?
उत्तर :
वैदिक युग में वेद पाठ के जरिए ही शिक्षा प्रदान की जाती थी। उसके साथ गणित, व्याकरण और भाषा शिक्षण के ऊपर भी जोर दिया जाता था। स्वयं बहुत कुछ सीखना पड़ता था। छात्रों को स्वयं की रक्षा करने के लिए अस्र-शस्र चलाना भी सीखना पड़ता था। ऐसा कि ब्राह्मण भी अस्त्र-शस्र की शिक्षा ग्रहण करते थे। जैसे – महाराभारत में द्रोणाचार्य, कृपाचार्य और परशुराम के बारे में जानकारी मिलती हैं। छात्र चिकित्सा करना भी सीखते थे। लडुकियाँ दूसरे विषयों के साथ नृत्य और गीत की शिक्षा भी लिया करत करती थीं।

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 4 2

प्रश्न 22.
एकलव्य के बारे में क्या जानते हो? उल्लेख करो।
उत्तर :
हिरनधनु भीलों के राजा थे। उनका एकलौता पुत्र एकलव्य था। एकलव्य बहुत ही साहसी और परिश्रमी था। एकलव्य को तीर चलाना सीखने की इच्छा हुई। उसने सुना था कि गुरु द्रोणाचार्य सबसे बड़े अस्त्र शिक्षक थे। उसने द्रोणाचार्य से तीर चलाने की शिक्षा नहीं ली लेकिन गुरु-दक्षिणा के रूप में उसे अपना एक अंगूठा देना पड़ा।

प्रश्न 23.
एकलव्य अपने पिता हिरनधनु से द्रोणाचार्य के विषय में क्या जानना चाहता था?
उत्तर :
एकलव्य ने अपने पिता से द्रोणाचार्य के बारे में जानना चाहा कि गुरु द्रोणाचार्य केवल क्षत्रिय बालको को ही अखु शिक्षा देते हैं। भील बालक को वे किसी भी तरह से अपना शिष्य नहीं बनाएंगे। इस बाल को सुनकर एकलव्य ने कहा, मैं तो केवल आचार्य, द्रोणाचार्य से ही तीर चलाने की शिक्षा प्राप्त करूँगा।

प्रश्न 24.
एकलव्य ने द्रोणाचार्य से अपनी किस आशंका का निराकरण किया?
उत्तर :
द्रोणाचार्य की कुटिया में जाकर उन्हें प्रणाम करके अपना परिचय दिया। द्रोणाचार्य से कहा, मैं आपसे तीर चलाने की शिक्षा लेने आया हूँ। आप मुझे अपना शिष्य बना लीजिए। द्रोणाचार्य ने एकलव्य को समझाते हुए कहा- मैं तुम्हें अपना शिष्य नहीं बना सकता हूँ। मैं केवल क्षत्रिय को ही अस्र का शिक्षा देता हूँ और तुम भील पुत्र हो, इसलिए घर को लौट जाओ।

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 4 भारतीय उपमहादेश के प्राचीन इतिहास की धारा (द्वितीय पर्याय (चरण) लगभग ईसा पूर्व 1500-6000 तक)

प्रश्न 25.
एकलव्य किस प्रकार धनुष विद्या में पारंगत हुआ?
उत्तर :
एकलव्य द्रोणाचार्य की कुटिया से निकलकर घर की ओर नहीं लौटा। जंगल में जाकर वह मिट्टी से आचार्य द्रोण की मूर्ति बनायी और अकेले ही उस मूर्ति के समक्ष तीर चलाने का अभ्यास करने लगा। इसी तरह से कुछ दिनों के बाद वह वास्त्व में एक बहुत बड़ा धनुर्धारी बन गया। एक दिन द्रोणाचार्य की मूर्ति को सामने रखकर तीर चलाने का अभ्यास कर रहा था, तभी अचनाक एक कुत्ते की आवाज से उसका ध्यान भंग हो गया। लाचार होकर एकलव्य ने कुत्ते के मुँह को तीर से बन्द कर दिया।

उसी अवस्था में वह कुत्ता दौड़ते हुए कौरवों और पांडवों के राज कुमारों के पास गया। कुत्ते की अवस्था को देखकर वे समझ गए कि इस तरह से तीर मारना आश्वर्य की बात है। अर्जुन भी इस तरह से तीर नहीं चला सकता था। द्रोणाचार्य कुत्ते को देखकर आश्र्य चकित हो गए। वे मन ही मन उस धनुर्धरी की प्रशंसा करने लगे।

कुछ दूरी पर जाकर द्रोणाचार्य ने देखा कि एकलव्य तीर चलाने का अभ्यास कर रहा है। उन्होने एकलव्य से पूछा, तुम्हारा गुरु कौन है? एकलव्य ने कहा- आचार्य द्रोणाचार्य मेरे गुरु हैं। तब एकलव्य ने गुरु द्रोणाचार्य की मूर्ति को दिखाया। द्रोणाचार्य एकलव्य के परिश्रम और सीखने के अभ्यास को देखकर काफी प्रसत्न हुए। लेकिन उन्होंने अर्जुन को वचन दिया था कि वे उसे दुनिया का सबसे अच्छा धनुर्धारी बनाएँगे। लेकिन एकलव्य ने अर्जुन को भी पीछे छोड़ दिया था।

प्रश्न 26.
द्रोणाचार्य ने एकलव्य से गुरुदक्षिणा के रूप में क्या माँगा?
उत्तर :
एकलव्य से गुरुदक्षिणा के रूप में द्रोणाचार्य ने कहा, तब तो तुम मुझे अपनी दाहिने हाथ की अंगूठे को दे दो। एकलव्य ने तुरन्त ही अपने दाहिने हाथ के अंगूठे को काटकर गुरु द्रोणाचार्य को गुरु दक्षिणा के रूप में दे दिया।

प्रश्न 27.
मेगालीथ के बारे में क्या जानते हो?
उत्तर :
बड़े पत्थरों की समाधि को मेगालीथ कहा जाता है। प्राचीन भारत में लोहा का प्रयोग के साथ ही इस समाधि क सम्पर्क में जानकारी मिली है? विभिन्न क्षेत्रों के जनसमूह बड़े-बड़े पत्थरों को परिवार के मृत व्यक्तियों की समाधि को चिह्लित करते थे। बड़े पत्थरों से चिह्नित इस समाधि में विभिन्न प्रकार के आकृति देखने को मिलता था। कहीं आकाश की ओर देखती हुई बड़ी पत्थर तो कहीं वृत्ताकार सजाए हुए असंख्य पत्थर, तो कहीं पर अनेक पत्थरों से एक बड़े पत्थर को ढंका गया था। कहीं पर पहाड़ को काटकर बनाई गई गुफा के भीतर समाधि। इन सभी समाधियों से मनुष्य के कंकाल और उनके द्वारा प्रयोग की गई वस्तुएं मिली। कश्मीर के बुरजाहोम, राजस्थान के भरतपुर एवं इनामगाँव प्रसिद्ध मेगालीथ केन्द्र थे।

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 4 भारतीय उपमहादेश के प्राचीन इतिहास की धारा (द्वितीय पर्याय (चरण) लगभग ईसा पूर्व 1500-6000 तक)

प्रश्न 28.
वैदिक युग में किस दूसरे समाज का पता चला है? उनके बारे में क्या जानते हो?
उत्तर :
पूरे भारतीय उपमहादेश में वैदिक सभ्यता का विस्तार नहीं हुआ था। सिंधु और गंगा नदी के तटीय क्षेत्रों में हो वैदिक बस्तियाँ थी। पूर्व, उत्तर-पूर्व और दक्षिण भाग में वैदिक सभ्यता नहीं थी। उपमहादेश के दूसरे क्षेत्रों में इस समय दूसरे प्रकार की संस्कृति की खोज पुरातत्ववेत्ता को मिली। उन संस्कृतियों में मनुष्य लोहा और ताँबा का अस्र प्रयोग करते थे। काले और लाल रंग की मिट्टी के पात्र (बर्तन) का व्यवहार करते थे। मिट्टी से बने दूटे घर की खोज पुरातत्ववेत्ता को मिली। पश्चिम बंगाल के महिषादल में ऐसी ही संस्कृति की खोज मिली है। वहाँ पर ग्रामीण कृषि समाज के बारे में जानकारी मिलती है। वे मृतकों को समाधि देते थे। महाराष्ट्र के इनामगाँव में भी ऐसे ही समाज की खोज मिली है।

प्रश्न 29.
आर्यों द्वारा अपनी बस्ती के विस्तार किये जाने का उल्लेख करो।
उत्तर :
आर्यों के बस्ती विस्तार को लेकर इतिहासकारों में विभिन्न मत प्रचलित हैं –

  1. सप्त सिंधु क्षेत्र : आर्यों ने सबसे पहले सिंधु नदी के पूर्वी तट सप्त सिंधु क्षेत्र में अपनी बस्ती का निर्माण किया था।
  2. गंगा-यमुना का दोआब क्षेत्र : परवर्ती समय में आरों ने गंगा-यमुना के दोआब क्षेत्र में अपना निवास-स्थल बनाया था।
  3. पूर्वी भारत : ॠग्वेद के परवर्ती समय में आर्य सभ्यता सिंधु नदी को पीछे छोड़ते हुए पूर्व की तरफ अपने को विस्तृत किया था।
  4. दक्षिण भारत : परवर्ती युग के अंतिम भाग में दक्षिण भारत के उत्तर-पश्चिम भाग में आर्यो की सभ्यता का विकास हुआ था।

प्रश्न 30.
ऋग्वैदिक युग में आर्यों की सामाजिक अवस्था से तुम क्या समझते हो ?
उत्तर :
सामाजिक अवस्था :-

  1. परिवार प्रथा : ऋग्वैदिक युग का समाज पितृ तांत्रिक था। पितृ तांत्रिक परिवार को ऋग्वेद में ‘कुल’ कहा जाता था तथा परिवार के प्रधान पुरुष को कुलपति या गृहपति कहा जाता था। पिता ही परिवार का प्रधान होता था।
  2. समाज में नारी का स्थान : ऋग्वैदिक युग में नारी को बहुत सम्मान की दृष्टि से देखा जाता था। उस समय नारियाँ सामाजिक उत्सव, विद्याचर्चा एवं युद्ध में हिस्सा लेती थीं। नारियों को अपने जीवन साथी स्वयं चुनने का अधिकार था।
  3.  वर्ण भेद प्रथा : आर्य समाज को गुण और कार्य के आधार पर ब्राहण, क्षत्रिय, वैश्य एवं शूद्र इन-वार वर्णों में विभाजित किया गया था। ब्राह्मण का कार्य पूजा करना एवं शिक्षा देना, क्षत्रिय का युद्ध करना, वैश्य लोग व्यापार एवं शूद्रों का कर्तव्य शेष तीनों वर्गों के लोगों की सेवा करना था।

प्रश्न 31.
ब्राह्मण ग्रन्थ क्या है?
उत्तर :
बाह्मण ग्रन्थ गद्य रचनाएँ हैं। इनमें यज्ञ के समय में प्रयोग की जाने वाले नियमों का वर्णन मिलता है। चूँकि यज्ञ ब्राह्मण करवाते हैं तथा इन ग्रन्थों में उन्हीं को निर्देश दिये गये हैं अतः उन्हें ब्राह्मण ग्रन्थ कहा गया है ।

प्रश्न 32.
ॠग्वैदिक काल में राजा की क्या स्थिति थी?
उत्तर :
ऋग्वैदिक काल में राजा का पद वंशानुगत होता था। राजा राज्य का सर्वोच्च अधिकारी होता था लेकिन स्वेच्छाचारी नहीं होता था। प्रजा की रक्षा करना तथा शान्ति-व्यवस्था की स्थापना करना राजा का प्रमुख कार्य होता था।

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 4 भारतीय उपमहादेश के प्राचीन इतिहास की धारा (द्वितीय पर्याय (चरण) लगभग ईसा पूर्व 1500-6000 तक)

प्रश्न 33.
उत्तर वैदिक काल में किन लोगों ने कृषि के उत्पादन में वृद्धि की और किसने इसका उपयोग किया।
उत्तर :
i) उत्तर वैदिक काल में वैश्य और शूद्र जाति के लोगों ने परिश्रम करके कृषि के उत्पादन में वृद्धि की।
ii) ब्राह्मण एवं क्षत्रिय वर्ग के लोगों ने इसका उपयोग किया और आनन्द से जीवन व्यतीत किया।

प्रश्न 34.
संहिता क्या है ?
उत्तर :
वेदों को संहिता कहा जाता है। क्योंकि वेदों में मंत्रों का संग्रह किया गया है।

प्रश्न 35.
उपनिषद् क्या है? उन्हें वेदान्त क्यों कहा जाता है?
उत्तर :
i) उपनिषद् मूलत: दार्शनिक ग्रन्थ हैं। उपनिषद् शब्द का अर्थ ‘पास में बैठना’। इनमें जीव, आत्मा, परमात्मा, ब्रह्म कर्म इत्यादि की चर्चा की गई है। ये ज्ञान और दर्शन के भण्डार हैं।
ii) उपनिषद् वेद के अन्तिम भाग हैं। अत: इन्हे वेदान्त भी कहते हैं।

प्रश्न 36.
सूत्र क्या हैं ?
उत्तर :
जब वैदिक साहित्य का रूप बहुत बड़ा हो गया तब उसे याद रखना बहुत कठिन हो गया था। अत: विद्वान ने बड़े-बड़े भाव को छोटे-छोटे कथनों के रूप में संक्षिप्त रूप दे दिया। इसलिए इन्हें सूत्र कहा गया है।

प्रश्न 37.
परवर्ती वैदिक युग में शिक्षा में किस प्रकार का परिवर्तन देखने को मिलता है?
उत्तर :
इस युग में शिक्षा के साथ एक और भी चीज देखने को मिलती थी वह था उपनयन संस्कार। इस रिवाज के अनुसार गुरु छात्रों को अपने शिष्य के रूप में स्वीकार करते थे। लड़कियों के भी उपनयन के थोड़े-बहुत प्रमाण मिलते हैं। गुरुआश्रम में ही छात्र-छात्राओं के रहने की व्यवस्था होती थी एवं शिक्षा के साथ-साथ अन्य जीवन-यापन संबंधी कार्य करवाए जाते थे। शिष्यों के रहने, खाने एवं उनकी सुरक्षा का दायित्व गुरु के हाथों में होता था।

प्रश्न 38.
एकलव्य के विषय में आप क्या जानते हो?
उत्तर :
एकलव्य भीलों के राजा हिरनधनु का इकलौता पुत्र था। एकलव्य बचपन से ही बहुत साहसी और परिश्रमी था। एकलव्य अपने पिता से सुना था कि गुरु द्रोणाचार्य सबसे बड़े असु-शिक्षक हैं किन्तु वे सिर्फ राजकुमारों को ही धनुर्विद्या सिखाते हैं। एकलव्य को जब गुरु द्रोणाचार्य ने शिक्षा देने से इनकार कर दिया तो उसने उनकी प्रतिमा बनाई और उनको गुरु मानकर धनुष विद्या का अभ्यास करने लगा। लेकिन जब यह बात गुरु द्रोणाचार्य को मालूम हुई तो उन्होंने उससे गुरु दक्षिणा के रूप में एकलव्य का दाहिना अंगूठा ही माँग लिया जिसे एकलव्य ने सहर्ष स्वीकार करते हुए गुरु दक्षिणा के रूप में अपना दाहिना अंगूठा दे दिया।

बहुविकल्पीय प्रश्नोत्तर (Multiple Choice Question & Answer) : (1 Mark)

प्रश्न 1.
आदि वैदिक युग के इ्तिहास को जानने का प्रधान स्रोत है $i$
(क) जैन अवेस्ता
(ख) महाकाव्य
(ग) ऋग्वेद
(घ) इनमें से कोई नहीं
उत्तर :
(ग) ॠग्वेद

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 4 भारतीय उपमहादेश के प्राचीन इतिहास की धारा (द्वितीय पर्याय (चरण) लगभग ईसा पूर्व 1500-6000 तक)

प्रश्न 2.
मेगालीथ को भी कहा जाता है।
(क) पत्थर की गाड़ी
(ख) पत्थर की समाधि
(ग) पत्थर के खिलौन
(घ) इनमें से कोई नहीं
उत्तर :
(ख) पत्थर की समाधि

प्रश्न 3.
ॠग्वेद में राजा __________ थे।
(क) समूह के प्रधान
(ख) राज्य के प्रधान
(ग) समाज के प्रधान
(घ) देश का प्रधान
उत्तर :
(क) समूह प्रधान

प्रश्न 4.
वैदिक समाज में परिवार का प्रधान __________ होते थे।
(क) राजा
(ख) विशपति
(ग) पिता
(घ) माता
उत्तर :
(ग) पिता

प्रश्न 5.
दस राजा के युद्ध की कहानी __________ में है।
(क) क्रेद्वे
(ख) सामवेद
(ग) यजुर्वेद
(घ) इनमें से कोई नहीं
उत्तर :
(क) ऋग्वेद

प्रश्न 6.
वेदांग की संख्या __________ है ।
(क) तीन
(ख) छ:
(ग) नौ
(घ) चार
उत्तर :
(ख) छ:

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 4 भारतीय उपमहादेश के प्राचीन इतिहास की धारा (द्वितीय पर्याय (चरण) लगभग ईसा पूर्व 1500-6000 तक)

प्रश्न 7.
ऋग्वेद में __________ पर्वत का उल्लेख नहीं है।
(क) अरावली
(ख) हिमालय
(ग) विन्न्य
(घ) इनमें से कोई नहीं
उत्तर :
(ग) विन्थ्य

प्रश्न 8.
ऋग्वैदिक युग में __________ प्रमुख पालतू पशु था।
(क) हाथी
(ख) हिरण
(ग) घोड़ा
(घ) शेर
उत्तर :
(ग) घोड़ा

प्रश्न 9.
वैदिक साहित्य को सही तरीके से समझने के लिए __________ की रचना हुई थी।
(क) गीता
(ख) वेदांग
(ग) उपनिषद्
(घ) इनमें से कोई नहीं
उत्तर :
(ख) वेदांग

प्रश्न 10.
__________ शब्द का अर्थ संकलन करना है।
(क) बाह्मण
(ख) संहिता
(ग) आरण्यक
(घ) इनमें से कोई नहीं
उत्तर :
(ख) संहिता

प्रश्न 11.
________ को गीता की तरह गाया जाता है।
(क) सामवेद
(ख) यजुर्वेद
(ग) अथर्वेद
(घ) समवेद
उत्तर :
(ख) यजुर्वेद

प्रश्न 12.
विद् शब्द का अर्थ है।
(क) ज्ञान
(ख) बुद्धि
(ग) मेधा
(घ) इनेमें से कोई नहीं
उत्तर :
(क) ज्ञान

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 4 भारतीय उपमहादेश के प्राचीन इतिहास की धारा (द्वितीय पर्याय (चरण) लगभग ईसा पूर्व 1500-6000 तक)

प्रश्न 13.
इतिहासकारों का मत है कि __________ दिशा से आर्यों भारत में प्रवेश किया था ।
(क) उत्तर – पूर्व
(ख) उत्तर – पथिम
(ग) दक्षिण – पश्चिम
(घ) पूर्व – दक्षिण
उत्तर :
(ख) उत्तर – पश्चिम

रिक्त स्थानों की पूर्ति करो (Fill in the blanks) : (1 Mark)

1. ॠग्वेद _______ युग का इतिहास जानने का प्रमुख साधन है।
उत्तर : वैदिक।

2. आर्य भारत में __________ दिशा से प्रवेश किए थे।
उत्तर : पश्चिम।

3. पत्थर की समाधि के रूप में __________ को जानते हैं।
उत्तर : मोगलिथ।

4. विद् शब्द का प्रयोग __________ के लिए हुआ है।
उत्तर : ज्ञान।

5. __________ द्रोणाचार्य के श्रेष्ठ शिष्य थे।
उत्तर : अर्जुन।

6. हिरनधनु के पुत्र का नाम __________ था।
उत्तर : एकलव्य।

7. __________ इन्डो आर्य की भाषा है
उत्तर : ॠग्वेद।

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 4 भारतीय उपमहादेश के प्राचीन इतिहास की धारा (द्वितीय पर्याय (चरण) लगभग ईसा पूर्व 1500-6000 तक)

8. __________ में जादू-मंत्र का संकलन है।
उत्तर : अथर्वेद।

9. __________ आर्य के प्रधान पशु था
उत्तर : घोड़ा।

10. वृक्ष __________ देवता है
उत्तर : सोम

असमानता वाले शब्द को ढूंढकर लिखिए :-

  1. ॠग्वेद, महाकाव्य, सामवेद, अथर्वेद
  2. ब्राह्मण, क्षत्रीय, शूद्र, नृपति।
  3. इनामगाँव, हस्तिनापुर, कौशाम्बी, श्रावस्ती।
  4. उषा, अदिति, पृथ्वी, दुर्गा।
  5. रामायण, महाभारत, इलियड, अकबरनामा।
  6. ऋग्वेद, सामवेद, यजुर्वेद, ब्राह्मण।
  7. गंगा, यमुना, गोदावरी, मथुरा।

उत्तर :

  1. महाकाव्य
  2. नृपति
  3. इनामगाँव
  4. दुर्गा
  5. अकबरनामा
  6. ब्राह्मण
  7. मथुरा।

सही मिलान करो Match the following : (1 Mark)

प्रश्न 1.

स्तम्भ (क) स्तम्भ (ख)
(i) आयोद धौम के शिष्य (a) अरुणी
(ii) हिरन मुनि के पुत्र (b) पत्थर की समाधि के क्षेत्र
(iii) मेगालीथ (c) अर्जुन
(iv) द्रोणाचार्य के शिष्य (d) एकलव्य

उत्तर :

स्तम्भ (क) स्तम्भ (ख)
(i) आयोद धौम के शिष्य (a) अरुणी
(ii) हिरन मुनि के पुत्र (d) एकलव्य
(iii) मेगालीथ (b) पत्थर की समाधि के क्षेत्र
(iv) द्रोणाचार्य के शिष्य (c) अर्जुन

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 4 भारतीय उपमहादेश के प्राचीन इतिहास की धारा (द्वितीय पर्याय (चरण) लगभग ईसा पूर्व 1500-6000 तक)

प्रश्न 2.

स्तम्भ (क) स्तम्भ (ख)
(i) असंख्य कार्यो में सहायक (a) घोड़ा
(ii) आर्य के प्रधान पशु (b) रत्नीन
(iii) वैदिक युग की मुद्रा (c) गोत्र
(iv) पशुओं की बाड़ (d) निष्क

उत्तर :

स्तम्भ (क) स्तम्भ (ख)
(i) असंख्य कार्यो में सहायक (b) रत्नीन
(ii) आर्य के प्रधान पशु (a) घोड़ा
(iii) वैदिक युग की मुद्रा (d) निष्क
(iv) पशुओं की बाड़ (c) गोत्र

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 4 भारतीय उपमहादेश के प्राचीन इतिहास की धारा (द्वितीय पर्याय (चरण) लगभग ईसा पूर्व 1500-6000 तक)

प्रश्न 3.

स्तम्भ (क) स्तम्भ (ख)
(i) अर्जुन (a) छ:
(ii) एकलव्य (b) पिता
(iii) आरुणी (c) द्रोणाचार्य के श्रेष्ठ शिष्य
(iv) विद् (d) हिरनधनु के पुत्र
(v) वेदांग की संख्या (e) आयोदधौम के शिष्य
(vi) वैदिक समाज में परिवार के प्रधान (f) ज्ञान

उत्तर :

स्तम्भ (क) स्तम्भ (ख)
(i) अर्जुन (a) छ:
(ii) एकलव्य (b) पिता
(iii) आरुणी (c) द्रोणाचार्य के श्रेष्ठ शिष्य
(iv) विद् (d) हिरनधनु के पुत्र
(v) वेदांग की संख्या (e) आयोदधौम के शिष्य
(vi) वैदिक समाज में परिवार के प्रधान (f) ज्ञान

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 3 भारतीय उपमहादेश के प्राचीन इतिहास की धारा (प्रथम पर्याय : लगभग ईसा पूर्व 7000-1500)

Detailed explanations in West Bengal Board Class 6 History Book Solutions Chapter 3 भारतीय उपमहादेश के प्राचीन इतिहास की धारा (प्रथम पर्याय : लगभग ईसा पूर्व 7000-1500) offer valuable context and analysis.

WBBSE Class 6 Geography Chapter 3 Question Answer – भारतीय उपमहादेश के प्राचीन इतिहास की धारा (प्रथम पर्याय : लगभग ईसा पूर्व 7000-1500)

अति लघु उत्तरीय प्रश्नोत्तर (Very Short Answer Type) : 1 MARK

प्रश्न 1.
मेहरगढ़ सभ्यता का विकास कब हुआ था?
उत्तर :
6000 ई० पू॰ के आसपास।

प्रश्न 2.
विश्व की प्राचीनतम सभ्यता कौन-सी थी?
उत्तर :
मेहरगढ़ की सभ्यता।

प्रश्न 3.
मेहरगढ़ सभ्यता की खोज कब हुई थी?
उत्तर :
1974 ई० में।

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 3 भारतीय उपमहादेश के प्राचीन इतिहास की धारा (प्रथम पर्याय : लगभग ईसा पूर्व 7000-1500)

प्रश्न 4.
मेहरगढ़ सभ्यता की खोज किसने की थी?
उत्तर :
फ्रांसीसी पुरातत्वविद् जॉ फांसोया जारिज ने की थी।

प्रश्न 5.
मेहरगढ़ सभ्यता के लोग किस धातु से परिचित थे ?
उत्तर :
ताम्बा।

प्रश्न 6.
गोमाल घाटी के खुदाई से प्राप्त अवशेष कौन-कौन से थे?
उत्तर :
गोमाल घाटी की खुदाई में प्राप्त अवशेष मिट्टी के लिपे-पुते गड्दे, जानवरों की हड्डियाँ आदि थीं।

प्रश्न 7.
मेहरगढ़ की सभ्यता कितनी वर्ष पुरानी है?
उत्तर :
मेहरगढ़ की सभ्यता हड़प्पा सभ्यता से भी लगभग 4000 वर्ष पूर्व की सभ्यता है।

प्रश्न 8.
मेहरगढ़ की सभ्यता कैसी सभ्यता थी?
उत्तर :
ग्रामीण सभ्यता थी।

प्रश्न 9.
भारत की सबसे प्राचीनतम सभ्यता का नाम बताओ।
उत्तर :
सिन्धु घाटी की सभ्यता।

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 3 भारतीय उपमहादेश के प्राचीन इतिहास की धारा (प्रथम पर्याय : लगभग ईसा पूर्व 7000-1500)

प्रश्न 10.
सिन्धुघाटी सभ्यता की खोज कब हुई थी?
उत्तर :
सिन्धु घाटी सभ्यता की खोज 1922 ई० में हुई थी ।

प्रश्न 11.
सिन्धु घाटी सभ्यता की खोज किसके नेतृत्व में हुई?
उत्तर :
सर जॉन मार्शल के नेतृत्व में।

प्रश्न 12.
सिन्धु घाटी सभ्यता की खोज किसने की थी?
उत्तर :
सिन्धुघाटी सभ्यता की खोज राखालदास बनर्जी और दयाराम साहनी ने की।

प्रश्न 13.
हड़प्पा की खोज किसने की?
उत्तर :
हड़प्पा की खोज दयाराम साहनी ने की।

प्रश्न 14.
हड़प्पा कहाँ स्थित है?
उत्तर :
पंजाब के माण्टगोमरी जिले में (पाकिस्तान) स्थित है।

प्रश्न 15.
हड़प्पा सभ्यता का विकास कब हुआ?
उत्तर :
3500 ई० पू॰ से लेकर 1500 ई० पूर्व के बीच।

प्रश्न 16.
सिन्धु घाटी सभ्यता किस प्रकार की थी?
उत्तर :
नगरीय सभ्यता थी।

प्रश्न 17.
सिन्धु घाटी सभ्यता के लोग किसकी पूजा करते थे?
उत्तर :
पशुपति शिव तथा शक्ति की।

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 3 भारतीय उपमहादेश के प्राचीन इतिहास की धारा (प्रथम पर्याय : लगभग ईसा पूर्व 7000-1500)

प्रश्न 18.
सिन्धु घाटी की सभ्यता के लोग किस धातु का प्रयोग करते थे?
उत्तर :
ताम्बा एवं कांसा का।

प्रश्न 19.
सिन्धु घाटी सभ्यता में प्रयुक्त लिपि का नाम क्या था?
उत्तर :
सिन्धु लिपि या द्रविड़ लिपि।

प्रश्न 20.
उन पशुओं का नाम बताइए जिनकी आकृतियाँ सिन्धु घाटी की सभ्यताकी मोहरों पर खुदी हुई हैं?
उत्तर :
हाथी, बैल, भैस, बाघ, घड़ियाल, कुत्ता आदि।

प्रश्न 21.
सिन्धु सभ्यता का विनाश कैसे हुआ?
उत्तर :
मोहनजोदड़ो का विनाश प्राकृतिक प्रकोप (बाढ़, भूकम्प) से हुआ तथा हड़प्पा का विनाश आर्यो ने किया।

प्रश्न 22.
मेहरगढ़ सभ्यता के प्रमुख केन्द्र कौन-कौन थे?
उत्तर :
मेहरगढ़ सभ्यता के कुल 6 प्रमुख केन्द्र थे।

  1. अंजीरा
  2. कीली-गुल-मुहम्मद
  3. सियादामव
  4. बुरजाहोम
  5. सराईखोला
  6. गुमला

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 3 भारतीय उपमहादेश के प्राचीन इतिहास की धारा (प्रथम पर्याय : लगभग ईसा पूर्व 7000-1500)

प्रश्न 23.
मेहरगढ़ सभ्यता की कला के बारे में क्या जानते हो?
उत्तर :
मेहरगढ़ के निवासी अनेक प्रकार की कला में पारंगत होते थे। जैसे :-

  1. मृदाशिल्प कला :- यहाँ सभ्यता के द्वितीय भाग में लोग मिट्टी की तरह-तरह की वस्तुएँ तैयार करना जानते थे।
  2. धातुशिल्प कला :- सभ्यता के प्रथम एवं द्वितीय भाग में ताँबा आदि गलाकर अंगूठी, आभूषण, छुरी, बरछी आदि तैयार करने में भी वे निपूण थे।
  3. आभूषण कला :- सिर्फ ताँबा ही नहीं वरन ये लोग पत्थर को काटकर भी तरह-तरह के आभूषण बनाना जानते थे।
  4. बुनाई कला :- इस सभ्यता के लोग पशुओं के बाल एवं ऊन से तरह-तरह के कपड़ा बनना जानते थे।

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 3 भारतीय उपमहादेश के प्राचीन इतिहास की धारा (प्रथम पर्याय लगभग ईसा पूर्व 7000-1500) 1

प्रश्न 24.
हड़प्पा सभ्यता में नगरी जीवन कैसा था?
उत्तर :
इस सभ्यता के नगर जीवन का एक महत्वपूर्ण पहलू शौचागार एवं स्नानागार था जिससे पता चलता है कि नगर प्रायः स्वच्छ होते थे। इस सभ्यता में कुएँ कम देखने को मिले किन्तु शौचालय प्रत्येक घरों में मिला है। नाली की निकासी की पक्की व्यवस्था थी। मुख्य नाला को ढँका गया था। उन्नत नगर शासन की व्यवस्था का नमूना जल निकासी की व्यवस्था ही था।

संक्षिप्त प्रश्नोत्तर (Brief Answer Type) : 3 MARKS

प्रश्न 1.
मेहरगरढ़ सभ्यता की खोज के विषय में क्या जानते हो?
उत्तर :
फ्रांसींसी पुरातत्वविद् जॉ फ्रांसोया जारिज ने पाकिस्तान के पुरातत्व विभाग के प्रधान रिचार्ड मेडो को साथ लेकर बलूचिस्तान तथा उसके निकटवर्ती क्षेत्रों में खनन कार्य प्रारंभ किया था। उनके इस प्रयास के फलस्वरूप कच्ची समभूमि (बलूचिस्तान के पथ्चिम में सिन्धु नदी के तटवर्ती) क्षेत्र में मेहरगढ़ सभ्यता के अवशेष की खोज हुई।

प्रश्न 2.
मेहरगढ़ की सभ्यता का विकास कब और किस क्षेत्र में हुआ था?
उत्तर :
मेहरगढ़ की सभ्यता का विकास लगभग 7000 ई० पू॰ सिन्ध प्रदेश के उत्तर-पथ्थिम सीमान्त में स्थित बलूचिस्तान के सीबी जिले में बोलन नदी के किनारे हुआ था।

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 3 भारतीय उपमहादेश के प्राचीन इतिहास की धारा (प्रथम पर्याय : लगभग ईसा पूर्व 7000-1500)

प्रश्न 3.
मेहरगढ़ सभ्यता क्या है? इस सभ्यता के चिह्न कहाँ मिलते है?
उत्तर :
(i) मेहरगढ़ सभ्यता एक ग्रामीण सभ्यता थी।
(ii) इस सभ्यता के चिह्न सिन्धु घाटी, गोमाल घाटी, पंजाब, राजस्थान और हरियाणा आदि स्थानों पर मिलते हैं।

प्रश्न 4.
मेहरगढ़ सभ्यता के प्रमुख केन्द्रों का नाम बताओ।
उत्तर :

  1. बुरजाहीम
  2. सराईखोला
  3. गुमला
  4. कीली-गुल-मुहम्मद
  5. सियादामव एवं
  6. अजीर।

प्रश्न 5.
मेहरगढ़ सभ्यता की समय-सीमा का उल्लेख कीजिए :-
उत्तर :
पुरातत्ववेत्ता जॉ फ्रांसीसी जारिज ने मेहरगढ़ की सभ्यता को तीन चरणों में बाँटा है।
(i) प्रथम चरण – (i) 7000 ई० पू० से 6000 ई० पू०
(ii) दूसरा चरण – (iii) 5000 ई० पूर्व से 4000 ई॰ पूर्व
(iii) तीसरा चरण – (iii) 4300 ई० पू० से 3800 ई०पू०तक।

प्रश्न 6.
मेहरगढ़ सभ्यता के मकान कैसे होते थे?
उत्तर :
मेहरगढ़ सभ्यता के मकान में कच्ची ईंटों को धूप में सुखा कर प्रयोग किया जाता था। उन मकानों में एक से अधिक घर होते थे। कुछ इमारत साधारण घर से काफी बड़ी होती थी। पुरातत्वकार ऐसा अनुमान लगाते हैं कि उनमें खाद्य सुरक्षित रखा जाता था। उपमहादेश में सबसे पुराना खाद्य रखने का घर मेहरगढ़ में पाया गया है।

प्रश्न 7.
मेहरगढ़ निवासियों की जीविका कैसी थी?
उत्तर :
मेहरगढ़ निवासियों की जीविका के प्रधान साधन कृषि कार्य, पशुपालन, शिकार, व्यापार-वाणिज्य इत्यादि था।

  • कृषि कार्य : मेहरगढ़ निवासी उन्नत व्यवस्था के द्वारा जौ, गेहूँ, कपास, खजूर इत्यादि फसलों का उत्पादन करते थे।
  • पशुपालन : गाय, भेंड़, बकरी, भैंस इत्यादि को पालना ही मेहरगढ़ निवासियों का महत्वपूर्ण कार्य था।
  • शिकार : निकटवर्ती नदी एवं तालाब से मछली पकड़ना, जंगली जानवरों का शिकार करना मेहरगढ़ निवासियों की प्रधान जीविका थी।
  • व्यापार-वाणिज्य : मेहरगढ़ निवासी देश के अन्दर व्यापार के साथ बाहर के देशों के साथ भी वाणिज्य किया करते थे।

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 3 भारतीय उपमहादेश के प्राचीन इतिहास की धारा (प्रथम पर्याय : लगभग ईसा पूर्व 7000-1500)

प्रश्न 8.
मेहरगढ़ की सभ्यता के पतन के क्या कारण थे?
उत्तर :
मेहरगढ़ की सभ्यता के पतन के निम्नलिखित कारण थे।
प्राकृतिक आपदा : पुरातात्विक वैज्ञानिकों का मानना है कि मेहरगढ़ सभ्यता का पतन बाढ़ या भूकम्प का आना था।
जलवायु में परिवर्त्तन : बहुत दिनों तक वर्षा न होने के कारण सम्पूर्ण क्षेत्र रेगिस्तान (मरूभूमि) में बदलने से मेहरगढ़ निवासी दूसरी जगह चले गये। जिसके कारण यह क्षेत्र क्रमशः जनहीन होने लगा तथा खंडहर में बदल गया।
WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 3 भारतीय उपमहादेश के प्राचीन इतिहास की धारा (प्रथम पर्याय लगभग ईसा पूर्व 7000-1500) 2
निवास भूमि का परिवर्तन : मेहरगढ़ निवासी उन्नत जीवन-यापन व निश्चित भोजन की खोज में हड़प्पा, मोहनजोदड़ो की तरफ बढ़ने लगे तथा उसी स्थान पर रहना आरंभ किया, ऐसा अनुमान लगाया जाता है।

प्रश्न 9.
हड़प्पा एवं मोहनजोदड़ो की खोज किसने की थी ?
उत्तर :
सिन्धु घाटी की सभ्यता पूर्णत: विकसित एवं नगरीय सभ्यता थी। 1921-22 की खुदाइयों के परिणामस्वरूप हड़प्पा और मोहनजोदड़ो की खोज में महत्वपूर्ण भूमिका जॉन मार्शल, राखालदास बनर्जी एवं दयाराम साहनी की रही। राखालदास बनर्जी ने सिन्ध के लरकाना जिले में मोहनजोदड़ो एवं दयाराम साहनी ने पंजाब के मांटगोमरी जिले में हड़प्पा की खोज की थी।

प्रश्न 10.
सिन्धु घाटी की सभ्यता को हड़प्पा की सभ्यता क्यों कहा जाता है?
उत्तर :
सिन्धु घाटी की सभ्यता सिन्धु घाटी के बाहरी क्षेत्रों में भी फैली थी और हड़प्पा इस सभ्यता का प्रमुख केन्द्र था, इसलिए विद्वानों ने इस सभ्यता को हड़प्पा की सभ्यता कहा।

प्रश्न 11.
हड़प्पा सभ्यता की नगर योजना का संक्षिप्त विवरण दीजिए।
उत्तर :
हड़प्पा, मोहनजोदड़ो, कालिबंगाल, चानूहोदड़ो, बनाउयाली लोथाल, सुरकोटाडा, डोलबिया कुनेतासी इत्यादि स्थानों पर योजनाकृत नगर के ध्वंसावशेष पाये गये थे।

  1. नगर : नगर क्षेत्र को दो भागों में बाँटा गया था। (क) पूर्वी क्षेत्र का निम्न क्षेत्र (ख) पथ्चिम के ऊंचे दुर्ग का क्षेत्र।
  2. मकान : हड़प्पा सभ्यता में मकान पक्की ईंटों के बने होते थे। हड़प्पा सभ्यता में एक तरफ दो मंजिला मकान था तो दूसरी तरफ छोटे-छोटे मकान भी पाये गये हैं।
  3. रास्ते : हड़प्पा सभ्यता के रास्ते 9 से 34 फुट चौड़े होते थे। ये रास्ते नगर के बीचों-बीच उत्तर-दक्षिण, पूर्व-पश्चिम समान रूप से विस्तृत होते थे।
  4. निकासी व्यवस्था : हड़प्पा सभ्यता के अन्तर्गत राजमार्ग के दोनों तरफ ढंकी हुई नाली की व्यवस्था की गयी थी।

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 3 भारतीय उपमहादेश के प्राचीन इतिहास की धारा (प्रथम पर्याय : लगभग ईसा पूर्व 7000-1500)

प्रश्न 12.
हड़प्पा सभ्यता के स्नानागार के विषय में तुम क्या जानते हो?
उत्तर :
हड़प्पा सभ्यता के अवशेषों में मोहनजोदड़ो से प्राप्त विशाल स्नानागार विशेष रूप से उल्लेखनीय हैं। इसकी लम्बाई 54 मी०, चौड़ाई 30 मीटर तथा बाहरी दीवारों की मोटाई 3 मीटर है।
आँगन के मध्य में 11.88 मीटर लम्बा, 7.01 मीटर चौड़ा और 2.43 मीटर गहरा एक स्नानागार है जिसमें जल की सतह तक सीढ़ियाँ हैं। चारों ओर बरामदे, गैलरियाँ और कमरे हैं। इसके समीप ही कुण्ड में जल भरने के लिए एक कुआँ बना हुआ था। स्री और पुरुष दोनों के नहाने के लिए अलग-अलग घाट बने हुए थे।

प्रश्न 13.
सिन्धु घाटी सभ्यता के निवासियों के सामाजिक जीवन का वर्णन कीजिए ।
उत्तर :
सिन्धु घाटी का समाज मुख्यत: चार वर्गों में बंटा हुआ था – (i) शासक वर्ग (ii) योद्ध-वर्ग, (iii) व्यापारी और शिल्पी वर्ग (iv) श्रमिक एवं दासवर्ग। सिन्धु घटटी के लोग भेड़, बकड़ी, मछली, अण्डा, गेहूँ, जौ, शाक-सब्जियाँ आदि खाते थे। पुरुष एवं स्रियों के पोशाक सामान्यतः एक सी ही थी। वस्रों में ऊनी तथा सूती दोनों का प्रयोग होता था। ख्रीपुरुष दोनों ही आभूषण धारण करते थे। हार, अंगूठी एवं कंगन स्त्री-पुरुष दोनों ही धररण किया करते थे। सिन्धु घाटी के लोग नृत्य, गायन, आखेट, नौका दौड़, शतरंज-पासा आदि के द्वारा अपना मनोरंजन करते थे। शव, के अन्तिम संस्कार में जलाना एवं दफनाना दोनों ही प्रकार के तरीके प्रचलित थे।

प्रश्न 14.
सिन्धु घाटी सभ्यता के आर्थिक जीवन का वर्णन कीजिए :-
उत्तर :
सिन्धु घाटी की सभ्यता के लोगों का मुख्य व्यवसाय कृषि एवं पशुपालन था। वे लोग गेहूँ, जौ, कपास, खजूर आदि की खेती करते थे। गाय, बैल, भैंस, सूअर, बकरी, कुत्ता आदि उनके पालतू पशु थे। कृषि एवं पशुपालन के अतिरिक्त अन्य लघु उद्योग एवं व्यवसाय भी प्रचलित थे जिसमें बढ़ई, जुलाहा, कुम्हार, सुनार आदि थे। सिन्धु घाटी की सभ्यता के दौरान व्यापार उपमहाद्वीप के उत्तरी तथा दक्षिणी क्षेत्रों के अतिरिक्त मेसोपोटामिया, मिस्स, सुमेरिया, अफगानिस्तान तथा फारस की खाड़ी से भी जल एवं स्थल दोनों ही माध्यम से होता था।

प्रश्न 15.
हड़प्पा सभ्यता के धार्मिक जीवन के विषय में क्या जानते हो?
उत्तर :
सिंधु नदी के किनारे किसी देवालय की खोज नहीं हुई थी लेकिन यहाँ विभिन्न प्रकार के देवी-देवताओं की मूर्तियाँ मिली हैं।
मातुपूजा की अधिकता : हड़प्पा सभ्यता से प्राप्त असंख्य नारी मूर्तियों को देखकर यह अनुमान लगाया जाता है कि यहाँ मातृ देवी की पूजा अधिक की जाती थी।
शिव की मूर्ति : हड़प्पा सभ्यता में पशुपति या शिव की तरह की मूर्ति पाई गई है। अत: यह अनुमान लगाया जाता है कि वे शिव मूर्ति की पूजा भी किया करते थे।
परलोक में विश्वास : हड़प्पा के विभिन्न स्थानों पर मनुष्यों की कब्र पाई गई हैं। कब्र देने की रीति को देखते हुए यह अनुमान लगाया जाता है कि हड़प्यावासी परलोक में विभास करते थे।

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 3 भारतीय उपमहादेश के प्राचीन इतिहास की धारा (प्रथम पर्याय : लगभग ईसा पूर्व 7000-1500)

प्रश्न 16.
हड़प्पा सभ्यता में व्यापार-वाणिज्य कैसा था?
उत्तर :
हड़प्पा सभ्यता में देश के अन्दर एवं देश के बाहर भी व्यापार-वाणिज्य हुआ करता था।
आन्तरिक व्यापार : हड़प्पा सभ्यता के अन्तर्गत लोथक रोपड़ कोटदिजी इत्यादि केन्द्रों के साथ व्यापारिक लेनदेन होता था।
बाहरी व्यापार : बाहरी व्यापार के अन्तर्गत हड़पा सभ्यता के निवासियों के साथ पश्चिम एशिया, बलूचिस्तान, मेसोपोटामिया, मिस्र, फारस, अफगानिस्तान इत्यादि देशों का व्यापारिक सम्पर्क स्थापित था।
आयात-निर्यात की वस्तुएँ : हड़प्पा सभ्यता में सोना, चाँदी, ताम्र, मूल्यवान पत्थर, हांथी दाँत से बनी वस्तुएँ आयात की जाती थी। जौ, मैदा, कपड़ा इत्यादि निर्यात किए जाते थे ।
व्यापारिक मार्ग : हड़प्पा सभ्यता का व्यापार बाहरी देशों के साथ नदी मार्ग से जुड़ा हुआ था। दूसरी तरफ स्थल मार्ग के द्वारा मैसूर, गुजरात, कश्मीर इत्यादि स्थानों में देश का व्यापार चलता था।

प्रश्न 17.
हड़प्पा सभ्यता के पतन के क्या कारण थे ?
उत्तर :
हड़प्पा और मोहनजोदड़ो के पतन के निम्न कारण बताये जाते हैं :-
प्राकृतिक आपदा :- इतिहासकारों का अनुमान है कि मोहनजोदड़ो का विनाश प्राकृतिक आपदा जैसे – बाढ़, भूकम्प से हुआ और हड़प्पा का विनाश बाहरी शत्रु (आर्यो) के आक्रमण से हुआ।
सिन्धु नदी का पथ परिवर्तन :- सिन्धु नदी द्वारा अपना मार्ग परिवर्तन करने के कारण व्यापार एवं कृषि व्यवस्था क्षतिग्रस्त हो गई थी। आर्थिक अवस्था खराब होने के कारण हड़प्पावासी इस क्षेत्र को छोड़कर भारत उपमहादेश के दक्षिणी भाग कावेरी, नर्मदा, गोदावरी, कृष्णा आदि नदियों के बेसिन में बसकर द्रविड़ सभ्यता का विकास कर लिए।

प्रश्न 18.
मेहरगढ़ सभ्यता की कुछ विशेषताओं का उल्लेख करो।
उत्तर :
मेहरगढ़ सभ्यता की विशेषताएँ निम्नलिखित हैं –
नव प्रस्तर युग की सभ्यता : भारत में नव प्रस्तर युग की सूचना लगभग ई० पूर्व 8000 वर्ष पहले हुई थी। तीन भागों में विभक्त मेहरगढ़ सभ्यता की समय सीमाई० पूर्व 7000 से ई० पूर्व 3800 तक थी। इसीलिए इतिहासकारों ने साधारण रूप में मेहरगढ़ सभ्यता को नव प्रस्तर युग की सभ्यता कहा है।

प्रागैतिहासिक सभ्यता : जिस प्राचीन सभ्यता में कोई लिखित विवरण नहीं पाया जाता बल्कि केवल मात्र पुरातात्विक अवशेषों के ऊपर निर्भर रह करके ही सभ्यता के विषय में जानकारी प्राप्त की जाती है, उसी सभ्यता को प्रागैतिहासिक सभ्यता कहा जाता है। मेहरगढ़ में विभिन्न पुरातात्विक अवशेषों के आधार पर ही सभ्यता का अध्ययन चरणबद्ध तरीके से किया गया है। अत: मेहरगढ़ सभ्यता को प्रागैतिहासिक सभ्यता कहा गया है।

प्रश्न 19.
मेहरगढ़ सभ्यता की कला से तुम क्या समझते हो?
उत्तर :
मेहरगढ़ सभ्यता के निवासी विभिन्न प्रकार की कला में पारंगत हुआ करते थे। वे निम्न कलाओं के ज्ञाता थे :

  1. मृदाशिल्प कला : मेहरगढ़ सभ्यता के लोगों ने द्वितीय भाग में मिट्टी की तरह-तरह की वस्तुएँ तैयार करना शुरू किया था।
  2. धातुशिल्प कला : मेहरगढ़ सभ्यता के प्रथम एवं द्वितीय भाग में तांबा गलाकर अंगूठी, छुरी, बरछी सह विभिन्न प्रकार के वस्तु तैयार करते थे।
  3. आभूषण कला : मेहरगढ़ वासी पत्थर को काटकर आभूषण बनाने की कला से परिचित थे तथा इसका प्रयोग भी करते थे।
  4. बुनाई कला : मेहरगढ़ सभ्यता के निवासी पशु के बाल एवं ऊन से कपड़े बनाने की कला को जानते थे।

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 3 भारतीय उपमहादेश के प्राचीन इतिहास की धारा (प्रथम पर्याय : लगभग ईसा पूर्व 7000-1500)

प्रश्न 20.
सिन्धु लिपि के विषय में आप क्या जानते हैं ?
उत्तर :
सिन्धु सभ्यता की लिषि एक चित्रात्मक लिपि थी। यह लिपि सुमेर, मिस्र और चीन की लिपियों से मिलती-जुलती थी। इस काल की अनेक मुहरें लिपियुक्त पाई गयी हैं, इनमें कुल 400 चिह्न हैं।

प्रश्न 21.
सिन्धु घाटी सभ्यता के निर्माता के बारे में आप क्या जानते हैं?
उत्तर :
सिन्धु घाटी सभ्यता के निर्माता के सम्बन्ध में इतिहासकारों में मतभेद है। सिन्धु घाटी की सभ्यता में भूमध्यसागरीय आष्टेलायन, अल्पाइन के अस्थिपंजर प्राप्त हुए हैं। इनमें आष्टेलायन वर्ग के अस्थिपंजर की अधिकता है। इसी के आधार पर विद्वान लोग सिन्धु-सभ्यता के निर्माताओं को द्रविड़ मानते हैं।

प्रश्न 22.
आर्य सभ्यता किसे कहते हैं?
उत्तर :
विद्वानों का मानना है कि सिन्धु घाटी की सभ्यता के पतन के बाद भारत में एक महान सभ्यता का विकास हुआ। इस सभ्यता के संस्थापक ‘आर्य’ थे। अतः इस सभ्यता को आर्य सभ्यता कहा जाता है।

प्रश्न 23.
आर्य सभ्यता को वैदिक सभ्यता क्यों कहते हैं?
उत्तर :
आर्यों की सभ्यता वैदिक साहित्य की रचना करने वाले मनीषियों द्वारा निर्दिष्ट नियमों के अनुसार विकसित हुई थी। इसी कारण आर्य सभ्यता को वैदिक सभ्यता भी कहते हैं।

प्रश्न 24.
मेहरगढ़ की समाधि के बारे में आप क्या जानते हैं?
उत्तर :
मेहरगढ़ सभ्यता की महत्वपूर्ण विशेषता समाधि स्थल है। समाधि में मृतदेह को सीधा अथवा घुमाकर सुला दिया जाता था। मृतक के साथ विभिन्न प्रकार की वस्तु दी जाती थी जैसे : शंख अथवा पत्थर का गहना, कुदुल इत्यादि। इसके अलावा समाधि में विभिन्न प्रकार के पालतू पशुओं को भी दिया जाता था। समाधि में बहुमूल्य पत्थर भी मिले हैं। मृतको को लाल कपड़े में लपेटकर एवं लाल रंग लगाकर समाधि में दिया जाता था।

प्रश्न 25.
भारतीय उपमहादेश हड़प्पा को प्रथम नगरायण क्यों कहा जाता है?
उत्तर :
भारतीय उपमहादेश में हड़प्पा में ही प्रथम नगर तैयार हुआ था। इसलिए इसे प्रथम नगरायण कहा जाता है। मोहनजोदड़ो और हड़ष्पा दोनों सबसे बड़े नगर थे। उस तुलना में लोथाल और कालिबंगान छोटा था।

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 3 भारतीय उपमहादेश के प्राचीन इतिहास की धारा (प्रथम पर्याय : लगभग ईसा पूर्व 7000-1500)

प्रश्न 26.
सिंघु नदी के किनारे हड़प्पा सभ्यता के शहर क्यों विकसित हुए थे ?
उत्तर :
हड़प्पा सभ्यता के नगर सिंधु नदी के किनारे ही निर्मित हुए थे, इसके निम्नलिखित कारण हैं –
कृषि : नदी के किनारे की जमीन बहुत उर्वर थी एवं यहाँ सिचाई की सुविधा भी थी। अर्थात कृषि की सरलता के कारण सिंधु निवासी नदी के किनारे निवास करने लगे।
यातायात एवं वाणिज्य : हड़प्पा के निवासी नदी मार्ग से वाणिज्य एवं अन्य कारणों से देश के अंदर-बाहर विभिन्न अंचलों में आते-जाते थे। इस प्रकार की सुविधा के कारण हड़प्पा वसियों ने नदी के किनारे निवास करना आरंभ किया।

बहुविकल्पीय प्रश्नोत्तर (Multiple Choice Question & Answer) : (1 Mark)

प्रश्न 1.
हड़प्पा सभ्यता में गृह __________ से निर्मित थे।
(क) पत्थर
(ख) पक्की ईंटों
(ग) लकड़ी
(घ) मिट्टी
उत्तर :
(ख) पक्की ईंटों

प्रश्न 2.
हड़प्पा सभ्यता __________ की सभ्यता थी।
(क) पत्थर युग
(ख) ताम्र एवं कांस्य युग
(ग) लकड़ी युग
(घ) इनमें से कोई नहीं
उत्तर :
(ख) ताम्र एवं कांस्य युग

प्रश्न 3.
भारतीय उपमहादेश की हड़प्पा सभ्यता में ही __________ देखा गया है।
(क) प्रथम नगर
(ख) प्रथम ग्राम
(ग) द्वितीय नगर
(घ) द्वितीय ग्राग
उत्तर :
(क) प्रथम नगर

प्रश्न 4.
मेहरगढ़ सभ्यता की खोज __________ ई० में हुई थी ।
(क) 1964
(ख) 1974
(ग) 1984
(घ) 1940
उत्तर :
(ख) 1974

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 3 भारतीय उपमहादेश के प्राचीन इतिहास की धारा (प्रथम पर्याय : लगभग ईसा पूर्व 7000-1500)

प्रश्न 5.
हड़प्पा सभ्यता में __________
(क) सोना की एक नारी की मूर्ति पाई गई है।
(ग) कांस्य
(ख) ताप्र
(घ) चांदी
उत्तर :
(ग) कांस्य

प्रश्न 6.
हड़प्पा के नगरों के ऊँचे क्षेत्रों का नाम __________ है।
(क) सिराडेल
(ख) जिगुरात
(ग) कुनताशा
(घ) इनमें से कोई नहीं
उत्तर :
(क) सिराडेल

प्रश्न 7.
प्राय: __________ लाख वर्ग कि०मी॰ के क्षेत्र में हड़प्पा की सभ्यता फैली हुई थी।
(क) 7
(ख) 9
(ग) 10
(घ) 12
उत्तर :
(क) 7

प्रश्न 8.
ताप्र एवं पत्थर के प्रयोग का काल __________ के नाम से परिचित है।
(क) प्राचीन युग
(ख) ताम्र – पत्थर युग
(ग) लौह युग
(घ) इनमें से कोई नहीं
उत्तर :
(ख) ताम्र – पत्थर युग

रिक्त स्थानों की पूर्ति करो (Fill in the blanks) : (1 Mark)

1. ________ सभ्यता के गृह पक्की ईंटों से निर्मित होते थे।
उत्तर : हड़प्पा।

2. समय के साथ __________ सभ्य होते चले गए।
उत्तर : आदि मानव।

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 3 भारतीय उपमहादेश के प्राचीन इतिहास की धारा (प्रथम पर्याय : लगभग ईसा पूर्व 7000-1500)

3. 1974 ई० में __________ सभ्यता की खोज हुई।
उत्तर : मेहरगढ़।

4. ऊँचे क्षेत्रों को हड़प्पा सभ्यता में __________ कहते थे।
उत्तर : सिरडेल।

5. __________ सभ्यता में कांस्य की एक नारी की मूर्ति पाई गई है।
उत्तर : हड़प्पा।

6. आर्य सभ्यता का दूसरा नाम __________ भी था।
उत्तर : सिंधु घाटी सभ्यता।

7. हड़प्पा सभ्यता __________ में फैली हुई थी।
उत्तर : 7 लाख वर्ग कि० मी०।

8. ताप्र पत्थर युग में __________ एवं __________ का प्रयोग हुआ करता था।
उत्तर : ताप्र एवं पत्थर

9. बुरजाहोम __________ का प्रमुख केन्द्र था।
उत्तर : मेहरगढ़ सभ्यता।

सही एवं गलत का निर्णय करो : True or False (1 mark)

1. लिपि का व्यवहार सभ्यता का एक वैथिक रूप है।
उत्तर : (सही)

2. मेहरगढ़ सभ्यता का आविष्कार दयाराम साहनी ने किया था।
उत्तर : (गलत)

3. हड़प्पा सभ्यता प्राक-ऐतिहासिक युग की सभ्यता है।
उत्तर : (सही)

4. हड़प्पा के लोग लिखना जानते थे।
उत्तर : (सही)

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 3 भारतीय उपमहादेश के प्राचीन इतिहास की धारा (प्रथम पर्याय : लगभग ईसा पूर्व 7000-1500)

5. हड़प्पा के लोग मूर्ति पूजा नहीं करते थे।
उत्तर : (गलत)

6. हड़प्पा के लोगों का व्यापार संपर्क विदेश तक था।
उत्तर : (सही)

7. हड़प्पा के नगर को प्रथम नगरायण कहा जाता है।
उत्तर : (गलत)

8. हड़प्पा के लोग लोहे का प्रयोग नहीं जानते थे।
उत्तर : (सही)

9. हड़प्पा की सभ्यता 6 लाख वर्ग कि० मी० तक फैली थी।
उत्तर : गलत।

10. हड़प्पा सभ्यता के लोग मूर्ति पूजा के विरोधी थे।
उत्तर : गलत।

11. हड़प्पा सभ्यता में पशुपालन का प्रचलन था।
उत्तर : सही।

12. हड़प्पा के लोग विदेशों में व्यापर नहीं करते थे।
उत्तर : गलत।

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 3 भारतीय उपमहादेश के प्राचीन इतिहास की धारा (प्रथम पर्याय : लगभग ईसा पूर्व 7000-1500)

13. हड़प्पा सभ्यता के लोगों में लिखने का प्रचलन नहीं था।
उत्तर : गलत।

14. हड़प्पा सभ्यता की खोज “जाँ फ्रांसोया जारिम” ने की थी।
उत्तर : गलत।

बेमेल शब्द को छाँटकर लिखो :-

1. धान, गेहूँ, मटर, जौ
उत्तर : मटर।

2. गाय, बकरी, कुत्ता, हाथी
उत्तर : हाथी।

3. इन्द्र, सूर्य, गणेश, शिव
उत्तर : गणेश।

4. ब्राह्मण, क्षत्रिय, वैश्य, धोबी
उत्तर : धोबी।

5. कुम्हार, सोनार, लोहार, तांत्रिक
उत्तर : तांत्रिक।

6. बुरजाहोम, अंजीरा, सियादाभव, पटना
उत्तर : पटना।

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 3 भारतीय उपमहादेश के प्राचीन इतिहास की धारा (प्रथम पर्याय : लगभग ईसा पूर्व 7000-1500)

7. मृदाशिल्प, धातुशिल्प, आभूषण, कला,
उत्तर : आभूषण।

बेमेल शब्दों को ढूंढकर बाहर निकालिए :-

  1. ताँम, काँसा, पत्थर, लोहा।
  2. घोड़ा, हाथी, गेंडा, साँढ़
  3. कालिबागान, मेहरगढ़, वनवाली, ढोलाबिरा।
  4. इन्द्र, सूर्य, शिव, गणेश।
  5. कुम्हार, सोनार, तांती, श्रेष्ठी।
  6. बाह्मण, क्षत्रिय, वैश्य, मछुआरा।
  7. लिपि, मुद्रा, स्थापत्य, सभ्यता।
  8. जौ, गेहूँ, धान, कपास।

उत्तर :

  1. पत्थर
  2. साँढ़
  3. मेहरगढ़
  4. सूर्य
  5. श्रेष्ठी
  6. मछुआरा
  7. सभ्यता
  8. कपास।

सही मिलान करो Match the following : (1 Mark)

प्रश्न 1.

स्तम्भ (क) स्तम्भ (ख)
i) हड़प्पा सभ्यता का केन्द्र a) यानहूढाड़ो
ii) मेहरगढ़ सभ्यता का केन्द्र b) गुमला
iii) मेहरगढ़ सभ्यता का पालतू पशु c) कुत्ता
iv) हड़ण्पा सभ्यता का पालतू पशु d) बकरी

उत्तर :

स्तम्भ (क) स्तम्भ (ख)
i) हड़प्पा सभ्यता का केन्द्र a) यानहूढाड़ो
ii) मेहरगढ़ सभ्यता का केन्द्र b) गुमला
iii) मेहरगढ़ सभ्यता का पालतू पशु d) बकरी
iv) हड़ण्पा सभ्यता का पालतू पशु c) कुत्ता

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 3 भारतीय उपमहादेश के प्राचीन इतिहास की धारा (प्रथम पर्याय : लगभग ईसा पूर्व 7000-1500)

प्रश्न 2.

स्तम्भ (क) स्तम्भ (ख)
(i) वर्ण (a) यज्ञ
(ii) कला (b) लिपि
(iii) याम (c) शहर
(iv) नगर (d) स्थापत्य

उत्तर :

स्तम्भ (क) स्तम्भ (ख)
(i) वर्ण (b) लिपि
(ii) कला (d) स्थापत्य
(iii) याम (a) यज्ञ
(iv) नगर (c) शहर

प्रश्न 3.

स्तम्भ (क) स्तम्भ (ख)
(i) याम (a) शहर
(ii) नगर (b) यज्ञ
(iii) हड़प्पा सभ्यता (c) चेम्पर वारियाल
(iv) कष्ट समाधि (d) नगर सभ्यता

उत्तर :

स्तम्भ (क) स्तम्भ (ख)
(i) याम (b) यज्ञ
(ii) नगर (a) शहर
(iii) हड़प्पा सभ्यता (d) नगर सभ्यता
(iv) कष्ट समाधि (c) चेम्पर वारियाल

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 3 भारतीय उपमहादेश के प्राचीन इतिहास की धारा (प्रथम पर्याय : लगभग ईसा पूर्व 7000-1500)

प्रश्न 4.

स्तम्भ (क) स्तम्भ (ख)
(i) वर्ण (a) स्थापत्य
(ii) कला (b) लिपि
(iii) मेहरगढ़ सभ्यता (c) चाहनुदाड़ो
(iv) हड़प्पा सभ्यता (d) पिटवारिस्थल
(v) गधे की समाधि (e) ग्रामीण सभ्यता

उत्तर :

स्तम्भ (क) स्तम्भ (ख)
(i) वर्ण (a) स्थापत्य
(ii) कला (b) लिपि
(iii) मेहरगढ़ सभ्यता (c) चाहनुदाड़ो
(iv) हड़प्पा सभ्यता (d) पिटवारिस्थल
(v) गधे की समाधि (e) ग्रामीण सभ्यता

प्रश्न 5.

स्तम्भ (क) स्तम्भ (ख)
(i) समाधि प्रथा (a) लापिसलजुप्लि
(ii) नील कान्तमणि (b) मेगालिथ
(iii) वैदुर्यमणि (c) टार्कोयाण
(iv) मेहरगढ़ सभ्यता का केन्द्र (d) हड़प्पा का पालतू पशु
(v) कुत्ता (e) गुमला
(vi) बकरी (f) लोथल
(vii) रावी (g) मेहरगढ़ सभ्यता का पशुपालन
(viii) चिनाय (h) आसिक्ति
(ix) शिव (i) इरावत
(x) मृतकों का स्थान (j) पशुपति

उत्तर :

स्तम्भ (क) स्तम्भ (ख)
(i) समाधि प्रथा (b) मेगालिथ
(ii) नील कान्तमणि (c) टार्कोयाण
(iii) वैदुर्यमणि (a) लापिसलजुप्लि
(iv) मेहरगढ़ सभ्यता का केन्द्र (e) गुमला
(v) कुत्ता (d) हड़प्पा का पालतू पशु
(vi) बकरी (f) लोथल
(vii) रावी (g) मेहरगढ़ सभ्यता का पशुपालन
(viii) चिनाय (h) आसिक्ति
(ix) शिव (j) पशुपति
(x) मृतकों का स्थान (i) इरावत

WBBSE Class 6 Science Solutions Chapter 1 परिवेश एवं जीव जगत् की पारस्परिक निर्भरता

Detailed explanations in West Bengal Board Class 6 Science Book Solutions Chapter 1 परिवेश एवं जीव जगत् की पारस्परिक निर्भरता offer valuable context and analysis.

WBBSE Class 6 Science Chapter 1 Question Answer – परिवेश एवं जीव जगत् की पारस्परिक निर्भरता

अति लघु उत्तरीय प्रश्नोत्तर (Very Short Answer Type) : 1 MARK

प्रश्न 1.
पौधे के किन हिस्सों को हम खाते हैं?
उत्तर :
फल, फूल, बीज, पत्ता

प्रश्न 2.
गौरैया शलिक पक्षी कहाँ अपना घर बनाते हैं ?
उत्तर :
डाली, शाखाओं वाले पेड़ पर।

WBBSE Class 6 Science Solutions Chapter 1 परिवेश एवं जीव जगत् की पारस्परिक निर्भरता

प्रश्न 3.
लाल चीटियाँ कैसे घर बनाती हैं?
उत्तर :
चौड़े, गोल पत्तियों वाले पेड़-पौधों की डालियों को सजाकर ।

प्रश्न 4.
ताड़ के पेड़ के पत्ते से क्या बनता है?
उत्तर :
हाथ पंखा ।

प्रश्न 5.
रस्सी किनके तंतुओं से बनायी जाती है?
उत्तर :
नारियल तथा पाट ।

प्रश्न 6.
बोरे तथा बस्ते किसके तंतु से तैयार होते हैं?
उत्तर :
जूट (पाट) के तंतु से ।

प्रश्न 7.
लकड़ियों को चमकाने के लिए क्या व्यवहार होता है?
उत्तर :
वार्निश।

WBBSE Class 6 Science Solutions Chapter 1 परिवेश एवं जीव जगत् की पारस्परिक निर्भरता

प्रश्न 8.
बार्निश किन पेड़ों से प्राप्त होता है?
उत्तर :
पाइन तथा शाल के पेड़ से ।

प्रश्न 9.
रबड़ क्या है?
उत्तर :
उत्सर्जी पदार्थ ।

प्रश्न 10.
कुनैन किसका उत्सर्जी पदार्थ है?
उत्तर :
सिनकोना का ।

प्रश्न 11.
कुछ औषधीय पौधों के नाम लिखें।
उत्तर :
तुलसी, नीम, सर्पगन्था, बसाक।

प्रश्न 12.
वातावरण में CO2, का अवशोषक कौन है?
उत्तर :
पेड़ ।

प्रश्न 13.
चींटी तथा एफिड में क्या संबंध है?
उत्तर :
सहजीविता का।

प्रश्न 14.
माँस खाने वाले जीव क्या कहलाते हैं?
उत्तर :
माँसाहारी।

प्रश्न 15.
घास, फल, फूल खाने वाले जीव कहलाते हैं?
उत्तर :
शाकाहारी ।

प्रश्न 16.
फीताकृमि, अमाशय का जीवाणु क्या है?
उत्तर :
परजीवी ।

WBBSE Class 6 Science Solutions Chapter 1 परिवेश एवं जीव जगत् की पारस्परिक निर्भरता

प्रश्न 17.
सिल्क किससे मिलता है?
उत्तर :
रेशम के कीड़े से ।

प्रश्न 18.
यकृत के तेल में क्या रहता है?
उत्तर :
विटामिन A

प्रश्न 19.
कार्ड मछली में क्या पाया जाता है?
उत्तर :
कार्ड मछली में विटामिन A तथा विटामिन D पाया जाता है ।

प्रश्न 20.
परिवहन में सहायक प्राणियों के नाम लिखें।
उत्तर :
बैल, घोड़ा, ऊँट ।

प्रश्न 21.
एक लाभदायक बैक्टीरिया का नाम लिखें।
उत्तर :
लैक्टोवेसिल्स ।

WBBSE Class 6 Science Solutions Chapter 1 परिवेश एवं जीव जगत् की पारस्परिक निर्भरता

प्रश्न 22.
औषधि निर्माण में सहायक बैक्टीरिया का नाम बताएं।
उत्तर :
स्ट्रेप्टोमाइसेस बैक्टीरिया।

संक्षिप्त प्रश्नोत्तर (Brief Answer Type) : 3 MARKS

प्रश्न 1.
नीचे लिखी तालिका को पूरा करो –
उत्तर :

कौन काम किसके ऊपर निर्भर करता है
i) सोना का काम सोनार पर
ii) बाल काटने का काम नाई पर
iii) मिठाई बनाने का काम हलवाई पर
iv) कपड़ा धोने का काम धोबी
v) पाइप लाईन का काम पानी मिस्री पर
vi) बिजली का काम बिजली मिस्र्री पर
vii) लकड़ी का काम बढ़ई पर

प्रश्न 2.
नीचे दिये गये प्राणी, पौधे के किस अंश को खाते हैं?
उत्तर :

प्राणी के नाम पेड़ पौधे के किस अंश को खाते हैं
i) गाय तना
ii) बकरी पत्ते, मुलायम तना, डाल
iii) मुर्गी कीड़-मकौड़े
iv) बंदर मुलायम डाल, पत्ता
v) गिलहरी पत्ता
vi) तोता दाना

WBBSE Class 6 Science Solutions Chapter 1 परिवेश एवं जीव जगत् की पारस्परिक निर्भरता

प्रश्न 3.
प्राणी किस तरह खाद्य के लिए पेड़ों पर निर्भर रहते हैं?
उत्तर :
मनुष्य तथा प्राणियों के खाने-पीने की सभी वस्तुएँ पेड़ों से प्राप्त होती हैं। गाय, मुर्गी, बकरी भी अपने जीवन यापन के लिए पेड़ों से मिलने वाले अंश को खाकर करते हैं। मुर्गी जिन कीड़े-मकौड़ों को खाती हैं वे भी किसी तरह गे पौधों को खाकर अपना जीवन-यापन करते हैं।

प्रश्न 4.
आवास के लिए प्राणी कैसे पेड़ों पर नर्भर हैं? बताओ ।
उत्तर :
पेड़ों की सखी डाल तथा पत्तों को जमाकर पक्षी अपना घोंसला बनाते हैं। गौरैया, शालक जैसे पक्षी डाली शाखाओं वाले पेड़-पौधे की छोटी डालियों को सजाकर घोंसला तैयार करते हैं। गिलहरी, मकड़ी, चीटियाँ पेड़ की ड। में कोठरी बनाकर उनमें रहती हैं। बंदर पेड़ की डाल पर रहते हैं।

प्रश्न 5.
नीचे दी गई तालिका को पूरा करो ।
उत्तर :

पेड़ का कौन सा हिस्सा पेड़ का नाम किस काम में आता है ?
i) तना ………………….. ………………….
ii) ………………….. ताड़ का पेड़ हाथ पंखा
iii) फल ………………….. ………………….
iv) ………………….. ………………….. ………………….

उत्तर :

पेड़ का कौन सा हिस्सा पेड़ का नाम किस काम में आता है ?
i) तना शाल घर निर्माण में
ii) पत्ता ताड़ का पेड़ हाथ पंखा बनाने में
iii) फल आम का पेड़ खाद्य के रूप में
iv) बीज भुट्टा खाद्य के रूप में

WBBSE Class 6 Science Solutions Chapter 1 परिवेश एवं जीव जगत् की पारस्परिक निर्भरता

प्रश्न 6.
वातावरण में CO2, O2 का संतुलन कैसे स्थापित होता है?
उत्तर :
प्राणी श्वांस द्वारा O2 ग्रहण करते हैं तथा श्वांस छोड़ते समय कार्बन डाइऑक्साइड छोड़ते हैं। पेड़ अपन भोजन बनाने के लिए कार्बन डाइऑक्साइड (CO2) का उपयोग करते हैं। प्रकाश संश्लेषण क्रिया के दौरान पे ऑक्सीजन (O2) निकालते हैं। इस प्रकार प्राणी और पेड़ के बीच CO2 तथा O2 का आदान-प्रदान चलता रहता है। इस वातावरण में CO2, O2 का संतुलन बना रहता है।

प्रश्न 7.
नीचे दी गई तालिका को पूरा करें।
उत्तर :

किस तरह निर्भर करते हैं? किस-किस उद्भिज से मिलता है? उद्भिज के किस अंश से पाते हैं?
i) लकड़ी को पालिश करने के लिए पाइन तथा शाल से गुड़ी से
ii) पेंसिल का दाग मिटाने के लिए वटवृक्ष डाल से पत्ता टूटने पर
iii) मलेरिया की दवा सिनकोना पेड़ की छाल
iv) डायबिटीज की दवा नयनतारा पत्ता
v) कीटनाशक औषधि के लिए नीम बीज से

प्रश्न 8.
तंतु किसे कहते हैं? प्रकृति से प्राप्त होने वाले तंतुओं के नाम तथा उपयोग लिखें।
उत्तर :
धागे का महीन भाग जो आपस में जुटकर धागा का निर्माण करते हैं उसे तंतु कहते हैं। कपड़े के लिए धागा, धागा के लिए तंतु की आवश्यकता होती है। कपड़ा — धागा — तंतु

प्राकृतिक तंतु उपयोग
i) सूती तंतु कपड़ा बनाने में
ii) नारियल का तंतु रस्सी बनाने में
iii) सुतली का तंतु रस्सी बनाने में
iv) जूट का तंतु जूट का बैग, बोरा

प्रश्न 9.
पराग मिलन क्या है?
उत्तर :
फूलों के चटकदार रंग तथा खुशबू कीट पतंगों को अपनी ओर आकर्षित करते हैं। कीट पतंग एक से अधिक फूलों के रेणु का मिश्रण करते हैं। इसे पराग मिलन कहते हैं।

WBBSE Class 6 Science Solutions Chapter 1 परिवेश एवं जीव जगत् की पारस्परिक निर्भरता

प्रश्न 10.
सहजीविता क्या है?
उत्तर :
जब दो जीव के परस्पर सहयोग से दोनों जीवों का उपकार होता है तो उसे सहजीविता कहते हैं। समुद्र फूलकलाउन मछली या चींटियां-एफिड के बीच का सम्पर्क सहजीविता है।

प्रश्न 11.
एजोला के रहने से जमीन में खाद की जरूरत नहीं पड़ती है, क्यों?
उत्तर :
एजोला एक कलमी लता है। इसके पत्तों के बीच एक बैक्टीरिया रहता है जो हवा से नाइट्रोजन को लेता है। इससे एजोला का लाभ होता है। खाद्य के लिए एजोला को नाइट्रोजन की आवश्यकता होती है तथा एजोला अपने पत्तों पर बैक्टीरिया को रहने की जगह देता है। इस तरह एजोला तथा बैक्टीरिया सहजीविता द्वारा-अपना काम चला लेते हैं।

प्रश्न 12.
परजीवी क्या है?
उत्तर :
वे जीव जो दूसरे जीव पर आश्रित होकर अपना भोजन बनाते हैं उन्हें परजीवी कहते हैं। स्वर्णलता एक परजीवी है जो हल्दी के रस को सोखकर जिंदा रहती है।

प्रश्न 13.
परजीवी किस तरह हमें नुकसान पहुँचाते हैं? लिखें।
उत्तर :

परजीवी कहाँ घर बनाते हैं? शरीर में क्या-क्या लक्षण दिखाई देता है?
i) सूक्ष्म जीवाणु फेफड़ा, हड्डी और अन्य अंश बुखार, शरीर का वजन घटना, खाँसी
ii) फीताकृमि आंत, पेशी, मस्तिष्क, यकृत दुर्बलता
iii) मलेरिया के जीवाणु यकृत, लाल रक्त कणिका बुखार, रक्त की कमी, दुर्बलता
iv) अमाशय के जीवाणु आंत बार-बार पतला दस्त होना, शरीर में पानी कम हो जाना

प्रश्न 14.
नीचे की तालिका को पूरा करो –
उत्तर :

खाद्य पदार्थ का नाम किस प्राणी से मिलता है?
i) मधु मधुमक्खी
ii) मांस मुर्गी, बकरी, सूअर
iii) अण्डा मुर्गी, हंस
iv) दूध गाय, बकरी, भैस
v) ऊन भेड़
v) सिल्क रेशम कीट

WBBSE Class 6 Science Solutions Chapter 1 परिवेश एवं जीव जगत् की पारस्परिक निर्भरता

प्रश्न 15.
नीचे की तालिका को पूरा करो –
उत्तर :

वस्त्र बनाने के उपादान किस प्राणी / उद्भिज से मिलता है?
i) रेशम रेशम कीट
ii) ऊन भेड़
iii) सूती धागा कपास
iv) प्लैकस जूट

प्रश्न 16.
पेड़ – पौधे किस तरह प्राणियों पर निर्भर हैं?
उत्तर :
पेड़ – पौधे निम्नलिखित रूप में प्राणियों पर निर्भर है :-

  • परागमिलन के लिए।
  • दूर- दूर बीज बिखेरने के लिए।

प्रश्न 17.
मनुष्य/प्राणी किस प्रकार पेड़ों पर निर्भर हैं ?
उत्तर :
मनुष्य/प्राणी निम्नलिखित कारणों से पेड़ों पर निर्भर हैं?

  • खाद्य के लिए ।
  • घोंसला तथा कोठरी बनाने के लिए ।
  • घर निर्माण के लिए ।
  • वस्त्र बनाने के लिए ।

प्रश्न 18.
मनुष्य कैसे दूसरे प्राणियों पर निर्भर करते हैं?
उत्तर :
मनुष्य निम्नलिखित कारणों से प्राणियों पर निर्भर करते हैं।

  • खाद्य के लिए ।
  • वस्न निर्माण के लिए ।
  • औषधियों के लिए

प्रश्न 19.
प्राणियों से मिलने वाली औषधियों के बारे में लिखें ।
उत्तर :
कार्ड जैसी समुद्री मछलियों में यकृत का तेल रहता है। यकृत के तेल में विटामिन A पर्याप्त मात्रा में मिलता है। हह आँखों के लिए उपयोगी होता है। विटामिन A तथा विटामिन D शरीर तथा दाँतों को मजबूत बनाते हैं। बकरी और तर्गी के कलेजी में विटामिन रहता है जो मनुष्य के भोजन का उपादान है।

WBBSE Class 6 Science Solutions Chapter 1 परिवेश एवं जीव जगत् की पारस्परिक निर्भरता

प्रश्न 20.
नीचे की तालिका को पूरा करो :-
उत्तर :

प्राणियों के नाम किस तरह हमारे आस-पास के परिवेश को स्वच्छ रखते हैं?
i) कौआ आस-पास की जगह को साफ रखता है।
ii) सूअर नाले की गंदगी खाकर परिवेश को स्वच्छ
रखता है।
iii) गिद्ध आस-पास मरे हुए जीवों के शरीर को खाकर परिवेश को साफ रखता है।

प्रश्न 21.
नीचे की तालिका को पूरा करो :-
उत्तर :

प्राणियों के नाम कैसे परिवहन के लिए सहयोगी है? तुमने कहाँ देखा?
i) बैल कैसे परिवहन के लिए सहयोगी है गाँव में
ii) घोड़ा खेत से सामान को ढोकर बाजार ले जाने के लिए। गाँव में
iii) ऊँट मनुष्यों को एक स्थान से दूसरे स्थान ले जाने के लिए। रेगिस्तान में
iv) खच्चर रेगिस्तान में सवारी तथा माल ढुलाई में। पहाड़ों पर चढ़ने तथा सामान ढुलाई में। पहाड़ पर

प्रश्न 22.
दूध से दही कैसे बनता है? इसकी प्रक्रिया लिखें।
उत्तर :
दूध से दही बनाने की निम्नलिखित प्रक्रिया है।

  • दही का कुछ अंश लेते हैं ।
  • दूध को गर्म करते हैं।
  • गर्म दूध में दही का अंश मिलाकर रख देते हैं।
  • कई परिवर्तन के बाद दूध का दही बन जाता है।

प्रश्न 23.
पावरोटी कैसे बनता है? पावरोटी में छेद कैसे बनते हैं?
उत्तर :
पावरोटी में मैदा, आटा, पानी का व्यवहार होता है। आटा या मैदा में ईस्ट मिला दिया जाता है, यह एक प्रकार का फंगस है। यह मैदा या आटा के शर्करा को तोड़ देता है। इससे कार्बन डाइ-ऑक्साइन तथा अल्कोहल तैयार होता है, CO2 आटा या मैदा के मिश्रण के फुलाने में सहायता करता है। CO2 मिश्रण से बाहर निकल जाता है और पारवराटी में हल्के-हल्के छिद्र बन जाते हैं।

WBBSE Class 6 Science Solutions Chapter 1 परिवेश एवं जीव जगत् की पारस्परिक निर्भरता

प्रश्न 24.
औषधि निर्माण में बैक्टीरिया की क्या भूमिका है?
उत्तर :
प्रकृति में कुछ ऐसे बैक्टीरिया हैं जो जीवाणुओं को नष्ट कर देते हैं। इन बैक्टीरिया से दवाओं के उपादन मिलते है। रट्रोटाइसेस एक प्रकार का बैक्टीरिया है। स्ट्रोप्टोमाइसीन बैक्टीरिया की विभिन्न प्रजाति से 50 से अधिक बैक्टीरिया नाशक, फंगस पेस्ट्रीसाइडनाशक दवाइयाँ बनती हैं। स्ट्रीप्टामाइसीज ररिथोमाइसिन स्ट्रोप्टोमाइसीन से प्राप्त ऐसी दवा है जो हमारे शरीर में प्रवेश होने वाले जीवाणुओं को मार देती है।

प्रश्न 25.
समुद्र फूल और क्लाउन मछली की सहजीविता को लिखें।
उत्तर :
क्लाउन मछली सागर फूल के संग रहती है। समुद्र फूल की शत्रु जैसी तितली मछलियों को भगा देती है। और समुद्र के खाने वाले हिस्सा क्लाउन मछली पा जाती है। कई बार क्लाउन मछली का पीछा करते हुए आने वाले प्राणी समुद्र फूल का शिकार हो जाते हैं।

प्रश्न 26.
चींटी और एफिड के बीच सहजीविता सम्पर्क को लिखें?
उत्तर :
एफिड या रस चूसने वाले पंतगे पेड़ों के शर्करा युक्त रस का शोषण करके समृद्ध वर्ण का त्याग करते हैं। इस वर्ज्य पदार्थ का नाम मधुरस है। चींटियां बड़े मजे लेकर खाती है। खाने के उद्देश्य से चींटियाँ एफिड या रस चूसने वाले पतंगों का भरण-पोषण करती हैं और उन्हें नष्ट होने से बचाती हैं। यहाँ तक कि एफिड का खाना नष्ट होने पर उन्हें एक पेड़ से दूसरे पेड़ तक ले जाती है।

प्रश्न 27.
समुद्र फूल और संन्यासी केंकड़ा के बीच की सहजीविता को लिखें।
उत्तर :
संन्यासी केंकड़ा का पेट का हिस्सा काफी नरम होता हैं। इसलिए वह किसी मृतक समुद्री प्राणी के खोल में अपना निवास बनाता है और उसकी पीठ पर सागर कुसुम को लेकर इधर उधर बहता रहता है। संन्यासी केकड़े की देह जैसे-जैसे बढ़ती है समुद्र फूल इसे ढंककर रखते हैं। समद्र फूल अपने विषैली कोषयुक्त स्पर्शक की सहायता से संन्यासी केकड़ा की रक्षा करता है। संन्यासी केकड़ा की खाद्ध सामग्रियों में से ही समुद्र फूल का हिस्सा होता है।

बहुविकल्पीय प्रश्नोत्तर (Multiple Choice Question & Answer) : (1 Mark)

प्रश्न 1.
घर का खाना कौन बनाता है ?
(a) माँ
(b) पिता
(c) चाचा
(d) मामा
उत्तर :
(a) माँ

WBBSE Class 6 Science Solutions Chapter 1 परिवेश एवं जीव जगत् की पारस्परिक निर्भरता

प्रश्न 2.
मनुष्य के खाने की चीज क्या है ?
(a) चावल
(b) पानी
(c) हरितकी
(d) रबड़
उत्तर :
(a) चावल।

प्रश्न 3.
मनुष्य घर बनाने के लिए क्या इस्तेमाल करता है ?
(a) लकड़ी
(b) कोयला
(c) पेट्रोल
(d) पानी
उत्तर :
(a) लकड़ी ।

प्रश्न 4.
बंदर पेड़ का कौन सा भाग खाता है ?
(a) तना
(b) फूल
(c) फल
(d) सभी
उत्तर :
(c) फल।

प्रश्न 5.
बकरी पेड़ का कौन सा भाग खाती है ?
(a) पत्ता
(b) लकड़ी
(c) तना
(d) कोई नहीं
उत्तर :
(a) पत्ता।

प्रश्न 6.
आम का कौन सा हिस्सा हम खाते हैं ?
(a) फल
(b) बीज
(c) छिलका
(d) सभी
उत्तर :
(a) फल ।

प्रश्न 7.
इनमें से किस वनस्पति का पत्ता इस्तेमाल होता है?
(a) गाजर
(b) सहजन
(c) पालक
(d) आम
उत्तर :
(c) पालक ।

प्रश्न 8.
घोंसला कौन से जीव बनाते हैं?
(a) पक्षी
(b) गिलहरी
(c) मकड़ी
(d) सभी
उत्तर :
(a) पक्षी।

WBBSE Class 6 Science Solutions Chapter 1 परिवेश एवं जीव जगत् की पारस्परिक निर्भरता

प्रश्न 9.
हाथ पंखा किससे बनता है ?
(a) आम के पेड़ से
(b) ताड़ के पेड़ से
(c) खजूर के पेड़ से
(d) नारियल के पेड़ से
उत्तर :
(b) ताड़ के पेड़ से ।

प्रश्न 10.
सूती धागा किससे बनता है ?
(a) कपास से
(b) ताड़ से
(c) नारियल से
(d) कोई नहीं
उत्तर :
(a) कपास से।

प्रश्न 11.
किस प्राणी से तंतु प्राप्त होता है ?
(a) मधुमक्खीं
(b) कपास
(c) रेशम
(d) सभी
उत्तर :
(c) रेशम

प्रश्न 12.
रबर क्या है ?
(a) खाद्य पदार्थ
(b) उत्सर्जी पदार्थ
(c) कोई नहीं
(d) सभी
उत्तर :
(b) उत्सर्जी पदार्थ ।

प्रश्न 13.
मलेरिया की दवा किससे तैयार होती है ?
(a) सर्पगंधा से
(b) चाय से
(c) कुनैन से
(d) सभी से
उत्तर :
(c) कुनैन से।

प्रश्न 14.
सहजीवी का उदाहरण है –
(a) गाय-बगुला
(b) चींटी-एफिड
(c) गैडा-सूअर
(d) केंकड़ा-साँष
उत्तर :
(a) गाय-बगुला
(b) चीटी-एफिड ।

WBBSE Class 6 Science Solutions Chapter 1 परिवेश एवं जीव जगत् की पारस्परिक निर्भरता

प्रश्न 15.
एक परजीवी है –
(a) फीताकृमि
(b) गाय
(c) कौआ
(d) बैक्टीरिया
उत्तर :
(a) फीताकृमि

प्रश्न 16.
समुद्री मछलियों में कौन सी विटामिन होती है ?
(a) विटामिन ‘A’ तथा ‘B’
(b) विटामिन ‘B’ तथा ‘C’
(c) विदामिन ‘A’
(d) विटामिन ‘E’
उत्तर :
(a) विटामिन ‘A’ तथा ‘B’ ।

प्रश्न 17.
प्रदूषण कम करने वाला एक प्राणी है –
(a) कुत्ता
(b) बिल्ली
(c) सूअर
(d) सभी
उत्तर :
(c) सूअर ।

प्रश्न 18.
परिवहन के कार्य में आने वाला जीव है –
(a) बैल
(b) घोड़ा
(c) बकरा
(d) गाय
उत्तर :
(a) बैल (b) घोड़ा ।

प्रश्न 19.
एक लाभदायक बैक्टीरिया है –
(a) प्लाजमोडियम
(b) लैक्टोवैसिल्स
(c) पेनिसीलियम
(d) प्रोटोजोवा
उत्तर :
(b) लैक्टोवैसिल्स ।

प्रश्न 20.
हेपोटाइसेस क्या है ?
(a) वायरस
(b) कवक
(c) बैक्टीरिया
(d) प्रोटोजोवा
उत्तर :
(c) बैक्टीरिया।

रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए (Fill in the blanks) : (1 Mark)

1. ………. की लकड़ी घर निर्माण के काम में आती है।
उत्तर : शाल

WBBSE Class 6 Science Solutions Chapter 1 परिवेश एवं जीव जगत् की पारस्परिक निर्भरता

2. ……….. एक औषधीय वृक्ष है।
उत्तर : नीम

3. ……….. की जड़ खाने के काम में आती है।
उत्तर : अदरक

4. ……….. का बीज खाने के काम आता है।
उत्तर : भुट्टा

5. ………. से सूती कपड़ा का तंतु मिलता है।
उत्तर : कपास

6. ……….के तंतु से रस्सी बनाई जाती है।
उत्तर : नारियल

7. पॉलिश के लिए बॉर्निश ……………..तथा………………. पेड़ से प्राप्त होती है।
उत्तर : पाइन, शाल

8. परागमिलन की प्रक्रिया …………….. के …………….. के मिलने से होता है।
उत्तर : फूलों, रेणु,

9. …………. तथा ………… के बीच सहजीविता है।
उत्तर : समुद्र फूल, कलउन मछली

10. स्वर्णलता एक प्रकार का ……………. पौधा है।
उत्तर : परजीवी

11. हमारी आँखों के लिए ……………. अच्छा होता है।
उत्तर : विटामिन ‘A’

12. ईस्ट एक प्रकार का ……………. है।
उत्तर : लाभकारी कवक

13. ……………. एक हानिकारक कवक है।
उत्तर : स्पंजेलिस

WBBSE Class 6 Science Solutions Chapter 1 परिवेश एवं जीव जगत् की पारस्परिक निर्भरता

14. स्टोंटाइसेस एक प्रकार का ……………. है।
उत्तर : परजीवी

सही मिलान करो :

प्रश्न 1.

A B
(i) भुट्टा (a) पत्ता
(ii) भुट्टा (b) जड़-तना
(iii) गाजर (c) फल
(iv) कुम्हड़ा (d) बीज
(v) केला (e) फूल – फल

उत्तर :

A B
(i) भुट्टा (d) बीज
(ii) भुट्टा (a) पत्ता
(iii) गाजर (b) जड़-तना
(iv) कुम्हड़ा (e) फूल – फल
(v) केला (c) फल

WBBSE Class 6 Science Solutions Chapter 1 परिवेश एवं जीव जगत् की पारस्परिक निर्भरता

प्रश्न 2.

A B
(i) कपास (a) एफिड
(ii) पाट (b) बगुला/मैना
(iii) सेमल (c) कलाउन मछली
(iv) नारियल (d) बगुला

उत्तर :

A B
(i) कपास (c) कलाउन मछली
(ii) पाट (d) बगुला
(iii) सेमल (a) एफिड
(iv) नारियल (b) बगुला/मैना

प्रश्न 3.

A B
(i) गाय (a) एफिड
(ii) चीटियाँ (b) बगुला/मैना
(iii) गैंडा (c) कलाउन मछली
(iv) समुद्र फूल (d) बगुला

उत्तर :

A B
(i) गाय (d) बगुला
(ii) चीटियाँ (a) एफिड
(iii) गैंडा (b) बगुला/मैना
(iv) समुद्र फूल (c) कलाउन मछली

WBBSE Class 6 Science Solutions Chapter 1 परिवेश एवं जीव जगत् की पारस्परिक निर्भरता

प्रश्न 4.

A B
(i) सुक्ष्म जीवाणु (a) आंत
(ii) फीताकृमि (b) फेफड़ा, हड्डी
(iii) मलेरिया का जीवाणु (c) आंत, पेशी, यकृत
(iv) आमाशय के जीवाणु (d) लाल रक्त कणिका

उत्तर :

A B
(i) सुक्ष्म जीवाणु (b) फेफड़ा, हड्डी
(ii) फीताकृमि (c) आंत, पेशी, यकृत
(iii) मलेरिया का जीवाणु (d) लाल रक्त कणिका
(iv) आमाशय के जीवाणु (a) आंत

 

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 2 भारतीय उपमहादेश के आदि मानव यायावरी जीवन से स्थायी बस्ती की स्थापना

Detailed explanations in West Bengal Board Class 6 History Book Solutions Chapter 2 भारतीय उपमहादेश के आदि मानव यायावरी जीवन से स्थायी बस्ती की स्थापना offer valuable context and analysis.

WBBSE Class 6 Geography Chapter 2 Question Answer – भारतीय उपमहादेश के आदि मानव यायावरी जीवन से स्थायी बस्ती की स्थापना

अति लघु उत्तरीय प्रश्नोत्तर (Very Short Answer Type) : 1 MARK

प्रश्न 1.
किस युग को पाषाण युग कहा जाता है ?
उत्तर :
ऐतिहासिक काल के पूर्व का युग ‘पाषाण युग’ कहलाता है।

प्रश्न 2.
प्रारम्भिक युग के मानव अपना जीवन कैसे व्यतीत करते थे?
उत्तर :
प्रारम्भिक युग के मानव यायावर जीवन व्यतीत करते थे।

प्रश्न 3.
पूर्व पाषाण काल को कितने भागों में बाँटा गया है?
उत्तर :
पूर्व पाषाण काल को दो भागों में बाँटा गया है :-
(i) पाषाण काल तथा (ii) धातु काल

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 2 भारतीय उपमहादेश के आदि मानव यायावरी जीवन से स्थायी बस्ती की स्थापना

प्रश्न 4.
मध्य पाषाण काल की सबसे महान उपलब्धि क्या थी?
उत्तर :
मध्य पाषाण काल की सबसे महान उपलब्धि आग का आविष्कार थी।

प्रश्न 5.
उत्तर पाषाण काल की सबसे बड़ी उपलब्धि क्या थी?
उत्तर : पहिए का आविष्कार।

प्रश्न 6.
हुसंगी घाटी कहाँ पर स्थित है?
उत्तर :
हुसंगी घाटी कर्नाटक के गुलबर्ग जिला के उत्तर-पथ्चिम में स्थित है।

प्रश्न 7.
भीमबेटका कहाँ स्थित है ?
उत्तर :
भीमबेटका मध्यमदेश के भोपाल से कुछ दूरी पर विंध्याचल पर्वत के पास एक निर्जन जंगल में स्थित है।

प्रश्न 8.
किस देश से आदि मानव भारतीय उपमहादेश में आए थे?
उत्तर :
अफ्रीका देश से आदि मानव भारतीय उपमहादेश आए थे।

प्रश्न 9.
भारतीय उपमहादेश में सबसे पुराना पत्थर का अस्त्र कहाँ से मिला है?
उत्तर :
भारतीय उपमहादेश में सबसे पुराने पत्थर का अस्त्र कश्मीर की सोयन घाटी में मिला था।

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 2 भारतीय उपमहादेश के आदि मानव यायावरी जीवन से स्थायी बस्ती की स्थापना

प्रश्न 10.
आदि मानव किस तरह अपना पेट भरते थे?
उत्तर :
आदि मानव शिकार करके और कंदमूल से अपना पेट भरते थे।

बेमेल शब्द छाँटकर लिखो – 1 Mark

(क) भारत, एशिया, यूरोप, अफ्रीका
उत्तर : भारत।

(ख) जल, बर्फ, वर्षा, दावानल
उत्तर : दावानल।

(ग) घोड़ा, बैल, हाथी, हिरण
उत्तर : बैल

(घ) गंगा, यमुना, गोदावरी, नेपाल
उत्तर : नेपाल।

(ङ) कश्मीर, कराँची, पटना, हिमालय
उत्तर : हिमालय।

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 2 भारतीय उपमहादेश के आदि मानव यायावरी जीवन से स्थायी बस्ती की स्थापना

(च) भीमबेटका, अजन्ता, आलतामीर, लाक्सोरा
उत्तर : अजन्ता।

संक्षिप्त प्रश्नोत्तर (Brief Answer Type) : 3 MARKS

प्रश्न 1.
आदिमानव यायावर क्यों थे ?
उत्तर :
आदि मानव पहले भोजन पकाना नहीं जानता था। जंगलों के फल-मूल को एकत्रित कर एवं मछली, पशुओं का शिकार कर अपने भोजन की आवश्यकता को पूरा करता था। भोजन की तलाश में उसे एक स्थान से दूसरे स्थान पर घूमना पड़ता था। इसीलिए आदि मानव का जीवन यायावर की तरह था। आदिमानव की लगभग 40,000 पीढ़ियाँ गायावर के रूप में व्यतीत हुई।

प्रश्न 2.
आग जलाना सीखने के बाद आदिमानव को क्या-क्या सुविधा मिली ?
उत्तर :
आग के आविष्कार से आदि मानव को निम्न सुविधाएँ प्राप्त हुई –

  1. सुरक्षा : गुफा के द्वार के सामने आग जलाकर रखने से हिंसात्मक पशुओं से अपने को सुरक्षित रखने लगा।
  2. भोजन : आदि मानव ने शिकार से प्राप्त मांस को आग पर पकाकर खाना सीख लिया।
  3. ठंड से सुरक्षा : आग जलाकर आदि मानव अपने को ठंड से सुरक्षित रखने लगा।

प्रश्न 3.
आदि मानव ने क्यों समूह बनाया था ? इसके कारण उन्हें क्या लाभ मिला था ?
उत्तर :
आरंभिक काल के मानव का जीवन बड़ा ही कठिन, कष्टकारक एवं भय से भरा हुआ होता था। वह हमेशा भरपूर भोजन तक प्राप्त नहीं कर पाता था। आधे से अधिक आदि मानव 20 वर्ष आयु तक भी नहीं जी पाता था। उनमें से कुछ का शिकार जंगली जानवरो द्वारा हो जाता था।
अत: यही कारण था कि आदि मानव समूह में रहना तथा संगठित हो दल बनाकर भोजन के लिए जीवों का शिकार करना एवं आग को सुरक्षित रखना सीखा।

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 2 भारतीय उपमहादेश के आदि मानव यायावरी जीवन से स्थायी बस्ती की स्थापना

प्रश्न 4.
आधुनिक मानव के पूर्वजों की महत्वपूर्ण प्रजातियों का वर्णन कीजिए।
उत्तर :
आदि मानव कई प्रजातीयों में बँटे हुए थे। मूल रूप से खोपड़ी के आकार के आधार पर प्रजातियों को अलग किया गया था :-
आस्ट्रोलोपिथेकस : यह लगभग 40 लाख से 30 लाख वर्ष पहले के मानव हैं जो किसी तरह से दोनों पैरों के बल खड़ा रहते थे। कठोर बादाम, सूखे फल को चबाकर खाते थे। ये पेड़ की डाल पर धक्का मारते तथा पत्थर फेंकने को कोशिश करते थे।
होमोहाबिलीस : यह लगभग 26 लाख से 17 लाख वर्ष पहले के मानव हैं जो समूह बनाकर रहते थे। ये कंदमूल एवं फल के साथ-साथ कच्चा मांस भी खाते थे।इन्होंने सबसे पहले पत्यर को अस्त्र के रूप में प्रयोग करना सीखे थे।
होमोइरेक्टस : यह लगभग 20 लाख से लेकर 3 लाख 50 हजार वर्ष पहले के मानव हैं जो अपने दोनों पैरों के बल सीधा होकर खड़े रहते थे। ये गुफा में समूह बनाकर रहते थे। इन लोगों ने ही सबसे पहले आग का प्रयोग करना सीखा और नुकीले पत्थरों के हथियार बनाए। अंतिम समय में इन्होंने कुल्हाड़ी बनाई थी।
होमो सापियन्स : इस प्रजाति को ही प्रथम आधुनिक मानव की संज्ञा दी गयी है। आज से 2 लाख 30 हजार वर्ष पहले इस प्रजाति को पहला बुद्धिमान मानव कहा गया। इस प्रजाति के मानव मांस को भूनकर खाते थे तथा पशुओं के चमड़े एवं पेड़ों की छाल से अपने शरीर को ढकना सीखे थे। ये लोग छोटे, नुकीले और धारदार पत्थर का अस्ब बनाना भी सीखे थे।

प्रश्न 5.
विभिन्न पत्थर युग की प्रधान घटनाओं का वर्णन करो।
उत्तर :
पृथ्वी के सभ्य मानव का इतिहास लगभग 6000 वर्ष ईसा पूर्व पुराना है। ऐसे युग को जिसका इतिहास लोगों को मालूम नहीं है उसे पूर्व ऐतिहासिक युग कहा जाता है। इस युग के मनुष्य पत्थरों के औजारों का प्रयोग करते थे। अतः इस युग को पाषाण युग भी कहा जाता है। पुरातत्ववेत्ताओं ने औजारों के प्रयोग के आधार पर इस युग को तीन भागों में बाँटा है :-
प्राचीन पत्थर युग : इस युग का समय-काल ईसा पूर्व 20 लाख वर्ष पहले से लेकर ई० पूर्व 5000 वर्ष तक माना जाता है। इस काल का मनुष्य पत्यर के भद्दे और बेडौल औजारों का प्रयोग करते थे। ये प्राय: नंगे रहते थे और जानवरों का कच्चा माँस, फल-फूल एवं मछलियों को खाकर अपना जीवन व्यतीत करते थे और गुफाओं में रहते थे।

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 2 भारतीय उपमहादेश के आदि मानव यायावरी जीवन से स्थायी बस्ती की स्थापना 1

मध्य पत्थर युग : इस युग का समय-काल ई० पूर्व 75000 से लेकर ई०पूर्व 5000 वर्ष तक माना गया है। इस युग के मानव अच्छे पत्थरों के छोटे हथियारों का प्रयोग करते थे। इस काल के मानव सभ्य हुआ करते थे। ये लोग कृषि तथा पशुपालन करते थे। इसकाल के मानव की सबसे बड़ी उपलब्धि आग का आविष्कार था। उस काल के मानव समूह अपने परिवार के साथ रहते थे।

नवीन पत्थर युग : इस युग की समय सीमा ई० पूर्व 5000 से ई० पूर्व 1000 वर्ष तक मानी गई है। इस युग के मानवों के हथियार सुन्दर, धारदार एवं नुकीले होते थे। मानव एक स्थान पर बस्तियाँ बनाकर स्थायी रूप से रहते थे। इस काल के लोगों ने पहिए का आविष्कार किया, जिसके परिणामस्वरूप मानव जीवन में महान परिवर्तन आ गया। इस काल के मानव आग में भूना हुआ माँस-मछली तथा अनाज खाते थे।

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 2 भारतीय उपमहादेश के आदि मानव यायावरी जीवन से स्थायी बस्ती की स्थापना

प्रश्न 6.
आदि मानव यायावर क्यों था?
उत्तर :
आदि मानव पहले भोजन बनाना नहीं जानता था। जंगलों से कंदमूल-फल का संग्रह कर एवं मछली, पशुओं का शिकार कर के अपने भोजन की आवश्यकताओं को पूरा करता था। भोजन की तलाश में उसे एक स्थान से दूसरे स्थान पर घूमना पड़ता था। इसलिए आदि मानव का जीवन, यायावर की भांति था।

प्रश्न 7.
भीमबेटका कहाँ स्थित है और यह क्यों प्रसिद्ध है?
उत्तर :
मध्य प्रदेश के भोपाल से कुछ दूरी पर विंध्याचल पर्वत के पास ही एक निर्जन जंगल है। वहाँ पर 1967 ई० में भीमबेटका में कुछ गुफाओं की खोज हुई। इन गुफाओं में ही प्राचीन पत्थर युग एवं पाषाण युग से ही आदि मानव रहना शुरू किया था। गुफा की दीवार पर उनके द्वारा बनाए गये चित्र मिले हैं। प्राय: सभी में केवल शिकार का दृश्य, जंगली पशु का चित्र है। इसके आलावा चित्रों में देखा गया है कि मनुष्य अकेले अथवा समूह बनाकर शिकार कर रहे हैं।

प्रश्न 8.
नवजीवीय युग का संक्षिप्त परिचय दो।
उत्तर :
इस युग का प्रथम भाग टर्सियरी युग के नाम तथा अंतिम भाग कोयाटरनरी युग के नाम से जाना जाता है।
टर्सियरी युग : इस युग का समय काल लगभग 7 करोड़ वर्ष पहले माना गया है। इस युग के आरंभ से ही प्राइमेंट वर्गीय प्राणियों का उद्भव होने लगा था। इस युग के कुछ उपयुग भी हैं – पैलियोसिन युग, ईथोसियन युग, अलिगोसिन युग, मायोसिन युग, प्लायोसिन युग इत्यादि।
कोयाटरनरी युग : इस युग के दो भाग हैं :-
(a) प्लेइस्टोसिन युग – इस युग का समय आज से प्राय: 30 लाख वर्ष पहले एवं इसकी समाप्ति आज से प्राय: 10,000 वर्ष पहले हुई थी।
(b) होलोसिन युग – इस युग की शुरुआत आज से 10,000 हजार साल पहले हुई थी। यह युग आज भी जारी है।

प्रश्न 9.
प्राचीन पत्थर युग में मानव के जीवनयापन का उल्लेख करो ।
उत्तर :
प्राचीन पत्थर युग के मानव के जीवनयापन की जानकारी हमें विभिन्न पुरातात्विक प्राप्त अवशेषों से मिलती है, जो निम्न :-
संगठित जीवन : पत्थर युग के आरंभ से ही मानव ने संगठित होकर तथा एकजुट होकर जीवनयापन करना सीख लिया था।
भोजन सामग्री : प्राचीन पत्थर युग के मानव प्रारंभ में भोजन संग्रह करता था। उस समय फल, मूल तथा पक्षियों के अण्डे इत्यादि का संग्रह कर भोजन की आवश्यकता को पूरा करता था।
आश्रय-स्थल : पहले आदि मानव भोजन की खोज में एक स्थान से दूसरे स्थान पर घूमते रहते थे। इसलिए उनका कोई निश्चित आश्रय-स्थल नहीं था। उस समय आदि मानव पहाड़ों की गुफाओं, पेड़ों की डालियों पर निवास किया करते थे।
हथियार : आदि मानव पहले शिकार की आवश्यकता एवं आत्मरक्षा के लिए पेड़ों की डालों तथा पत्थरों को हथियार के रूप में इस्तेमाल करते थे।

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 2 भारतीय उपमहादेश के आदि मानव यायावरी जीवन से स्थायी बस्ती की स्थापना

प्रश्न 10.
हुसंगी घाटी कहाँ और क्यों प्रसिद्ध है।
उत्तर :
हुसंगी घाटी कर्नाटक के गुलबर्ग जिला के उत्तर-पश्चिम में इसामपुर गाँव में स्थित है। उसके पास से ही काथटा हाल्ला खाल (नाला) बहता है। 1983 ई० वहाँ पर हुई मिट्टी की खुदाई में प्राचीन पत्थर युग (पाषाण युग) का हथियार मिला है। यह सभी आज से लगभग पाँच से छ: लाख वर्ष पहले के हैं। इनमें से अधिकांश कुल्हाड़ी चाकू इत्यादि हैं। विद्वानों के मतानुसार हुसंगी में भी पत्थर का हथियार बनता था। नाले का पानी, विभिन्न प्रकार के जंगली जीव-जन्तु एवं पेड़-पौधे इस अंचल में थे। सम्भवतः इसी कारण इस स्थान का चुनाव आदि मानव ने भी किया था।

प्रश्न 11.
विभिन्न प्रकार के ऐप के बारे में क्या जानते हो?
उत्तर :
पृथ्वी पर पाये जाने वाले ऐसे प्राणी जिसका मानव के साथ सदृश्य है उन्हें साधारणतः नर-वानर या ऐप कहा गया है।
विभित्र प्रकार के ऐप : पृथ्वी पर पाये जाने वाले विभिन्न प्रकार के प्राचीन ऐप यानर-वानर लुप्त हो चुके हैं, फिर भी पृथ्वी पर आज भी कुल चार प्रकार के ऐप या नर-वानर का अस्तित्व है – गोरिल्ला, चिम्पांजी, वोरांग-वोटांग एवं गिवन। इसमें गोरिल्ला, चिम्पांजी एवं वोरांग-वोटांग बड़े आकार के ऐप तथा गिवन छोटे आकार के ऐप हैं।

प्रश्न 12.
आग जलाना सीखने के बाद आदि मानव को क्या-क्या सुविधाएँ मिली थीं?
उत्तर :
आग जलाना सीखने के बाद आदि मानव को निम्नलिखित सुविधाएँ मिलीं :-

  1. सुरक्षा : गुफा के द्वार के सामने आग जलाकर रखने से हिंसात्मक पशुओं से अपने को सुरक्षित रखने लगा।
  2. भोजन : आदि मानव शिकार से प्राप्त मांस को आग में पकाकर खाना सीख लिया।
  3. ठंड से सुरक्षा : आग जलाकर आदि मानव अपने को ठंड से सुरक्षित रखने लगा।

प्रश्न 13.
आदि मानव ने समूह क्यों बनाया था? इसके कारण उन्हें क्या लाभ मिला?
उत्तर :
आरंभिक काल में मानव का जीवन बड़ा ही कठिन, कष्टयादक एवं भय से भरा हुआ करता था, वह अकेले हमेशा भरपूर भोजन तक प्राप्त नहीं कर पाता था। उनमें से कुछ का शिकार जंगली जानवरों द्वारा हो जाता था, कुछ रोग एवं भूख से मर जाते थे। अत: आरंभिक मानव अकेला नहीं रह पाते थे। वह भोजन का संग्रह एवं आग को सुरक्षित रखना भी नहीं जानता था। यही कारण था कि आदि मानव समूह में रहना तथा संगठित होकर, समूह बनाकर भोजन की तलाश एवं जीवों का शिकार करना सीखा था।

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 2 भारतीय उपमहादेश के आदि मानव यायावरी जीवन से स्थायी बस्ती की स्थापना

प्रश्न 14.
टैरो-टैरो से तुम क्या समझते हो?
उत्तर :
यूरोप के स्पेन देश में एक पहाड़ी इलाका आलतमिरा है । वहाँ पर कुछ प्राचीन गुफाओं की खोज मिली है। एक पुरातत्ववेता अपनी छोटी लड़की को लेकर गुफा देखने गये थे, अचानक लड़की टैरो-टैरो अर्थात साँढ़-साँढ़ करके चिल्लाने लगी। वहाँ देखा गया कि गुफा के छत के ऊपर एक विशाल साँढ़ का चित्र है। प्रायः 50 से 60 हजार वर्ष पहले के गुफावासी द्वारा बनाए गए चित्र हैं।

प्रश्न 15.
मानव की उत्पत्ति स्थान कहाँ माना जाता है?
उत्तर :
पुरातत्ववेताओं के मतानुसार सभी मानव प्रजातियाँ अफ्रीका में ही उत्पन्न हुई हैं। अफ्रीका में उत्पन्न ये प्रजातियाँ बाद में अन्य प्रदेशों में जाकर बस गई।

प्रश्न 16.
मनुष्य की पहचान कैसे होती थी?
उत्तर :
मनुष्य की पहचान शारीरिक विशिष्टता और बनावट के कारण होती है। लाखों-लाख सालों से विभिन्न परिवर्त्तन के जरिए ही यह वैशिष्ट निर्मित हुआ है। दोनों पैरों पर चलना, हाथ का प्रयोग एवं लम्बी रीढ़ की हड्डी यही सब तो मनुष्य की विशिष्ट पहचान है। इसी गर्दन के ऊपर है एक बड़ा-सा सिर ।
मनुष्य ही एक मात्र ऐसा प्राणी है, जो हाथों की कानी अंगुली को भी कुछ पकड़ने के लिए प्रयोग करते हैं। इसके अलावा मनुष्य के सिर की खोपड़ी बड़े मस्तिष्क को पकड़कर रखती है। लाखों वर्षों के फलस्वरूप ही मनुष्य की शारीरिक बनावट में परिवर्त्तन हुआ था।

प्रश्न 17.
लूसी के बारे में आप क्या जानते हैं?
उत्तर :
अफ्रीका महादेश में यूथोपिया नामक एक जगह है। वहाँ पर 1974 साल में एक आस्ट्रोलोपिथेकाम के कंकाल का कुछ अंश पाया गया है। कंकाल प्राय: 32 लाख वर्ष पहले एक छोटी लड़की का है। इसी कंकाल का नाम लूसी रखा गया था। लूसी प्राणियों की तुलना में काफी बड़ा था। फिर भी धीरे-धीरे आदि मानव का मस्तिष्क और भी बड़ा हो गया।

प्रश्न 18.
बागोड़ के बारे में क्या जानते हो ?
उत्तर :
राजस्थान के बागोड़ में आदि मानव की बस्ती के चिह्न मिले हैं। पहले बागोड़ के निवासी शिकार करके भोजन इकट्ठा करते थे। कुछ-कुछ पशु-पालन का कार्य भी वे जानते थे। बागोड़ में कुछ पशुओं की हड्डियाँ मिली हैं। इससे हीं अनुमान लगाया जाता है कि बाद में गृहपालन की संख्या काफी बढ़ी थी साथ ही शिकार करने वाले पशुओं की संख्या भी धीरे-धीरे कम होती गयी। अर्थात् बागोड़ के लोग धीरे-धीरे गृहपालित (पालतू) पशुओं के महत्व को समझ गए थे। अगर इसे देखा जाय तो बागोड़ में शिकार और पशुपालन दोनों ही होता था।

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 2 भारतीय उपमहादेश के आदि मानव यायावरी जीवन से स्थायी बस्ती की स्थापना

प्रश्न 19.
पत्थर इतिहास की बाते कहते हैं। इससे आप क्या समझते हैं?
उत्तर :
पत्यर इतिहास प्राचीनकाल को जानने का सबसे महत्वपूर्ण साधन है। उपरोक्त कथन दो अर्थों में कहा गया है।
(i) सरल अर्थ :- पत्थर पर खुदे हुए विभिन्न चिह्न, आकृति एवं लिपि आदि से इतिहास की बहुत सारी बातें जो अनजाने हैं या होते हैं जाने जा सकते हैं।
(ii) व्यापक अर्थ :- पुरातात्विक खनन से प्राप्त विभिन्न आकार एवं रंग के पत्थर के टुकड़ों से प्राप्त होती हैं। साथ ही प्राचीनकाल के राजा-महाराजा की शासन व्यवस्था, युद्ध का विवरण, उनकी सांस्कृतिक विचारधारा, धार्मिक विश्वास, सुरक्षा कौशल, भोजन संग्रह आदि की जानकारी भी इतिहास से ही प्राप्त होती है। इसलिए कहा गया है कि “पत्थर इतिहास की बातें कहते हैं।”

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 2 भारतीय उपमहादेश के आदि मानव यायावरी जीवन से स्थायी बस्ती की स्थापना 2

प्रश्न 20.
प्राचीनकाल में आदि मानव भोजन का उत्पादन एवं उसका संग्रह किस प्रकार करते थे?
उत्तर :
प्राचीनकाल में इतिहासकारों के अनुसार आदृमानव प्रथम कृषि करना सीखे तदोपरान्त वे भोजन उत्पादन एवं संग्रह सीखे।
ये कुछ इस प्रकार भोजन उत्पादन एवं संग्रह किया करते थे –
पुरुषों के द्वारा शिकार :- पुरुष आसपास की नदियों से मछली एवं जंगली जानवरों का शिकार करके भोजन संग्रह करते थे।
स्त्रियों द्वारा संग्रह :- स्रियाँ आसपास के जंगल से विभित्र प्रकार के कंदमूल-फल, पक्षियों के अण्डे आदि इकट्ठे करती थीं।
कृषि का आविष्कार एवं उन्नति :- धीरे-धीरे विकास के साथ ये कृषि का कार्य प्रारंभ कर दिए। स्रियाँ वनस्सति की जड़ विभिन्न प्रकार के फल-मूल के बीजों को आसपास के खाली मैदान या भूमि पर फ़ेंक कर कृषि करना सीखा। बाद में मिट्टी जोतने के यंत्र, फसल काटने का हँसुआ संग्रह के लिए बर्तन आदि का आविष्कार भी किए।

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 2 भारतीय उपमहादेश के आदि मानव यायावरी जीवन से स्थायी बस्ती की स्थापना 3

प्रश्न 21.
आदि मानव के दल बनाने के क्या कारण थे एवं एवं इसके क्या परिणाम निकले?
उत्तर :
प्रारंभिक समय में आदि मानव का जीवन बहुत ही कष्टकर, कठिन एवं भय से भरा हुआ था। वह हमेशा भोजन भी प्राप्त नहीं कर पाता था। ज्यादातर आदि मानव 20 वर्ष की अवस्था तक भी नहीं जी पाते ते। उनमें से कुछ को जंगली जानवर खा जाया करते थे एवं कुछ रोग एवं भूख के कारण स्वयं ही मर जाते थे। प्रारंभिक आदि मानव अकेला नहीं रह पाते थे, वे भोजन संग्रह एवं आग को सुरक्षित भी नहीं रखना जानते थे। इन्हीं सभी कारणों से वे एक साथ दल बनाकर रहते थे।
दल में रहने पर वे साथ भोजन, कृषि एवं आग आदि का प्रयोग करना सीख गए एवं उनका जीवन कठिन से थोड़ा सरल हो गया।

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 2 भारतीय उपमहादेश के आदि मानव यायावरी जीवन से स्थायी बस्ती की स्थापना 4

(इस चित्र को देखकर बताओ कि तुम्हे क्या-क्या परिवर्त्तन दिखता है।)

बहुविकल्पीय प्रश्नोत्तर (Multiple Choice Question & Answer) : (1 Mark)

प्रश्न 1.
आदि मानव पहले _________ खाते थे।
(क) बनाया हुआ भोजन
(ख) जला मांस
(ग) कच्चा माँस और कंदमूल फल आदि
(घ) इनमें से कोई नहीं
उत्तर :
(ग) कच्चा मौस और कंदमूल फल आदि।

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 2 भारतीय उपमहादेश के आदि मानव यायावरी जीवन से स्थायी बस्ती की स्थापना

प्रश्न 2.
आदि मानव का पहला हथियार _________ था।
(क) मोटा पत्थर
(ख) नुकीला पत्थर
(ग) पत्थर की कुल्हाड़ी
(घ) पतला पत्थर
उत्तर :
(क) मोटा पत्थर

प्रश्न 3.
आदि मानव का पहला जरूरी आविष्कार _________ था।
(क) धातु
(ख) चक्का
(ग) आग
(घ) इनमें से कोई नहीं
उत्तर :
(ग) आग

प्रश्न 4.
भारत उपमहादेश में सबसे प्राचीन पत्थर का टुकड़ा _________ घटटी में मिला था।
(क) सिन्ध
(ख) लाहौर
(ग) कश्मीर
(घ) गुजरात
उत्तर :
(ग) कश्मीर

प्रश्न 5.
_________ के भोपाल में भीमबेटका गुफा स्थित है ।
(क) हिमाचल प्रदेश
(ख) उत्तर प्रदेश
(ग) मध्य प्रदेश
(घ) आन्द्र प्रदेश
उत्तर :
(ग) मध्य प्रदेश

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 2 भारतीय उपमहादेश के आदि मानव यायावरी जीवन से स्थायी बस्ती की स्थापना

प्रश्न 6.
सबसे पहले आग का प्रयोग _________ ने किया था।
(क) होमो हाविलिस
(ख) होसो इरेक्टस
(ग) होमो सापियन्स
(घ) इनमें से कोई नहीं
उत्तर :
(ग) होमो सापियन्स

प्रश्न 7.
मनुष्य एवं उनके _________ को लेकर ही मानव का इतिहास है।
(क) कार्य
(ख) धर्म
(ग) गौरव
(घ) उपयोग
उत्तर :
(क) कार्य

प्रश्न 8.
बुद्धिमांन मानव _________ थे।
(क) होमो हिविलस
(ख) होसो इरेक्टस
(ग) होमो सापियन्स
(घ) इनमें से कोई नहीं
उत्तर :
(ग) होमो सापियन्स

प्रश्न 9.
_________ का अर्थ बहुत ही पुराना है।
(क) प्राचीन
(ख) नवीन
(ग) आदि
(घ) प्राचीन काल
उत्तर :
(ग) आदि

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 2 भारतीय उपमहादेश के आदि मानव यायावरी जीवन से स्थायी बस्ती की स्थापना

प्रश्न 10.
लाखों _________ तक विभिन्न प्रकार के परिवर्तन के बाद मानव शरीर का निर्माण हुआ।
(क) वर्ष
(ख) महीने
(ग) सप्ताह
(घ) दिन
उत्तर :
(क) वर्ष

रिक्त स्थानों की पूर्ति करो (Fill in the blanks) : (1 Mark)

1. आदि मानव पहले _________ एवं _________ खाया करते थे।
उत्तर : कंदमूल, कच्चा माँस।

2. होमो सापियन्स _________ मानव थे।
उत्तर – बुद्धिमान।

3. होमो सापियन्स सर्वप्रथम _________ का प्रयोग सीखे थे।
उत्तर : आग

4. प्राचीन का अर्थ _________ है।
उत्तर : बहुत पुराना।

5. _________ इतिहास की बातें कहते हैं।
उत्तर : पत्थर ।

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 2 भारतीय उपमहादेश के आदि मानव यायावरी जीवन से स्थायी बस्ती की स्थापना

6. _________ आदि मानव के जीवन का सबसे महत्वपूर्ण आविष्कार था।
उत्तर : आग।

7. 50,000 से 10,000 ई० पूर्व तक का समय _________ माना गया है।
उत्तर : नवीन पत्थर युग।

8. 20 लाख वर्ष पहले से लेकर ई० पूर्व 75000 वर्ष तक का समय _________ युग कहलाता है।
उत्तर : प्राचीन पत्थर।

9. छोटे आकार के ऐप को _________ कहते हैं।
उत्तर : गिवन.।

10. आदि मानव पहले _________ नहीं जानता था।
उत्तर : खाना पकाना।

11. ठंड से सुरक्षा पाने एवं जंगली जन्तु के भय से आदि मानव _________ जलाया करते थे।
उत्तर : आग।

सही मिलान करो Match the following : (1 Mark)

प्रश्न 1.

स्तम्भ (क) स्तम्भ (ख)
i) कृषि कार्य a) मध्य प्रदेश
ii) पशुपालन b) नवीन पत्थर युग
iii) भीमबेटका c) प्राचीन पत्थर युग
iv) हुसंगी d) कर्नाटक

उत्तर :

स्तम्भ (क) स्तम्भ (ख)
i) कृषि कार्य b) नवीन पत्थर युग
ii) पशुपालन c) प्राचीन पत्थर युग
iii) भीमबेटका a) मध्य प्रदेश
iv) हुसंगी d) कर्नाटक

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 2 भारतीय उपमहादेश के आदि मानव यायावरी जीवन से स्थायी बस्ती की स्थापना

प्रश्न 2.

स्तम्भ (क) सम्तम्भ (ख)
i) ऐप a) चिड़ियाखाना
ii) चिम्पांजी b) आदि मानव
iii) होमिनिड c) आग
iv) दावानल d) मानव के परिवार
v) ऐप से मानव e) होमो हैविलिस
vi) सक्षम मानव f) ऑस्ट्रोलोपियेकास
vii) बुद्धिमान मानव g) होमो सापियन्स
viii) अपने पैरों पर खड़ा होने वाले मानव h) होमो इरेक्टस

उत्तर :

स्तम्भ (क) सम्तम्भ (ख)
i) ऐप b) आदि मानव
ii) चिम्पांजी a) चिड़ियाखाना
iii) होमिनिड d) मानव के परिवार
iv) दावानल c) आग
v) ऐप से मानव f) ऑस्ट्रोलोपियेकास
vi) सक्षम मानव e) होमो हैविलिस
vii) बुद्धिमान मानव h) होमो इरेक्टस
viii) अपने पैरों पर खड़ा होने वाले मानव g) होमो सापियन्स

प्रश्न 3.

स्तम्भ (क) स्तम्भ (ख)
i) आदि मानव का पहला हथियार a) ई० पू० 2 लाख वर्ष
ii) ऐप b) आदि मानव
iii) होमो सापियन्स का आविर्भाव c) मोटा पत्थर

उत्तर :

स्तम्भ (क) स्तम्भ (ख)
i) आदि मानव का पहला हथियार a) ई० पू० 2 लाख वर्ष
ii) ऐप b) आदि मानव
iii) होमो सापियन्स का आविर्भाव c) मोटा पत्थर

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 2 भारतीय उपमहादेश के आदि मानव यायावरी जीवन से स्थायी बस्ती की स्थापना

प्रश्न 4.

स्तम्भ (क) स्तम्भ (ख)
i) ताम्र पत्थर युग a) सांड़
ii) सक्षम मानव b) आग
iii) टैरो c) मध्य पत्थर युग
iv) दावानल d) होमो हैविलिस
v) पशु पालन e) ई० पू० 4 हजार वर्ष
vi) बागोड़ f) ई० पू० 10 हजार वर्ष
vii) मध्य पत्थर युग g) होमो इरेक्टस
viii) चिम्पांजी h) चिड़ियाघर
ix) हुन्सभी घाटी i) भारत के राजस्थान

उत्तर :

स्तम्भ (क) स्तम्भ (ख)
i) ताम्र पत्थर युग c) मध्य पत्थर युग
ii) सक्षम मानव d) होमो हैविलिस
iii) टैरो a) सांड़
iv) दावानल b) आग
v) पशु पालन e) ई० पू० 4 हजार वर्ष
vi) बागोड़ g) होमो इरेक्टस
vii) मध्य पत्थर युग f) ई० पू० 10 हजार वर्ष
viii) चिम्पांजी h) चिड़ियाघर
ix) हुन्सभी घाटी i) भारत के राजस्थान

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 1 इतिहास की अवधारणा

Detailed explanations in West Bengal Board Class 6 History Book Solutions Chapter 1 इतिहास की अवधारणा offer valuable context and analysis.

WBBSE Class 6 Geography Chapter 1 Question Answer – इतिहास की अवधारणा

अति लघु उत्तरीय प्रश्नोत्तर (Very Short Answer Type) : 1 MARK

प्रश्न 1.
आर्यावर्त किसे कहते हैं ?
उत्तर :
आर्य उत्तर भारत में निवास करते थे। इसलिए इस प्रदेश को आर्यावर्त कहते हैं।

प्रश्न 2.
दक्षिणात्य किसे कहते हैं ?
उत्तर :
विध्याचल पर्वत के दक्षिण के भाग को दक्षिणात्य कहते हैं।

प्रश्न 3.
जिग-स-पजल क्या है?
उत्तर :
टुकड़ों को ढूंढने और जोड़ने की क्रिया को जिग-स-पजल खेल कहते हैं।

प्रश्न 4.
प्रशस्ति किसे कहा जाता था ?
उत्तर :
अनेक शासकों की वीरता का गुणगान लेख के रूप में खुदाई किया जाता था, उसे प्रशस्ति कहा जाता था।

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 1 इतिहास की अवधारणा

प्रश्न 5.
भारत को उपद्वीप क्यों कहते हैं?
उत्तर :
भारत तीन तरफ से समुद्र से घिरा हुआ है। पथिम में अरब सागर, दक्षिण में हिन्द महासागर एवं दक्षिण-पूर्व में बंगाल की खाड़ी से घिरा हुआ होने के कारण भारत को उपद्वीप कहा जाता है।

प्रश्न 6.
ताप्र युग किसे कहा जाता था?
उत्तर :
जब मनुष्य केवल ताँबा का प्रयोग करता था तो उस युग को ताम्र युग कहा जाता था।

प्रश्न 7.
युग शब्द का प्रयोग कब किया जाता है?
उत्तर :
युग शब्द का प्रयोग हजारों सालों को समझाने के लिए किया जाता था।

प्रश्न 8.
कुषाण सप्राटों में सबसे महान सम्राट कौन था ?
उत्तर :
कुषाण सम्राटों में सबसे महान सम्राट कनिष्क था।

प्रश्न 9.
हर्षचरित के रचयिता कौन हैं?
उत्तर :
हर्षचरित के रचयिता वाणभट्ट हैं।

प्रश्न 10.
भारत के उत्तर में कौन-सा पहाड़ स्थित है ?
उत्तर :
भारत के उत्तर में हिमालय स्थित है।

प्रश्न 11.
प्राचीन भारत के इतिहास के कौन-कौन से उपादान हैं?
उत्तर :
प्राचीन भारत के इतिहास के मुख्य दो उपादान है :
(i) साहित्यिक एवं (ii) पुरातात्विक।

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 1 इतिहास की अवधारणा

प्रश्न 12.
लिपि किसे कहते हैं ?
उत्तर :
पत्थर के पटल, ताम या काँसा पर अंकित प्राचीन विषय को लिपि कहते हैं।

प्रश्न 13.
शक-कुषाणों के इतिहास के बारे में जानकारी किससे मिलती है?
उत्तर :
शक – कुषाणों के इतिहास के बारे में जानकारी मुद्राओं से मिलती है।

प्रश्न 14.
पत्थर के ऊपर खुदे लेखों को क्या कहा जाता है?
उत्तर :
पत्थर के ऊपर खुदे लेखों को शिला (पत्थर) लेख कहा जाता है।

प्रश्न 15.
जैन और बौद्ध धर्म के विभित्र लेखों से हमें क्या जानकारी मिलती है?
उत्तर :
जैन और बौद्ध धर्म के विभिन्न लेखों से हमें प्राचीन इतिहास के बारे में जानकारी मिलती है।

संक्षिप्त प्रश्नोत्तर (Brief Answer Type) : 3 MARKS

प्रश्न 1.
इतिहास किसे कहते हैं ?
उत्तर :
इतिहास वह सामाजिक शास्र है जो हमें भूतकाल के लोगों के राजनीतिक, सामाजिक, आर्थिक, धार्मिक एवं सांस्कृतिक जीवन से परिचित कराता है।

प्रश्न 2.
हमलोग इतिहास क्यों पढ़ते हैं?
उत्तर :
इतिहास पढ़ने के निम्नलिखित कारण हैं :-

  1. अतीत के विभिन्न विषयों को समझने के लिए।
  2. अतीत से शिक्षा लेकर वर्तमान को समझने के लिए।
  3. वर्तमान को समझते हुए भविष्य की रूपरेखा तैयार करने के लिए।

प्रश्न 3.
भौगोलिक स्थिति के अनुसार भारत को कितने भागों में बाँटा गया है?
उत्तर :
भौगोलिक स्थिति के अनुसार भारत को निम्न सात भागों में बाँटा गया है :-

  1. उत्तर हिमालय के पर्वतीय अंचल : उत्तर में हिमालय से संलग्न कश्मीर, कांगड़ा, सिक्किम आदि क्षेत्र आते हैं। एवरेस्ट हिमालय की सबसे ऊँची चोटी है।
  2. विशाल उत्तरी मैदान : गंगा, बह्मपुत्र तथा सिन्धु नदियों के द्वारा लाई गई मिट्टी से निर्मित मैदानी क्षेत्र हैं। इस क्षेत्र के अन्तर्गत पंजाब, दक्षिण बिहार, दक्षिण बंगाल, असम इत्यादि आते हैं।
  3. मध्य भारत के पठारी क्षेत्र : इस क्षेत्र के अन्तर्गत पूर्वी राजस्थान, छोटानागपुर का पठार, बुंदेलखण्ड और मेवाड़ आते हैं।
  4. उत्तर-पूर्व भारत के उच्च भूमि क्षेत्र : इस क्षेत्र के अन्तर्गत मध्य प्रदेश का बाघेरा खण्ड, छत्तीसगढ़, राँची इत्यादि पूर्व भारत एवं असम, मेघालय, त्रिपुरा, अरुणाचल आदि प्रदेश आते हैं।
  5. दक्षिण भारत के पठार : आन्थ्र प्रदेश, महाराष्ट्र, तमिलनाडु, केरल इत्यादि आते हैं।
  6. पश्चिम भारत का मरुस्थल : मध्य भारत के पठारी भाग के पश्चिम में स्थित राजस्थान का जैसलमेर, बीकानेर इत्यादि आते हैं।
  7. तटीय क्षेत्र : इस क्षेत्र के अन्तर्गत दक्षिण के पठारी भाग का पूर्व एवं पश्चिम में विस्तृत तटवर्ती क्षेत्र आते हैं।

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 1 इतिहास की अवधारणा

प्रश्न 4.
भारत के इतिहास पर विन्ध्य पर्वत का प्रभाव लिखिए ।
उत्तर :
विन्ध्य पर्वत भारत को उत्तराखण्ड और दक्षिणखण्ड नामक दो भागों में विभाजित करता है। विन्ध्य पर्वत के कारण ये दोनों भाग एक-दूसरे से हमेशा अलग रहे जिसके परिणामस्वरूप उत्तर में आर्य संस्कृति एवं दक्षिण में द्रविड़ संस्कृति का विकास हुआ।

प्रश्न 5.
भारत के इतिहास पर हिमालय का क्या प्रभाव पड़ा? लिखिए :-
उत्तर :
भारत के इतिहास पर हिमालय का निम्नलिखित प्रभाव पड़ा :-

  1. हिमालय अपनी उच्च श्रृंखला के कारण उत्तर की ओर से होनेवाले आक्रमणों को रोककर भारत की रक्षा करता है।
  2. हिमालय पर्वत साइबेरिया की ओर से आने वाली ठंडी हवाओं को रोककर भारत की जलवायु को गर्म रखता है।
  3. यह समुद्रों से उठने वाली मानसूनी हवाओं को रोकता है जिसे भारत में काफीमात्रा में वर्षा होती है।
  4. हिमालय से अनेक नदियाँ निकलती हैं जो भारत-भूमि को उपजाऊ बनाती हैं।

प्रश्न 6.
भारत को उपमहाद्वीप क्यों कहा जाता है?
उत्तर :
भारत की भौगोलिक परिस्थितियाँ विभिन्न प्रकार की हैं। इसके उत्तर में हिमालय पर्वतमाला, उत्तर-पश्विम में हिन्दुकुश पर्वतमाला, उत्तर-पूर्व में अराकान पर्वतमाला, दक्षिण में हिन्द महासागहर एवं पश्विम में अरब सागर स्थित है। भारत में अनेक जातियाँ तथा उपजातियाँ निवास करती हैं। यहाँ पर विभिन्न धर्मों एव जाति के लोग निवास करते हैं। भारत का भौगोलिक परिवेश भारत को विश्च के अन्य भू-भागों से अलग करता है। भारत भौगोलिक दृष्टि से एक उपमहाद्वीप के समान है, इसलिए इसे उपमहाद्वीप कहा जाता है।

प्रश्न 7.
ऐतिहासिक स्रोत से आप क्या समझते हैं? भारतीय इतिहास के प्रधान स्रोत क्या क्या हैं?
उत्तर :
इतिहास के स्रोत से तात्पर्य प्राचीनकाल के नगरों, मूर्तियों, स्तूपों, खण्डहरों, प्राचीन लिपि, मुद्रा प्रशस्ति पत्र के अवशेषों से है जिनकी सहायता से इतिहासकार भारत के राजनीतिक, सांस्कृतिक एवं आर्थिक जीवन का क्रमबद्ध इतिहास प्रस्तुत कर सके हैं।

प्राचीन भारतीय इतिहास की जानकारी के लिए मुख्यतः तीन स्रोत हैं : –

  1. भारतीय साहित्य
  2. विदेशी यात्रियों का विवरण तथा
  3. पुरातात्विक अवशेष।

प्रश्न 8.
आर्यावर्त और दक्षिणात्य से तुम क्या समझते हो?
उत्तर :
भारतवर्ष के उत्तर और दक्षिण भाग को विध्याचल पर्वत ने बाँटा है। साधारणतः आर्य उत्तर भाग में निवास करते थे। इसलिए इस क्षेत्र को आर्यावर्त कहा जाता था।
विंध्याचल पर्वत के दक्षिण की ओर आर्यो का विशेष कोई प्रभाव नहीं था। इसी दक्षिण भाग को दक्षिणात्य कहा जाता था। विंध्याचल षर्वत से लेकर कन्या कुमारी तक इसका क्षेत्र था। द्रविड़ जातियों का निवास दक्षिणात्य में था।

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 1 इतिहास की अवधारणा

प्रश्न 9.
प्राचीन भारत के इतिहास के उपादानों के विषय में क्या जानते हो ?
उत्तर :
प्राचीन भारत के इतिहास के मुख्य दो उपादान हैं :- (i) साहित्यिक एवं (ii) पुरातात्विक
साहित्यिक उपादन : साहित्यिक उपादान को दो भागों में बाँटा गया है :- पहला देशीय साहित्य तथा दूसरा विदेशी साहित्य। देशीय साहित्य के अन्तर्गत वैदिक साहित्य, पुराण, महाकाव्य, स्मृतिशास्त्र एवं राजाओं के विवरण, जीवन चरित्र इत्यादि हैं। विदेशी साहित्य के अन्तर्गत ग्रीक, रोमन, चीनी, तिब्बतीय एवं अरबी विदेशी लेखकों एवं पर्यटकों के विवरण से प्राप्त साहित्य हैं।

पुरातात्विक उपादान : पुरातात्विक उपादान को चार भागों में बाँटा गया है :-

  1. लिपि
  2. मुद्रा
  3. स्थापत्य
  4. सभ्यता के ध्वंसावशेष।

प्रश्न 10.
इतिहास के पुरातात्विक उपादानों का संक्षिप्त विवरण दो।
उत्तर :

  1. लिपि : पत्थर के पटल, ताम्र या काँसा पर अंकित प्राचीन विषय को लिपि कहते हैं। भारत के महत्त्वपूर्ण लिपि स्कंदगुप्त की गाँव लिपि, कलिंग राज एवं बेल की हाथी गुफा लिपि इत्यादि।
  2. मुद्रा : प्राचीन काल में विभिन्न राजाओं के काल में धातु निर्मित मुद्रा का प्रचलन किया गया था। जैसे- वैदिक युग के निष्क, पाल युग के नारायणी इत्यादि।
  3. स्थापत्य : घर-द्वार, प्रासाद, मन्दिर, विहार स्मृति, स्तंभ इत्यादि स्थापत्य ही मूल्यवान पुरातांत्विक उपादान हैं।
  4. सभ्यता के ध्वंसावशेष : भारत के विभिन्न स्थानों पर मिट्टी की खुदाई से विभिन्न प्राचीन सभ्यता के ध्वंसावशेष पाये गाये हैं जैसै :- चन्द्रकेतु गढ़, तक्षशिला इत्यादि।

प्रश्न 11.
भारत के ऊपर हिमालय के पड़ने वाले प्रभावों का वर्णन करो।
उत्तर :
भारत के ऊपर हिमालय का व्यापक प्रभाव पड़ा है। अत: भारत को हिमालय का वरदान कहा जाता है। हिमालय का प्रभाव निम्नलिखित है :-

  1. सुरक्षाकर्ता के रूप में : हिमालय भारत की उत्तरी सीमा पर खड़ा होकर प्राचीन काल से ही बाहरी आक्रमणकारियों से भारत को सुरक्षा प्रदान करता है।
  2. सभ्यता का विकास : हिमालय पर्वत से निकलने वाली नदियों के किनारे ही बहुत से ऐतिहासिक, जनपद, व्यापारिक केन्द्र और तीर्थ स्थलों का विकास हुआ है।
  3. जलवायु नियंत्रण : हिमालय साइबेरिया क्षेत्र से आने वाली शीतल हवाओं को रोककर भारत को बर्फीला प्रदेश होने बचाता है। दूसरी तरफ दक्षिणी-पक्विमी मौसमी जलवायु को रोककर हिमालय भारत में वर्षा करवाने में भी सहायक है।
  4. आर्थिक समृद्धि : हिमालय के वन-जंगल, खनिज संपदा, पर्यटन केंद्र स्थल भारत की अर्थव्यवस्था को समृद्ध करता है।

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 1 इतिहास की अवधारणा

प्रश्न 12.
आर्य कौन थे ?
उत्तर :
आर्य, हिन्दू जाति में उत्तम वर्ग के लोग थे जो लम्बे, गोरे, लम्बी नाक और बड़े सिर वाले होते थे तथा उत्तर भारत की भाषाएँ बोलते थे। वे बड़े वीर, साहसी और युद्ध प्रिय होते थें।

प्रश्न 13.
द्रविड़ कौन थे ?
उत्तर :
द्रविड़ वर्ग के लोग मझले कद, लम्बे सिर और चौड़ी नाक वाले होते थे। आर्यो से पराजित होने के बाद द्रविड़ों ने दक्षिणी भारत में एक विशिष्ट सभ्यता का विकास किया। द्रविड़ तमिलनाडु, केरल, आंध प्रदेश तथा कर्नाटक में निवास करते थे।

प्रश्न 14.
मुद्रा का क्या महत्व है?
उत्तर :
मुद्रा से प्राचीन भारत की राजनीतिक एवं आर्थिक घटनाओं का विवरण मिलता है। भारत के प्राचीनतम मुद्रा छठी शताब्दी ईसा पूर्व के हैं। उत्खनन के समय यूनानियों, शकों, कुषाणों एवं गुप्तकाल की पर्याप्त मुद्राएँ प्राप्त हुई हैं। मुद्राओं से शासकों के वंश का परिचय तथा उनके समय की धार्मिक एवं आर्थिक स्थिति का पता चलता है।

प्रश्न 15.
धरती के ऊपर का इतिहास एवं धरती के नीचे का इतिहास से क्या समझते हैं ?
उत्तर :
धरती के ऊपर के इतिहास से तात्पर्य बहुत ही प्राचीन साहित्य, स्थापत्य एवं विभिन्न ध्वंसावशेष आदि से है तथा मिट्टी के नीचे दबे पुरातात्विक अवशेषों से प्राप्त जानकारी को धरती के नीचे का इतिहास कहते हैं।

प्रश्न 16.
भारत की भौगोलिक विभिन्नता एवं मौलिक एकता कैसी है? बताओ।
उत्तर :
भारत एक विशाल देश है। इसकी भू-प्रकृति, जलवायु, वनस्पति तथा खनिज पदार्थों में तो विभिन्नता है ही, साथ ही सामाजिक, धार्मिक, आर्थिक आदि विभिन्नता भी यहाँ पर दिखाई देती है, किन्तु यहाँ सभी प्रकार की विषमता होते हुए भी एक मौलिक एकता है।

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 1 इतिहास की अवधारणा

प्रश्न 17.
प्राचीनकाल में नदी केन्द्रित सभ्यता के विकास के क्या कारण थे ?
उत्तर :
प्राचीनकाल में नदी केन्द्रित सभ्यता के विकास के निम्नलिखित कारण थे :-

  1. आवास की सुविधा : नदी के किनारे आवास के आदर्श परिवेश तथा नदी के किनारे की जमीन समतल होने के कारण आवास बनाने की सुविधा थी। इसलिए नदी के किनारे सभ्यता का विकास हुआ।
  2. यातायात की सुविधा : नदी मार्ग से नौका द्वारा एक स्थान से दूसरे स्थान पर यातायात किया जाता था।
  3. पीने के लिए पानी की सुविधा : मानव को नदी किनारे विकसित होने में पीने के लिए पानी की सुविधा ने सहायता प्रदान की।
  4. जीवन-यापन की सुविधा :- पशुपालन, कृषि कार्य एवं व्यापार-वाणिज्य की सुविधा के कारण भी नदी किनारे सभ्यता का विकास हुआ।

प्रश्न 18.
प्राचीन और ऐतिहासिक वस्तु से क्या समझते हो?
उत्तर :
खोजकर पाए हुए वस्तुओं को प्राचीन अथवा ऐतिहासिक वस्तु कहा जाता है। बीते हुए दिनों की इन सब वस्तुओं से बहुत कुछ जानकारी प्राप्त होती है। लेकिन उनमें से प्राय: अंदाज पर निर्भर है, क्योंकिवितत दिनों को हमलोग देखे नहीं हैं। लेकिन बीते दिनों की लिखावट को पढ़ने पर सुविधा होती है। लेकिन वह सब लिखावट पढ़ी नहीं जा सकती है। उस समय की लिखावट भी पूरी तरह मिल नहीं पाती है। उन सब दिनों की बातों को जानने के लिए मिट्टी को खोदकर प्राप्त वस्तु ही काम में आती है। इस तरह घटना के ऊपर और नीचे इतिहास के विभिन्न उपादान बिखरे हुए हैं। पुरातत्व और इतिहासकार वही टुकड़े-टुकड़े उपादानों को ढूँढकर उसे जोड़ देते हैं – इससे ही बीते दिनों की बातों की जानकारी प्राप्त होती है।

प्रश्न 19.
प्राक्क ऐतिहासिक युग किसे कहते हैं ?
उत्तर :
इतिहास कितने पुराने दिनों की बात है, मनुष्य इसे लिख नहीं पाते थे। उस समय की बातों को अनुमान कर लेना पड़ता है। इस समय को प्राक्क ऐतिहासिक युग कहते हैं। प्राक्क का तात्पर्य है पहले का।

प्रश्न 20.
प्राक्क-ऐतिहासिक युग किसे कहा जाता है ?
उत्तर :
पुराने (बीते) समय का लिखावट को पढ़ा नहीं जा सकता है। उसी पुराने समय को प्राय-ऐतिहासिक युग कहा जाता है।

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 1 इतिहास की अवधारणा

प्रश्न 21.
ऐतिहासिक युग किसे कहा जाता है ?
उत्तर :
जिस समय की लिखावट पढ़ी जाय उस युग को ऐतिहासिक युग कहा जाता है।

प्रश्न 22.
आद्य इतिहास का वर्णन कीजिए ।
उत्तर :
आद्य युग में लिपि का आविष्कार तो हुआ था किन्तु वर्तमान समय में भी उस लिपि को पढ़ा नहीं जा सकता है। उस युग के इतिहास को आद्य इतिहास कहा गया है । उस युग का विस्तार ताम्म युग से लेकर लौह युग की सूचना काल तक माना जाता है।

प्रश्न 23.
जादू घर से क्या समझते हो?
उत्तर :
कोलकाता में स्थित इंडियन म्यूजियम जो दूसरे शब्दों में जादू घर के नाम से भी जाना जाता है। अंग्रेजी में जादू घर को (Museum) (संग्रहालय) कहा जाता है। जादू घर में धरती के नीचे से पाए गए पुराने दिनों की विभिन्न प्राचीन वस्तुओं को रखा जाता है। इसमें धरती के ऊपर पाए जाने वाली विभिन्न वस्तुएँ भी रखी जाती है। इसमें लुप्त होती हुई जन्तुओं की हड्डी, राजा-रानियों की पोशाक, अस्त्र-शस्त्र, विभिन्न प्रकार की मूर्ति, चित्र, पुस्तक आदि चीजे रखी जाती हैं।

प्रश्न 24.
नदी मातृक सभ्यता से तुम क्या समझते हो ?
उत्तर :
बहुत पहले से ही मनुष्य नदी के किनारे रहना शुरू किया था। नदी द्वारा ही उनके रोजमर्रा का अधिकांश कार्य चलता था। अधिकांश सभ्यताओं का विकास नदियों के किनारे ही हुआ है । उन सभी सभ्यताओं के लिए नदी माता के समान थी। इसलिए नदी को मातृक सभ्यता कहा जाता है। मातृक का मतलब माता के समान है। वहाँ के लोगों के कार्यों में नदी का महत्व सबसे ज्यादा था।

प्रश्न 25.
प्राचीन भारत का इतिहास लिखने में सिक्कों एवं अभिलेखों के महत्व का उल्लेख कीजिए।
उत्तर :
अभिलेख : प्राचीन इतिहास के सर्वाधिक महत्वपूर्ण एवं विश्वसनीय स्रोत अभिलेख है। ये अभिलेख मुहरों, पत्थरों, मन्दिरों की दीवारों, तामपत्र इत्यादि पर लिखे गये हैं। अनेक अभिलेखों में लिखी गयी तिथियों के आधार पर इनकी प्रमाणिकता मिलती हैं। भारत के प्राचीनतम अभिलेख हड़प्पा सभ्यता के पाये गये हैं। ये मुहरों पर अंकित किये हुए हैं। भारतीय अभिलेखों में अशोक तथा समुद्रगुप्त काल के अभिलेख अत्यन्त ही ख्याति प्राप्त हैं। अशोक के कुल अभिलेखों की संख्या चौदह हैं।

ये अभिलेख अशोक की महानता एवं तात्कालिक धार्मिक व्यवस्था से हमें परिचित कराते हैं। ऐतिहासिक काल के अभिलेखों में कनिष्क, समुद्र गुप्त, हर्षवर्धन बंगाल के पालशास, चोल एवं चालुक्य आदि के अभिलेख महत्वपूर्ण है। अभिलेखों के माध्यम से राजनितिक घटनाओं के अतिरिक्त प्रशासनिक व्यवस्था, भूमि व्यवस्था, धार्मिक, आर्थिक एवं सामाजिक जीवन का परिचय भी प्राप्त होता है।

सिक्के : सिक्कों से भी प्राचीन भारत की राजनीतिक एवं आर्थिक घटनाओं का विवरण मिलता है। भारत के प्राचीनतम सिक्के छठीं शताब्दी ईसा पूर्व के हैं। उत्तनन के समय यूनानियों, शकों, कुषाणों एवं गुप्त काल के पर्याप्त सिक्के प्राप्त हुए हैं। सिक्कों से शासकों के वंश का परिचय तथा उनके समय की धार्मिक एवं आर्थिक स्थिति का पता चलता है। सिक्कों से तात्कालिक वेश-भूष का भी परिचय मिलता है। कुजुल कदफिश द्वितीय के सिक्के उसे ‘शैव’ सिद्ध करते हैं। समुद्रगुप्त के सिक्कों से ज्ञात होता हैं कि वह वीणावादक था। सिक्कों से साम्राज्य की सीमा निर्धारित करने में भी सहायता मिलती हैं। सिक्कों पर अंकित देवी-देवताओं की आकृति से राजाओं की धार्मिक भावनाओं का भी पता चलता है।

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 1 इतिहास की अवधारणा

प्रश्न 26.
प्राचीन भारत के इतिहास के ग्रोत के रूप में दो साहित्यिक स्रोतों के बारे में लिखिए।
उत्तर :
धार्मिक साहित्य : धर्मग्रंथों में चारों वेद ॠु्वेद, सामवेद, यजुर्वेद, अर्थववेद एवं महाकाव्यों में रामायण तथा महाभारत भारतीय इतिहास के सम्बन्ध में जानकारी प्रदान करने में मुख्य भूमिका का निर्वाह करते हैं। रामायण की रचना महर्षि वाल्मीकि तथा महाभारत की रचना वेदव्यास ने की थी। जिनसे तत्कालीन सामाजिक, धार्मिक तथा राजनीतिक जीवन का ज्ञान प्राप्त होता है।

ऐतिहासिक साहित्य : प्राचीन भारतीय इतिहास का ज्ञान हमें ऐतिहासिक साहित्यों के द्वारा भी प्राप्त होता है। बारहवीं शताब्दी में कल्हण की राजतरंगिणी से कश्मीरी इतिहास का परिचय मिलता है। कौटिल्य का अर्थशास्त्र और मेगास्थनीज की ‘इण्डिका’ से मौर्यकालीन व्यवस्था पर प्रकाश डालते हैं। धर्मसूत्र और धर्मशास्त्र विधि व्यवस्था की स्मृति ग्रंथों में महत्वपूर्ण स्थान रखते हैं। कालिदास तथा बाणभट्ट की ऐतिहासिक सामग्रियों और संगम साहित्य से दक्षिण, भारत की संस्कृति की जानकारी प्राप्त होती है। अन्य स्रोतों में पाणिनी की अध्धध्यायी, पतंजलि का महाभाष्य, दाण्डिन का दशकुमार चरित आदि साहित्यिक महाकाव्य भारतीय इतिहास के परिचय में सहायक सिद्ध होते हैं।

प्रश्न 27.
भूगोल के अनुसार प्राचीन भारत के विभिन्न क्षेत्रों का नामकरण करो –
उत्तर :

  1. पर्वत श्रेणी :- भारत के पर्वतीय क्षेत्रों को पर्वत श्रेणी कहा जाता था।
  2. दक्षिणापथ :- दक्षिण भारत के इलाका को दक्षिणापथ कहा जाता था।
  3. प्राच्य :- पूर्वी भारत के इलाका को ‘प्राच्य’ कहते थे।
  4. मध्य क्षेत्र :- यह भाग यमुना नदी से लेकर ब्रह्मपुत्र नदी तक के फैले मैदानी भाग थे।

प्रश्न 28.
भारत के विभित्र नाम एवं उसके नामकरण के कारणों को स्पष्ट करो :-
उत्तर :
भारत के विभिन्न नाम हैं –
‘इंडिया’ इस नाम की उत्पत्ति ‘इंदस’ शब्द से हुई है। रोम एवं ग्रीस के व्यापारी हिन्दुस्तान में बसे ‘हिन्दू’ शब्द का उच्चारण ‘इंदस’ किया करते थे। इसी इंदस शब्द का समय परिवर्तन के साथ इंडिया के रूप में रूपान्तरण हुआ।
हिन्दुस्तान :- व्यापार के उद्देश्य से प्राचीनकाल में फारसी व्यापारी हमारे यहाँ आया करते थे। यहाँ आकर उन लोगों ने इस देश को ‘अल-हिन्द’ पुकारा। इसी ‘अल-हिन्द’ शब्द से हिन्दू एवं हिन्दुस्तान का उद्भव माना जाता है।
आर्यावर्त : प्राचीन काल में आर्यों का यह निवास स्थल हुआ करता था। आर्यों के निवास के कारण ही इसका नाम आर्यावर्त पड़ा।

प्रश्न 29.
चन्द्रवर्ष एवं सौर वर्ष की रीति के विषय में क्या जानते हो ? स्पष्ट करो।
उत्तर :
चंद्रवर्ष रीति :- सुमेर के निवासियों के द्वारा आरंभ की गई यह रीति है। जब चन्द्रमा के पृथ्वी के चारों ओर परावर्तन के आधार पर वर्ष की गणना होती है तो यह रीति “चन्द्रवर्ष” कहलाती है। “इस्लामी हिजरी” चन्द्रवर्ष पर निर्भर करता है।
सौर-वर्षरीति :- यह रीति सर्वप्रथम मिस्न के निवासियों के द्वारा प्रारंभ की गई थी। जब सूर्य के पृथ्वी के चारों ओर परावर्तन के आधार पर वर्ष की गणना होती है तो यह रीति सौर-वर्ष कहलाती है। ईस्वी एवं बंगाब्द सौर-वर्ष पर निर्भर करता है।

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 1 इतिहास की अवधारणा

प्रश्न 30.
साहित्यिक और पुरातात्विक उपादानों के विषय में क्या जानते हो?
उत्तर :
साहित्यिक उपादन :- प्राचीन काल में विभिन्न ग्रंथों में लिखित कहानियाँ ही साहित्यिक उपादन है। इन उपादानों में देशी एवं विदेशी दोनों प्रकार के साहित्य सम्मिलित हैं।
जैसे :- पुराण, महाकाव्य, स्मृतिशास्त्र, विदेशी लेखकों और पर्यटकों से प्राप्त साहित्य आदि।
पुरातात्विक उपादान :- प्राचीन काल के लिपि, मुद्रा या अन्य सोतों से प्राप्त उपादन ही पुरातात्विक उपादान हैं। जैसे :- पत्थर के पटल प्राचीन मंदिर, स्तूप, स्मृति स्तंभ, (तदाशिल) ध्वंशसावशेष आदि।

प्रश्न 31.
लिपि का क्या महत्व है?
उत्तर :
लिपि के महत्व कुछ इस प्रकार हैं –
लिपि के द्वारा प्राचीन काल के राजाओं के नाम, उनके राज्य की सीमा, उनका वंश परिचय, उनके शासनकाल की विभिन्न घटनाएँ आदि की जानकारी मिलती है।
लिपि के माध्यम से प्राचीन काल की कृषि कला एवं व्यापार-वाणिज्य जैसे अर्थनीति की जानकारी मिलती है।
लिपि की सहायता से प्राचीन काल के राजाओं के धार्मिक विश्चास, उनके फून्य देवी-देवता उनके धार्मिक विश्वास की जानकारी आदि भी मिलती है। जैसे – अशोक की लिपि से पता चलता है कि सम्राट अशोक बौद्ध धर्म के अनुयायी थे।
लिपि की सहायता से हमें विभिन्न काल में प्रचलित विभिन्न भाषाओं की जानकारी मिलती है।

प्रश्न 32.
वस्तुगत उपादान एवं लिखित उपादान से क्या समझते हो?
उत्तर :
वस्तुगत उपादान :- प्राचीनकाल के हथियार, यंत्र, अलंकार, कंकाल, चित्रकला, स्थापत्य, समाधि, मुद्रा इत्यादि से प्राप्त जानकारी वस्तुगत उपादान कहलाते हैं।

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 1 इतिहास की अवधारणा 1

लिखित उपादान :- वस्तुगत उपादान के अलावा भी अन्य प्रकार के उपादान भी होते हैं इन्हें लिखित उपादान कहते हैं। ये वस्तुत: लिखित जानकारी होते हैं जिसकी सहातयता से हमें प्राचीनकाल की जानकारी मिलती है। जैसे :- पत्थर या ताम्र पर लिखित राजाओं के सरकारी निर्देश आदि।

यह भी करो :-
इस कैलेण्डर को अच्छी प्रकार देखो और बताओ कि यह किसबंगाब्द किस शकाब्द एवं किस ईसा का कलैलेण्डर है।

बहुविकल्पीय प्रश्नोत्तर (Multiple Choice Question & Answer) : (1 Mark)

प्रश्न 1.
उत्तर भारत में आर्यों की बस्ती को कहा गया है –
(क) हिमवर्त
(ख) आर्यावर्त
(ग) हिमालय
(घ) दक्षिणात्य
उत्तर :
(ख) आर्यावर्त।

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 1 इतिहास की अवधारणा

प्रश्न 2.
वृहत्तम भारत से तात्पर्य एशिया के किस हिस्से से समझा जाता है?
(क) उत्तर – पूर्व
(ख) उत्तर – पथ्चिम
(ग) दक्षिण – पूर्व
(घ) पूरब – पश्चिम
उत्तर :
(ग) दक्षिण-पूर्व

प्रश्न 3.
दक्षिण भारत की गंगा किस नदी को कहा गया है ?
(क) सिंधु नदी
(ख) यमुना नदी
(ग) गोदावरी नदी
(घ) कावेरी नदी
उत्तर :
(ग) गोदावरी नदी।

प्रश्न 4.
दस वर्ष को एक साथ समझने के लिए किस शब्द का व्यवहार किया जाता है?
(क) दशक
(ख) एकक
(ग) शतक
(घ) दशाब्द
उत्तर :
(क) दशक

प्रश्न 5.
भारत को उत्तर एवं दक्षिण भाग में कौन पर्वत विभक्त करता है ?
(क) हिमालय
(ख) विन्ध्याचल
(ग) अरावली
(घ) नीलगिरि
उत्तर :
(ख) विन्ध्याचल।

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 1 इतिहास की अवधारणा

प्रश्न 6.
पाल राजाओं की मुद्रा का क्या नाम है?
(क) निष्क
(ख) कैश
(ग) नारायणी
(घ) इसमें से कोई नहीं
उत्तर :
(ग) नारायणी।

प्रश्न 7.
किस देश को नील नदी का वरदान कहा गया है?
(क) मिस्र
(ख) सुमेर
(ग) ग्रीस
(घ) चीन।
उत्तर :
(क) मिस्र।

प्रश्न 8.
इलाहाबाद प्रशस्ति में किस राजा की कृतियों का वर्णन है?
(क) कनिष्क
(ख) समुद्रगुप्त
(ग) हर्षवर्धन
(घ) चन्द्रगुप्त मौर्य
उत्तर :
(ख) समुद्रगुप्त ।

प्रश्न 9.
दक्षिण अंचल की भाषा को कौन-सी भाषा कहते हैं ?
(क) पालि भाषा
(ख) तमिल भाषा
(ग) आर्य भाषा
(घ) द्रविड़ भाषा
उत्तर :
(घ) द्रविड़ भाषा।

प्रश्न 10.
पंचवेद किसको कहा गया है ?
(क) रामायण
(ख) महाभारत
(ग) पुराण
(घ) उपनिषद्
उत्तर :
(ग) पुराण।

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 1 इतिहास की अवधारणा

प्रश्न 11.
1900 ई० से 1999 ई० को कौन सा सदी कहा गया है?
(क) सत्तरहवीं
(ख) अठारहवीं
(ग) उन्नीसवीं
(घ) बीसवीं
उत्तर :
(घ) बीसवीं

प्रश्न 12.
319-320 ई० के समय किस संवत् की शुरुआत होती है?
(क) हर्ष संवत्
(ख) गुप्त संवत्
(ग) गुप्त संवत्
(घ) शक् संवत्।
उत्तर :
(ख) गुप्त संवत।

रिक्त स्थानों की पूर्ति करो (Fill in the blanks) : (1 Mark)

(क) ‘गोदावरी’ नदी को दक्षिण भारत की _________ कहते हैं।
उत्तर : गंगा

(ख) ‘नारायणी’ _________ राजाओं की मुद्रा का नाम था
उत्तर : पाल

(ग) पुराण को _________ भी कहा गया है।
उत्तर : पंचवेद।

(घ) उन्नीसवीं सदी का समय _________ से _________ तक माना गया है।
उत्तर : 1800 से 1899 ई०।

(ङ) ‘कैशु’ _________ राजाओं की मुद्रा का नाम था।
उत्तर : चोल।

(च) विंध्याचल भारत को _________ दो भागों में बाँटती है।
उत्तर : उत्तर एवं दक्षिण।

(छ) आर्यों की बस्ती को _________ कहते हैं।
उत्तर : आर्यावर्त।

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 1 इतिहास की अवधारणा

(ज) हर्षचरित के लेखक _________ हैं।
उत्तर : वाणभट्ट।

(झ) अर्थशास्त्र के रचनाकार का नाम _________ है।
उत्तर : कौटिल्य।

(अ) _________ कल्हण की एक रचना है।
उत्तर : राजतरंगिणी।

सही मिलान करो Match the following : (1 Mark)

प्रश्न 1.

स्तम्भ (क) स्तम्भ (ख)
i) हिमालय से निकलने वाली पवित्र नदी a) गोदावरी
ii) हिमालय की सबसे ऊँची चोटी b) विन्ध्य पर्वत
iii) दक्षिण भारत की गंगा c) उत्तर भारत
iv) भारत के दो भागों में बांटने वाला पर्वत d) दक्षिण भारत
v) दक्षिणात्य e) एवरेस्ट।
vi) आर्यावर्त f) गंगा

उत्तर :

स्तम्भ (क) स्तम्भ (ख)
i) हिमालय से निकलने वाली पवित्र नदी f) गंगा
ii) हिमालय की सबसे ऊँची चोटी e) एवरेस्ट।
iii) दक्षिण भारत की गंगा a) गोदावरी
iv) भारत के दो भागों में बांटने वाला पर्वत b) विन्ध्य पर्वत
v) दक्षिणात्य d) दक्षिण भारत
vi) आर्यावर्त c) उत्तर भारत

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 1 इतिहास की अवधारणा

प्रश्न 2.

स्तम्भ (क) स्तम्भ (ख)
i) बुद्ध चरित्र a) अश्वघोष
ii) राम चरित b) वाणभट्ट
iii) रामचरितमानस c) संध्याकार नन्दी
iv) हर्ष चरित d) तुलसी दास

उत्तर :

स्तम्भ (क) स्तम्भ (ख)
i) बुद्ध चरित्र a) अश्वघोष
ii) राम चरित c) संध्याकार नन्दी
iii) रामचरितमानस d) तुलसी दास
iv) हर्ष चरित b) वाणभट्ट

प्रश्न 3.

स्तम्भ (क) स्तम्भ (ख)
i) शकाब्द a) 606 ई०
ii) गुप्ताब्द b) ई० पूर्व 58
iii) हर्षाब्द c) 319 ई०
iv) विक्रमाब्द d) 78 ई०

उत्तर :

स्तम्भ (क) स्तम्भ (ख)
i) शकाब्द d) 78 ई०
ii) गुप्ताब्द c) 319 ई०
iii) हर्षाब्द a) 606 ई०
iv) विक्रमाब्द b) ई० पूर्व 58

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 1 इतिहास की अवधारणा

प्रश्न 4.

स्तम्भ (क) स्तम्भ (ख)
i) दक्षिण भारत की गंगा a) दशक
ii) एक साथ दस वर्ष b) गोदावरी
iii) दक्षिण भारत की अंचल-भाषा c) पुराण
iv) पंचवेद d) द्रविड़

उत्तर :

स्तम्भ (क) स्तम्भ (ख)
i) दक्षिण भारत की गंगा b) गोदावरी
ii) एक साथ दस वर्ष a) दशक
iii) दक्षिण भारत की अंचल-भाषा d) द्रविड़
iv) पंचवेद c) पुराण

प्रश्न 5.

स्तम्भ (क) स्तम्भ (ख)
i) नील नदी की देन a) गुप्तवंश
ii) 319 – 320 ई० का समय b) नारायणी
iii) पाल राजा की मुद्रा c) उन्नीसवीं
iv) चोल राजा की मुद्रा d) मिस्त
v) 1800 ई० से 1899 ई० e) कैशु

उत्तर :

स्तम्भ (क) स्तम्भ (ख)
i) नील नदी की देन d) मिस्त
ii) 319 – 320 ई० का समय a) गुप्तवंश
iii) पाल राजा की मुद्रा b) नारायणी
iv) चोल राजा की मुद्रा e) कैशु
v) 1800 ई० से 1899 ई० c) उन्नीसवीं

WBBSE Class 6 History Solutions Chapter 1 इतिहास की अवधारणा

प्रश्न 6.

स्तम्भ (क) स्तम्भ (ख)
i) गीत गोविन्द a) पतंजलि
ii) राजतरंगिणि b) कौटिल्य
iii) रामर्चरित मानस c) जयदेव
iv) अर्थशार्त d) कल्हण
v) हर्ष चरित e) वाणभट्ट
vi) महामात्य f) तुलसीदास

उत्तर :

स्तम्भ (क) स्तम्भ (ख)
i) गीत गोविन्द c) जयदेव
ii) राजतरंगिणि d) कल्हण
iii) रामर्चरित मानस f) तुलसीदास
iv) अर्थशार्त b) कौटिल्य
v) हर्ष चरित e) वाणभट्ट
vi) महामात्य a) पतंजलि

WBBSE Class 6 Geography Solutions Chapter 17 मानचित्र

Detailed explanations in West Bengal Board Class 6 Geography Book Solutions Chapter 17 मानचित्र offer valuable context and analysis.

WBBSE Class 6 Geography Chapter 17 Question Answer – मानचित्र

अति लघु उत्तरीय प्रश्नोत्तर (Very Short Answer Type) : 1 MARK

प्रश्न 1.
पृथ्वी की प्राचीनतम मानचित्र कहाँ और कब बना था?
उत्तर :
2.500 ईसा पूर्व बेबीलोन में।

प्रश्न 2.
किसने सर्वप्रथम मानचित्र की किताब प्रकाशित की थी?
उत्तर :
माकेंटर ने।

प्रश्न 3.
मानचित्र की किताब को किस नाम से जानते हैं?
उत्तर :
एटलस।

प्रश्न 4.
कार्टोग्राफी क्या है?
उत्तर :
मानचित्र बनाने की कला।

WBBSE Class 6 Geography Solutions Chapter 17 मानचित्र

प्रश्न 5.
मानचित्र में जल को दर्शाने के लिए किस रंग का इस्तेमाल होता है?
उत्तर :
नीला रंग का।

प्रश्न 6.
मानचित्र में वन भूमि को दर्शाने के लिए किस रंग का प्रयोग किया जाता है?
उत्तर :
हरा रंग का।

प्रश्न 7.
पोस्ट ऑंफिस का संकेत चिह्न क्या है?
उत्तर :
P.O.

प्रश्न 8.
मानचित्र में पुलिस स्टेशन को दिखाने के लिए किस सांकेतिक चिह्न का प्रयोग होता है?
उत्तर :
P.S.

संक्षिप्त प्रश्नोत्तर (Brief Answer Type) : 3 MARKS

प्रश्न 1.
मानचित्र किसे कहते हैं?
उत्तर :
जिस विधि द्वारा पृथ्वी के किसी क्षेत्र अथवा सम्पूर्ण पृथ्वी का सटिक प्रारूप तैयार किया जा सकता है, उसे मानाचत्र कहा जाता है।

WBBSE Class 6 Geography Solutions Chapter 17 मानचित्र

प्रश्न 2.
प्राकृतिक मानचित्र किसे कहते हैं?
उत्तर :
मार्नचत्र मे प्राकृतिक विषय जैसे- पर्वत, पठार, मैदान, नदी, नाले एवं पेड़-पौधे आदि दर्शाये जाते हैं, उन्हें प्राकृतिक मानचित्र कहते हैं।

बहुविकल्पीय प्रश्नोत्तर (Multiple Choice Question & Answer) : (1 Mark)

प्रश्न 1.
पृथ्वी की प्राचीनतम मानचित्र में बना है-
(a) रोम
(b) बेबीलोन
(c) मिस्र
(d) इनमें से कोई नहीं
उत्तर :
(b) बेबीलोन।

प्रश्न 2.
प्राचीनतम मानचित्र बनाया गया था-
(a) मिट्टी-पत्थर से
(b) कागज से
(c) कपड़ा से
(d) इनमें से कोई नहीं
उत्तर :
(a) मिट्टी-पत्थर से।

WBBSE Class 6 Geography Solutions Chapter 17 मानचित्र

प्रश्न 3.
मानचित्र का नामकरण देवता के नाम पर है-
(a) हरक्युलिस
(b) सिरिस
(c) एटलस
(d) इनमें से कोई नहीं
उत्तर :
(c) एटलस।

प्रश्न 4.
माचित्र की सहायता से पता लगाया जाता है-
(a) स्थल का
(b) नाम का
(c) ग्रहों का
(d) इनमें से कोई नहीं
उत्तर :
(a) स्थल का।

प्रश्न 5.
मैप शब्द की उत्पत्ति हुई-
(a) ग्रीक शब्द से
(b) लैटिन शब्द से
(c) फारसी शब्द से
(d) इनमें से कोई नहीं
उत्तर :
(b) लैटिन शब्द से।

WBBSE Class 6 Geography Solutions Chapter 16 भारत की जनजाति

Detailed explanations in West Bengal Board Class 6 Geography Book Solutions Chapter 16 भारत की जनजाति offer valuable context and analysis.

WBBSE Class 6 Geography Chapter 16 Question Answer – भारत की जनजाति

अति लघु उत्तरीय प्रश्नोत्तर (Very Short Answer Type) : 1 MARK

प्रश्न 1.
हिंमाचल प्रदेश की प्रमुख जनजाति का नाम बताओ।
उत्तर :
किन्नर।

प्रश्न 2.
किन्नरों की मुख्य भाषा क्या है?
उत्तर :
किन्नरी।

प्रश्न 3.
किन्नरों का प्रमुख पेशा क्या है?
उत्तर :
पशुपालन।

WBBSE Class 6 Geography Solutions Chapter 16 भारत की जनजाति

प्रश्न 4.
भारत की सबसे बड़ी जनजाति समुदाय का नाम बताओ।
उत्तर :
गौड़।

प्रश्न 5.
भील जनजाति के लोग मुख्य रूप से कहाँ पाये जाते हैं?
उत्तर :
मध्य प्रदेश में।

प्रश्न 6.
मेघालय की गारो पहाड़ी में पायी जाने वाली प्रमुख जनजाति का नाम बताओ।
उत्तर :
गारो।

प्रश्न 7.
गारो लोगों की मुख्य भाषा क्या है?
उत्तर :
गारो।

प्रश्न 8.
संथाल जनजातियों का प्रमुख निवास स्थान कहाँ है?
उत्तर :
पथ्चिम बंगाल, झारखण्ड, ओडिशा।

WBBSE Class 6 Geography Solutions Chapter 16 भारत की जनजाति

प्रश्न 9.
संथालियों की मुख्य भाषा क्या है?
उत्तर :
संथाली।

प्रश्न 10.
टोड़ा जनजाति के लोग मुख्य रूप से कहाँ पाये जाते हैं?
उत्तर :
नीलागिरि की पहाड़ियों में।

प्रश्न 11.
भारत में कुल कितनी भाषाओं को मान्यता प्राप्त है?
उत्तर :
22

प्रश्न 12.
पश्चिम बंगाल की मुख्य भाषा क्या है?
उत्तर :
बंगला।

प्रश्न 13.
उत्तर प्रदेश की प्रधान भाषा का नाम क्या है?
उत्तर :
हिन्दी।

WBBSE Class 6 Geography Solutions Chapter 16 भारत की जनजाति

प्रश्न 14.
भारत में सबसे अधिक कौन सी भाषा बोलने वाले लोग हैं?
उत्तर :
हिन्दी।

प्रश्न 15.
गुजरात की प्रमुख भाषा क्या है?
उत्तर :
गुजराती।

प्रश्न 16.
भारत में 15 अगस्त को किस रूप में मनाया जाता है?
उत्तर :
ख्वाधीनता दिवस के रूप में।

प्रश्न 17.
2 अक्टूबर किस लिए प्रसिद्ध है?
उत्तर :
गाँधी जयन्ती के लिए।

प्रश्न 18.
26 जनवरी को किस रूप में मनाते हैं?
उत्तर :
गणतंत्र दिवस के रूप में।

WBBSE Class 6 Geography Solutions Chapter 16 भारत की जनजाति

प्रश्न 19.
गुड फ्राइडे को किस धर्म के लोग मनाते हैं?
उत्तर :
ईसाई।

प्रश्न 20.
महावीर जयन्ती किस धर्म का पर्व है?
उत्तर :
जैन धर्म।

प्रश्न 21.
बुद्ध पूर्णिमा किस समुदाय का पर्व है?
उत्तर :
बौद्ध।

प्रश्न 22.
दीपावली और होली किस धर्म के लोगों का प्रमुख त्योहार है?
उत्तर :
हिन्दू।

प्रश्न 23.
भारत के दो प्रमुख राष्ट्रीय पर्वों के नाम बताओ।
उत्तर :
15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस और 26 जनवरी गणतंत्र दिवस।

प्रश्न 24.
भारत में किस धर्म को मनाने वाले लोगों की संख्या सबसे अधिक है?
उत्तर :
हिन्दू धर्म।

WBBSE Class 6 Geography Solutions Chapter 16 भारत की जनजाति

प्रश्न 25.
पश्चिम बंगाल के अलावा भारत के और किस राज्य की प्रधान भाषा बंगला है?
उत्तर :
त्रिपुरा।

संक्षिप्त प्रश्नोत्तर (Brief Answer Type) : 3 MARKS

प्रश्न 1.
भारत के तीन ऐसे राज्यों के नाम बताओ जिसकी भाषा के साथ उस राज्य का नाम मिलता है?
उत्तर :
भारत के ऐसे तीन राज्य हैं – (i) असम, (ii) नगालैण्ड, (iii) मणिपुर।

प्रश्न 2.
भारत के ऐसे तीन राज्यों के नाम लिखो जिनकी भाषा के साथ उस राज्य का नाम नहीं मिलता है।
उत्तर :
भारत के ऐसे तीन राज्य हैं – (i) उत्तर प्रदेश, (ii) राजस्थान, (iii) बिहार।

WBBSE Class 6 Geography Solutions Chapter 16 भारत की जनजाति

प्रश्न 3.
आदिवासी किन्हें कहते हैं?
उत्तर :
ऐसे विशेष सामाजिक जनजातियाँ जो प्राचीन काल से ही शिकार करके पशुपालन करके, कंदमूल संग्रह करके अपना जीवन-यापन करती है उन्हें आदिवासी या जनजाति कहते हैं। इनका जीवन पूर्णतः प्रकृति पर निर्भर रहता है।

बहुविकल्पीय प्रश्नोत्तर (Multiple Choice Question & Answer) : (1 Mark)

प्रश्न 1.
हिमाचल प्रदेश की जनजातियों की प्रमुख भाषा है-
(a) किन्नरी
(b) हिन्दी
(c) भीली
(d) इनमें से कोई नहीं
उत्तर :
(a) किन्नरी।

प्रश्न 2.
गारो जनजाति मुख्य रूप से निवास करते हैं?
(a) आन्ध प्रदेश में
(b) मेघालय की पहाड़ियों में
(c) हिमाचल प्रदेश में
(d) इनमें से कोई नहीं
उत्तर :
(b) मेघालय की पहाड़ियों में।

प्रश्न 3.
भील जनजातियों का मुख्य क्षेत्र है-
(a) उत्तर प्रदेश
(b) उड़ीसा
(c) मध्य प्रदेश
(d) पश्चिम बंगाल
उत्तर :
(c) मध्य प्रदेश।

WBBSE Class 6 Geography Solutions Chapter 16 भारत की जनजाति

प्रश्न 4.
संथाल मुख्य रूप से निवास करते हैं-
(a) पथ्चिम बंगाल में
(b) झारखण्ड में
(c) उत्तर प्रदेश में
(d) इनमें से कोई नहीं
उत्तर :
(a) पश्चिम बंगाल में।

प्रश्न 5.
संथालियों की प्रमुख भाषा है-
(a) डोगरा
(b) संथाली
(c) गारो
(d) इनमें से कोई नहीं
उत्तर :
(b) संथाली।

प्रश्न 6.
जारोपा जनजातियाँ मुख्य रूप से निवास करती हैं-
(a) अण्डमान में
(b) आन्भ्र प्रदेश में
(c) झारखण्ड में
(d) इनमें से कोई नहीं
उत्तर :
(a) अण्डमान में।

रिक्त स्थानों की पूर्ति करो (Fill in the blanks) : (1 Mark)

1. पंजाब की प्रमुख भाषा _________ है।
उत्तर : पंजाबी

2. हिमाचल प्रदेश की प्रमुख भाषा _________ है।
उत्तर : हिन्दी

3. महाराष्ट्र की प्रमुख भाषा _________ है।
उत्तर : मराठी

WBBSE Class 6 Geography Solutions Chapter 16 भारत की जनजाति

4. ओडिसा की प्रमुख भाषा _________ है।
उत्तर : उड़िया

5. आव्र प्रदेश की मुख्य भाषा _________ .है।
उत्तर : तेलुगू

6. पश्चिम बंगाल में मुख्य रूप से लोग _________ बोलते हैं।
उत्तर : बंगला

7. झारखण्ड के लोगों की मुख्य भाषा _________ है।
उत्तर : झारखण्डी।

सही एवं गलत का निर्णय करो : True or False (1 mark)

1. हिन्दुओं का धार्मिक उत्सव दिवाली, होली है।
उत्तर : (सही)

2. सिक्खों का धार्मिक उत्सव गुरुनानक जयंती है।
उत्तर : (सही)

3. हिमाचल प्रदेश की प्रमुख भाषा बंगला है।
उत्तर : (गलत)

WBBSE Class 6 Geography Solutions Chapter 16 भारत की जनजाति

4. भारत विभिन्नताओं का देश है।
उत्तर : (सही)

5. भारत एक धर्मनिरपेक्ष राष्ट्र है।
उत्तर : (सही)

WBBSE Class 6 Geography Solutions Chapter 15 भारत का कृषि कार्य

Detailed explanations in West Bengal Board Class 6 Geography Book Solutions Chapter 15 भारत का कृषि कार्य offer valuable context and analysis.

WBBSE Class 6 Geography Chapter 15 Question Answer – भारत का कृषि कार्य

अति लघु उत्तरीय प्रश्नोत्तर (Very Short Answer Type) : 1 MARK

प्रश्न 1.
देश की कितनी प्रतिशत जनसंख्या कृषि पर निर्भर है?
उत्तर :
65 %

प्रश्न 2.
भारत के दो प्रमुख पेय पदार्थों का नाम बताओ।
उत्तर :
चाय, कहवा।

प्रश्न 3.
भारत में पैदा होने वाली एक रेशेदार फसल का नाम बताओ।
उत्तर :
जूट।

WBBSE Class 6 Geography Solutions Chapter 15 भारत का कृषि कार्य

प्रश्न 4.
पश्चिम बंगाल में चाय का अधिक उत्पादन कहाँ पर होता है?
उत्तर :
दार्जिलिंग में।

प्रश्न 5.
पश्चिम बंगाल में सबसे अधिक किस खाद्य का उत्पादन होता है?
उत्तर :
चावल का।

प्रश्न 6.
भारत में गन्ना का सबसे अधिक उत्पादन कहाँ होता है?
उत्तर :
उत्तर प्रंदी में।

प्रश्न 7.
मालदह जिला किसलिए प्रसिद्ध है?
उत्तर :
आम के लिए।

संक्षिप्त प्रश्नोत्तर (Brief Answer Type) : 3 MARKS

प्रश्न 1.
भारत की प्रमुख खाद्य फसलों के नाम बताओ।
उत्तर :
भारत की प्रमुख खाद्य फसल गेहूँ, चावल, मक्का, ज्वार, बाजरा आदि हैं।

प्रश्न 2.
भारत की प्रमुख रेशेदार फसल कौन-कौन सी हैं?
उत्तर :
धरन में उत्पन्न होने वाली प्रमुख रेशेदार फसल कपास एवं जूट हैं।

WBBSE Class 6 Geography Solutions Chapter 15 भारत का कृषि कार्य

प्रश्न 3.
भारत की प्रमुख पेय फसलों का नाम क्या है?
उत्तर :
भारत का प्रमुख पेय फसल चाय, कहवा आदि हैं।

प्रश्न 4.
झूम कृषि किसे कहते हैं?
उत्तर :
भारत के उत्तर पूर्वांचल के आदिवासी जंगलों को काटकर वहाँ आलू-सब्जी आदि की कृषि करते हैं। कुछ वर्षों के बाद जब मिट्टी की उर्वरता कम होने लगती है तो वे दूसरी जगह चले जाते हैं। इसे झूम खेती कहते हैं।

प्रश्न 5.
सोपानी कृषि किसे कहा जाता है?
उत्तर :
पहाड़ी भागों में मिट्टी के बहाव को रोकने के लिए पहाड़ों की ढाल को काट्कर सोपान या सिढ़ी बना दिया जाता है : इन सोपानों पर की जाने वाली कृषि को सोपानी कृषि कहते हैं।

प्रश्न 6.
हरित क्रान्ति क्या है?
उत्तर :
छठवें दशक के अन्त में भारत की कृषि में विशाल परिवर्तन आया। उच्च फलनशील खाद, सिंचाई, उन्नत मैद्योगिकी के प्रयाग से उत्पादन बहुत बढ़ गया। इसे हरित क्रान्ति के नाम से जाना जाता है।

प्रश्न 7.
सिंचाई किसे कहते हैं?
उत्तर :
वर्षा के अभाव में कृत्रिम साधनों के द्वारा खेतों को जल से सिंचने की प्रणाली को सिंचाई कहते हैं।

विस्तृत उत्तर वालें प्रश्न (Detailed Answer Questions) : 5 MARKS

प्रश्न 1.
गोहूँ की कृषि के लिए आवश्यक भौगोलिक परिस्थितियों का उल्लेख करते हुए प्रमुख गेहूँ उत्पादक जज्यों के नाम बताओ।
उत्तर :
भारत में गेहूं रबी की फसल है। भारत में यह अक्टूबर-नवम्बर के महीने में बोई जाती है तथा मार्च में काटी आती है। गेहू शीताष्ण कटिबन्ध की ऊपज है। इसके लिए बोते समय 10° C तापमान तथा बढ़ते समय 15° C एवं पकते समथ 21° C ताभमान रहना चाहिए। गेहूँ के लिए साधारण वर्षा की आवश्यकता होती है। कम वर्षा होने पर सिंचाई की जवश्यकता हंंती है। गेहूँ के लिए दोमट मिट्टी उपयुक्त है एवं इस मिट्टी में गेहूँ की पैदावार अच्छी होती है।
गेहूँ मुख्य रूप से उतर प्रदेश, पजाब, हरियाणा, मध्य प्रदेश एवं बिहार साथ ही राजस्थान, महाराष्ट्र आदि राज्यों में अधिक होता है:

WBBSE Class 6 Geography Solutions Chapter 15 भारत का कृषि कार्य

प्रश्न 2.
चावल की कृषि के लिए आवश्यक परिस्थितियों का उल्लेख करते हुए प्रमुख चावल उत्पादक राज्यों के नाम बताओ।
उत्तर : चावल उष्षा कटिबन्ध का पौधा है। इसके लिए 16° C से 27° C तापक्रम की आवश्यकता होती है। चावल का पौधा जल प्रेमी है : अतः धान के खेतों में कई दिनों तक जल का जमा होना आवश्यक है। इसकी खेती के लिए 100 से 200 सेमी॰ तक वर्षा की आवश्यकता होती है। कम वर्षा वाले स्थानों में सिंचाई की आवश्यकता पड़ती है। इसके लिए चिकनी एवं फछारी दोमट तथा डेल्टाई मिट्टी उत्तम होती है। धरातल का तल समतल होना चाहिए ताकि पानी उसमें इकट्ठा हो सके झान मिट्टी की उर्वराशक्ति को नष्ट कर देता है। अत: इसके लिए हरी तथा रासायनिक खादों का प्रयोग़ होना चाहिए।

भारत के प्रमुख चावल उत्पादक राज्य पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश, आव्भ प्रदेश, पंजाब, बिहार, तमिलनाडु, मध्य प्रदेश, ओडिशा एवं असम हैं।

बहुविकल्पीय प्रश्नोत्तर (Multiple Choice Question & Answer) : (1 Mark)

प्रश्न 1.
भारत एक देश है-
(a) कृषि प्रधान
(b) उद्योग प्रधान
(c) पर्यटन प्रधान
(d) सभी
उत्तर :
(a) कृषि प्रधान।

प्रश्न 2.
खाद्य फसल को नहीं कहते हैं-
(a) गेहूँ को
(b) चावल को
(c) जूट को
(d) गन्ने को
उत्तर :
(c) जूट को।

प्रश्न 3.
पश्चिम बंगाल की प्रमुख खाद्य फसल है-
(a) गेहूँ
(b) चावल
(c) जूट
(d) गत्रा
उत्तर :
(b) चावल।

WBBSE Class 6 Geography Solutions Chapter 15 भारत का कृषि कार्य

प्रश्न 4.
उत्तर बंगाल की प्रमुख कृषि ऊपज है-
(a) चाय
(b) चावल
(c) कपास
(d) गेहूँ
उत्तर :
(a) चाय।

प्रश्न 5.
रेशेदार फसल नहीं है-
(a) जूट
(b) कपास
(c) रबड़
(d) गन्ना
उत्तर :
(c) रबड़।

प्रश्न 6.
उच्च फलनशील बीज, खाद, सिंचाई की उम्नत प्राविधियों को कहा गया है-
(a) हरित क्रान्ति
(b) सफेद क्रान्ति
(c) कृषि क्रान्ति
(d) इनमें से कोई नहीं
उत्तर :
(a) हरित क्रान्ति।

प्रश्न 7.
दक्षिण भारत का प्रमुख पेय फसल है-
(a) चाय
(b) कॉफी
(c) गन्ना
(d) चावल
उत्तर :
(b) कॉफी।

प्रश्न 8.
कपास के उत्पादन में सबसे आगे है-
(a) उत्तर प्रदेश
(b) बिहार
(c) महाराष्ट्र
(d) दिल्ली
उत्तर :
(c) महाराष्ट्र।

WBBSE Class 6 Geography Solutions Chapter 15 भारत का कृषि कार्य

प्रश्न 9.
जूट के उत्पादन में सबसे आगे है-
(a) असम
(b) बिहार
(c) पः्चिम बंगाल
(d) उत्तर प्रदेश
उत्तर :
(c) पश्चिम बंगाल।

प्रश्न 10.
गेहूँ की कृषि के लिए उपयुक्त मिट्टी है-
(a) दोमट मिट्टी
(b) पीली मिट्टी
(c) लाल मिट्टी
(d) काली मिट्टी
उत्तर :
(a) दोमट मिट्टी।

रिक्त स्थानों की पूर्ति करो (Fill in the blanks) : (1 Mark)

1. भारत एक _________ प्रधान देश है।
उत्तर : कृषि

2. भारत की आधी से अधिक जनसंख्या _________ कार्य से जुड़ी है।
उत्तर : कृषि

3. दार्जिलिंग की चाय अपनी _________ और _________ के लिए जानी जाती है।
उत्तर : सुगन्ध, स्वाद

4. _________ भारत की प्रमुख खाद्य फसल है ।
उत्तर : गेहूँ

WBBSE Class 6 Geography Solutions Chapter 15 भारत का कृषि कार्य

5. पश्चिम बंगाल सर्वाधिक _________ उत्पादन करने वाला राज्य है।
उत्तर : जूट

6. पश्चिम बंगाल की प्रमुख रेशेदार फसल _________ है।
उत्तर : जूट

7. _________ राज्य में वर्ष में दो बार वर्षा होती है।
उत्तर : तमिलनाडु

8. उत्तर प्रदेश में _________ की पैदावार अधिक है।
उत्तर : गत्रा

9. नासिक _________ की खेती के लिए जाना जाता है।
उत्तर : प्याज

10. पश्चिम बंगाल की प्रमुख कृषि ऊपज _________ है।
उत्तर : चावल

सही एवं गलत का निर्णय करो : True or False (1 mark)

1. भारत एक कृषि प्रधान देश है।
उत्तर : (सही)

2. भारत की लगभग 65 % जनसंख्या कृषि कार्य करती है।
उत्तर : (सही)

3. हरित क्रान्ति भारत में उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए शुरू की गयी।
उत्तर : (गलत)

4. हरित क्रान्ति के बाद से भारत में कृषि उत्पादन में काफी वृद्धि हुई है।
उत्तर : (सही)

5. हरित क्रान्ति के पूर्व भारत में कृषि की दशा अच्छी थी।
उत्तर : (गलत)

WBBSE Class 6 Geography Solutions Chapter 15 भारत का कृषि कार्य

6. भारत में कृषि मौसमी वर्षा पर निर्भर रहती है।
उत्तर : (सही)

7. चाय एक पेय पदार्थ है।
उत्तर : (सही)

8. गेहूँ की कृषि वर्षा ऋतु में की जाती है।
(गलत)

9. चावल की कृषि जाड़े में की जाती है।
उत्तर : (गलत)

10. चाय मैदानों में उत्पन्न होता है।
उत्तर : (गलत)

WBBSE Class 6 Geography Solutions Chapter 14 भारत की प्राकृतिक उद्भिज

Detailed explanations in West Bengal Board Class 6 Geography Book Solutions Chapter 14 भारत की प्राकृतिक उद्भिज offer valuable context and analysis.

WBBSE Class 6 Geography Chapter 14 Question Answer – भारत की प्राकृतिक उद्भिज

अति लघु उत्तरीय प्रश्नोत्तर (Very Short Answer Type) : 1 MARK

प्रश्न 1.
भारत में लगभग कितने प्रकार के पेड़ों की प्रजातियाँ पायी जाती हैं?
उत्तर :
लगभग 5000 प्रकार के।

प्रश्न 2.
सुन्दरी का पेड़ किस प्रकार के वन के अन्तर्गत आता है?
उत्तर :
मैंग्रोव वन।

प्रश्न 3.
हिमालय के पर्वतीय क्षेत्र में पाये जाने वाले दो प्रमुख वृक्षों के नाम बताओ।
उत्तर :
पाइन एवं फर।

WBBSE Class 6 Geography Solutions Chapter 14 भारत की प्राकृतिक उद्भिज

प्रश्न 4.
राजस्थान में किस प्रकार के वन पाये जाते हैं?
उत्तर :
नागफनी एवं कँटीली झाड़ियों के ।

प्रश्न 5.
गंगा की समतल भूमि की प्रमुख वनस्पति का नाम बताओ।
उत्तर :
पतझड़ वाले वन।

प्रश्न 6.
आम का वृक्ष किस प्रकार के वन के अन्तर्गत आता है?
उत्तर :
पतझड़ वन।

प्रश्न 7.
विश्व वन दिवस कब मनाया जाता है?
उत्तर :
21 मार्च को।

प्रश्न 8.
तुलसी का एक औषधीय गुण क्या है?
उत्तर :
सर्दी के उपचार में।

प्रश्न 9.
सिनकोना से तैयार होने वाली दवा का क्या नाम है?
उत्तर :
कुनैन।

WBBSE Class 6 Geography Solutions Chapter 14 भारत की प्राकृतिक उद्भिज

प्रश्न 10.
कुनैन का प्रयोग किस रोग के लिए किया जाता है?
उत्तर :
मलेरिया रोग के उपचार में।

प्रश्न 11.
पश्चिम बंगाल में सिनकोना किस क्षेत्र में प्राप्त होता है?
उत्तर :
दार्जिलिंग जिला में।

प्रश्न 12.
कालमेघ का उपयोग क्या है?
उत्तर :
एन्टीबायोटिक में।

प्रश्न 13.
भारत में सर्पगंधा कहाँ अधिक मात्रा में पाया जाता है?
उत्तर :
पश्चिमी घाट पर्वत के आर्द्र भागों में।

प्रश्न 14.
चिरेता भारत में कहाँ मुख्य रूप से पाया जाता है?
उत्तर :
मेघालय और हिमालय के पर्वतीय भाग में।

प्रश्न 15.
भारत के एक प्रमुख राष्ट्रीय उद्यान का नाम बताओ।
उत्तर :
काजीरंगा।

WBBSE Class 6 Geography Solutions Chapter 14 भारत की प्राकृतिक उद्भिज

प्रश्न 16.
पश्चिम बंगाल के एक अभयारण्य का नाम बताओ।
उत्तर :
जलदापाड़ा।

प्रश्न 17.
रॉयल बंगाल टाइगर कहाँ पाये जाते हैं?
उत्तर :
सुन्दरवन में।

प्रश्न 18.
गुजरात के गिरिवन में पाये जाने वाले महत्वपूर्ण वन्य जीव का क्या नाम है?
उत्तर :
बब्बर शेर ।

प्रश्न 19.
पश्चिम बंगाल के प्रमुख चिड़ियाखाना का नाम क्या है?
उत्तर :
अलीपुर चिड़ियाखाना।

प्रश्न 20.
उच्च रक्तचाप रोकने के लिए कौन सा औषधीय पौधा उपयोगी है?
उत्तर :
सर्पगंधा।

प्रश्न 21.
वन्य प्राणी संरक्षण कब प्रारंभ हुआ?
उत्तर :
1942 ई० में।

WBBSE Class 6 Geography Solutions Chapter 14 भारत की प्राकृतिक उद्भिज

प्रश्न 22.
वन्य प्राणी सप्ताह भारत में किस महीने में मनाया जाता है?
उत्तर :
प्रतिवर्ष अक्टूबर के प्रथम सप्ताह में।

प्रश्न 23.
सुन्दरवन क्षेत्र में कौन-कौन से वन्य जीव पाये जाते हैं?
उत्तर :
रॉयल बंगाल टाइगर, घड़ियाल आदि।

प्रश्न 24.
राजस्थान की मरुभूमि में कौन से वन्य जीव पाये जाते हैं?
उत्तर :
ऊँट एवं मोर।

प्रश्न 25.
हिमालय के पर्वतीय क्षेत्र में किस तरह के वन्य जीव पाये जाते हैं?
उत्तर :
हिमालय के पर्वतीय क्षेत्र में भालू, लालपाण्डा एवं चीता पाये जाते हैं।

संक्षिप्त प्रश्नोत्तर (Brief Answer Type) : 3 MARKS

प्रश्न 1.
प्राकृतिक उद्धिज किसे कहते हैं?
उत्तर :
प्राकृतिक या स्वाभाविक उद्धिज उसे कहते हैं जो अपने आप उत्पत्र होते हैं। ये पूर्णतः प्रकृति के ऊषर निर्भर रहते हैं। ये मनुष्य पर निर्भर नहीं होते हैं।

प्रश्न 2.
भारत में पाये जाने वाले प्रमुख उष्ण कटिबंधीय सदाबहार वन के वृक्षों के नाम बताओ।
उत्तर :
रबड़, रोजवुड, आयरनवुड, महोगनी, बाँस, चापलस, गर्जन इत्यादि।

WBBSE Class 6 Geography Solutions Chapter 14 भारत की प्राकृतिक उद्भिज

प्रश्न 3.
भारत में सदाबहार वन कहाँ-कहाँ पाये जाते हैं?
उत्तर :
भारत में सदाबहार वन अण्डमान निकोबार द्वीप समूह, पश्विमी घाट पर्वत की पथ्धिमी ढाल, उत्तर पूर्व राज्य. और पश्विम बंगाल के डुआर्स क्षेत्र में पाये जाते हैं।

प्रश्न 4.
भारत में पाये जाने वाले प्रमुख पतक्षड़ वनों के वृक्षों के नाम बताओ।
उत्तर :
साल, सागौन, चन्दन, आम, जामुन, पपीता, पलाश, महुआ, कटहल आदि पतझड़ वन के ममुख वृक्ष्त हैं।

प्रश्न 5.
भारत में पाये जाने वाले कुछ औषधीय पौधों के नाम बताओ।
उत्तर :
भारत में मुख्य रूप से नीम, सिनकोना, तुलसी, सर्पगंधा, कालमेघ, चिरैता आदि औषधीय पौधे पाये जाते हैं

प्रश्न 6.
प्रवासी पक्षी किसे कहते हैं?
उत्तर :
शीत ॠतु में शीत प्रधान देशों से कुछ पक्षो उड़कर हमारे देश में आते हैं। ग्रीष्म ऋतु आने पर पुन: अप्ने देश लौट जाते हैं। उन्हें प्रवासी पक्षी कहते हैं।

प्रश्न 7.
संरक्षित वन किसे कहते हैं?
उत्तर :
जहाँ शिकार, पशुचारण और दूसरे क्रिया-कलाप वर्जित हों उन वनों को संरक्षित वन कहते हैं। जैसे कोड़ामा संरक्षित वन है।

प्रश्न 8.
अभयारण्य किसे कहते हैं?
उत्तर :
ऐसे वन जहाँ विलुप्त प्रजातियों की रक्षा एवं विकास का विशेष उद्देश्य हो उसे अभयारण्य कहते हैं। जैसे जलदापाड़ा अभयारण्य।

WBBSE Class 6 Geography Solutions Chapter 14 भारत की प्राकृतिक उद्भिज

प्रश्न 9.
सुरक्षित वन किसे कहते हैं?
उत्तर :
ऐसे वन जहाँ पूर्णत: वनों पर आश्रित मनुष्यों को शिकार और पशुपालन का अधिकार दिया गया है, उसे सुरक्षित वन कहते हैं।

प्रश्न 10.
राष्ट्रीय उद्यान किसे कहते हैं?
उत्तर :
जहाँ वन्य प्राणियों के साथ स्वाभाविक उद्धिज और प्राकृतिक सौन्दर्य की रक्षा का भी प्रायास किया जाता है उसे राष्ट्रीय उद्यान कहते हैं। जैसे काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान।

विस्तृत उत्तर वालें प्रश्न (Detailed Answer Questions) : 5 MARKS

प्रश्न 1.
उष्ण कटिबन्धीय सदाबहार वन किसे कहते हैं?
उत्तर :
उष्ण कटिबन्धीय सदाबहार वन में 200 सेमी॰ से ज्यादा वर्षा एवं 25° C से 35° C तापमान रहता है। इस कन के प्रधान वृक्ष रबर, रोजवुड, आयरन वुड, गर्जन, चापलस एवं बाँस इत्यादि पाये जाते हैं। यहाँ के पेड़ों की विशेषताएँ यह है कि पूरे वर्ष पेड़ों के पत्ते हरे रहते हैं। पेड़ की जड़ें मोटी रहती हैं। लकड़ी कठोर एवं भारी होती है। पेड़ों की लम्बाई बहुन अधिक होती है। यह वन अण्डमान निकोबार द्वीप समूह, पश्चिमी घाट के पर्वतों का पश्चिमी ढाल, उत्तर पूर्वाचल के राज्यें में एवं पथिम बंगाल के डुआर्स क्षेत्र में पाया जाता है।

WBBSE Class 6 Geography Solutions Chapter 14 भारत की प्राकृतिक उद्भिज

प्रश्न 2.
पर्वतीय समशीतोष्ण वन के बारे में क्या जानते हो?
उत्तर :
यह वन 1800 मी० से अधिक ऊँचे अंचल में पाये जाते हैं। यहाँ का वार्षिक औसत तापमान 15° C से कम है। यहाँ वृ्टिपात 50 सेमी॰ से 100 सेमी॰ तक होती है। इस प्रकार के वन में प्रधान वृक्ष पाईन, फर, स्पूस, वार्च, सिडार, देवदार, लार्च एवं पैपलर आदि पाये जाते हैं। इस पेड़ की विशेषताएँ यह है कि इसके पत्ते चिकने होते हैं। इप कारण प्ते पर बर्फ नहीं जमने पाते हैं। इन वृक्षों की लम्बाई अधिक होती है। नीचे से ऊपर देखने पर इन पेड़ों की आकृति छाते के समान लगती है। इनकी लकड़ियाँ नरम होती हैं। ये हिमालय के पर्वतीय अंचल के जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखण्ड, सिक्किम, दार्जिलिंग, अरुणाचल प्रदेश, नीलगिरि एवं अन्नामलाई पर्वत के ऊपरी क्षेत्र में पाये जाते हैं।

बहुविकल्पीय प्रश्नोत्तर (Multiple Choice Question & Answer) : (1 Mark)

प्रश्न 1.
भारत में वन क्षेत्र का विस्तार है-
(a) 40 %
(b) 30 %
(c) 21.05 %
(d) 42 %
उत्तर :
(c) 21.05 %

प्रश्न 2.
पर्वतीय प्रदेश का मुख्य वृक्ष है-
(a) देवदार
(b) महुआ
(c) शीशम
(d) सभी
उत्तर :
(a) देवदार।

प्रश्न 3.
ज्वारीय वन पाये जाते हैं-
(a) मैदानी भाग में
(b) डेल्टाई भाग में
(c) पर्वतीय भाग में
(d) इनमें से कोई नहीं
उत्तर :
(b) डेल्टाई भाग में।

WBBSE Class 6 Geography Solutions Chapter 14 भारत की प्राकृतिक उद्भिज

प्रश्न 4.
सदाबहार वन का वृक्ष है-
(a) नीम
(b) शीशम
(c) महोगनी
(d) बरगद
उत्तर :
(c) महोगनी।

प्रश्न 5.
सुन्दरवन क्षेत्र में पाये जाते हैं-
(a) ज्वारीय वन
(b) पतझड़ के वन
(c) सदाबहार वन
(d) इनमें से कोई नहीं
उत्तर :
(a) ज्वारीय वन।

प्रश्न 6.
औषधीय वृक्ष नहीं है-
(a) नीम
(b) आम
(c) तुलसी
(d) बरगद
उत्तर :
(b) आम।

प्रश्न 7.
ज्वारीय वनों में महत्वपूर्ण वृक्ष पाये जाते हैं-
(a) पलाश
(b) सुन्दरी
(c) जामुन
(d) आम
उत्तर :
(b) सुन्दरी।

WBBSE Class 6 Geography Solutions Chapter 14 भारत की प्राकृतिक उद्भिज

प्रश्न 8.
राजस्थान और गुजरात में वृक्षों की अधिकता है-
(a) पीपल की
(b) कटहल की
(c) नागफनी की
(d) आम की
उत्तर :
(c) नागफनी की।

प्रश्न 9.
अधिक वर्षा वाले भागों में वन पाये जाते हैं-
(a) सदाबहार के
(b) मैंग्रोव के
(c) पतझड़ के
(d) इनमें से कोई नहीं
उत्तर :
(a) सदाबहार के।

प्रश्न 10.
औषधीय पौधा है-
(a) कटहल
(b) नीम
(c) आम
(d) बरगद
उत्तर :
(b) नीम।

प्रश्न 11.
विश्व वन दिवस मनाया जाता है-
(a) 21 मार्च को
(b) 25 जून को
(c) 15 जनवरी को
(d) 16 अपैल को
उत्तर :
(a) 21 मार्च को।

रिक्त स्थानों की पूर्ति करो (Fill in the blanks) : (1 Mark)

1. _________ उच्च रक्त चाप को कम करता है।
उत्तर : प्रकाश

2. जलदापाड़ा एक _________ है।
उत्तर : अभयारण्य

WBBSE Class 6 Geography Solutions Chapter 14 भारत की प्राकृतिक उद्भिज

3. _________ मैंग्रोव वन का प्रमुख वृक्ष है।
उत्तर : सुन्दरी

4. नागफनी और खजूर _________ मुख्य रूप से पाये जाते हैं।
उत्तर : राजस्थान में

5. सिनकोना की छाल से _________ तैयार किया जाता है।
उत्तर : कुनैन

6. स्वाभाविक उद्भिज पूर्णत: _________ के ऊपर निर्भर रहते हैं।
उत्तर : प्रकृति

7. भारत में _________ प्रकार के वन पाये जाते हैं।
उत्तर : 5

8. वनों की सहायता से _________ होती है।
उत्तर : वृष्टि

9. वन _________ को क्षय होने से बचाता है।
उत्तर : मिट्टी

WBBSE Class 6 Geography Solutions Chapter 14 भारत की प्राकृतिक उद्भिज

10. वन _________ को नियंत्रित करते हैं।
उत्तर : बाढ़ और सूखा।

सही एवं गलत का निर्णय करो : True or False (1 mark)

1. स्वाभाविक उद्भिज अपनी उत्पत्ति के लिए मनुष्य के ऊपर निर्भर रहते हैं।
उत्तर : (गलत)

2. भारत में प्राय: 5000 किस्म के पेड़ देखे जाते हैं।
उत्तर : (सही)

3. भारत के उद्भिजो को साधारणत: 7 भागों में बाँटा गया है।
उत्तर : (गलत)

4. खजूर एक काँटेदार उद्भिज का उदाहरण है।
उत्तर : (सही)

5. सुन्दरी पेड़ जड़ों से श्वसन करते हैं।
उत्तर : (सही)

6. देवदार के वृक्षों में अपेक्षाकृत लम्बाई कम होती है।
उत्तर : (गलत)

7. सदाबहार पेड़ों में अपेक्षाकृत लम्बाई कम होती है।
उत्तर : (सही)

WBBSE Class 6 Geography Solutions Chapter 14 भारत की प्राकृतिक उद्भिज

8. बाँस के पेड़ों की लम्बाई अधिक होती है।
उत्तर : (सही)

9. कैक्टस पौधों के पत्ते काँटे में परिणत हो जाते हैं।
उत्तर : (सही)

10. पेड़ काटने पर प्रतिबंध नहीं लगाया गया है।
उत्तर : (गलत)